Top

जुनैद हत्याकांड : पुलिस ने मुख्य आरोपी पर रखा दो लाख का इनाम

Rishi

RishiBy Rishi

Published on 3 July 2017 3:08 PM GMT

जुनैद हत्याकांड : पुलिस ने मुख्य आरोपी पर रखा दो लाख का इनाम
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

फरीदाबाद : हरियाणा में चलती ट्रेन में भीड़ द्वारा पीट-पीट कर मार दिए गए जुनैद के मामले में जीआरपी ने सोमवार को जुनैद की हत्या करने वाले मुख्य आरोपी का पता देने पर दो लाख रुपये के इनाम की घोषणा की है। जीआरपी ने बताया कि वे मथुरा को जा रही यात्री रेलगाड़ी में सीट को लेकर पनपे झगड़े में जुनैद पर धारदार हथियार से हमला करने वाले व्यक्ति की तलाश कर रहे हैं।

जीआरपी द्वारा की गई घोषणा में कहा गया है, "मामले में मुख्य आरोपी से संबंधित ऐसी कोई भी जानकारी, जिसके आधार पर जीआरपी उसे गिरफ्तार कर सके, देने वाले व्यक्ति का नाम और उसकी पहचान को गोपनीय रखा जाएगा।"

फरीदाबाद जीआरपी पुलिस थाने में अज्ञात लोगों के खिलाफ हत्या और भारतीय दंड संहिता की विभिन्न धाराओं के तहत मामला दर्ज किया गया है।

जुनैद की हत्या करने और जुनैद तथा उसके चार दोस्तों पर हमला करने के लिए अन्य यात्रियों को उकसाने के आरोप में पांच व्यक्तियों को गिरफ्तार किया गया है।

हरियाणा के बल्लभगढ़ में खांडवली गांव का रहने वाला जुनैद 22 जून को अपने चार दोस्तों के साथ दिल्ली से खरीदारी कर घर लौट रहा था, जब चलती रेलगाड़ी में लोगों के एक समूह ने उन्हें 'गो-मांस खाने वाले' और 'देशद्रोही' कहते हुए उन पर हमला कर दिया था, जिसमें जुनैद की मौत हो गई।

Rishi

Rishi

आशीष शर्मा ऋषि वेब और न्यूज चैनल के मंझे हुए पत्रकार हैं। आशीष को 13 साल का अनुभव है। ऋषि ने टोटल टीवी से अपनी पत्रकारीय पारी की शुरुआत की। इसके बाद वे साधना टीवी, टीवी 100 जैसे टीवी संस्थानों में रहे। इसके बाद वे न्यूज़ पोर्टल पर्दाफाश, द न्यूज़ में स्टेट हेड के पद पर कार्यरत थे। निर्मल बाबा, राधे मां और गोपाल कांडा पर की गई इनकी स्टोरीज ने काफी चर्चा बटोरी। यूपी में बसपा सरकार के दौरान हुए पैकफेड, ओटी घोटाला को ब्रेक कर चुके हैं। अफ़्रीकी खूनी हीरों से जुडी बड़ी खबर भी आम आदमी के सामने लाए हैं। यूपी की जेलों में चलने वाले माफिया गिरोहों पर की गयी उनकी ख़बर को काफी सराहा गया। कापी एडिटिंग और रिपोर्टिंग में दक्ष ऋषि अपनी विशेष शैली के लिए जाने जाते हैं।

Next Story