Top

रात में दर्जनों घरों में घुसी पुलिस, जमकर मचाया तांडव, और फिर...

sudhanshu

sudhanshuBy sudhanshu

Published on 19 Sep 2018 2:31 PM GMT

रात में दर्जनों घरों में घुसी पुलिस, जमकर मचाया तांडव, और फिर...
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

शाहजहांपुर: अभी तक आपने कुदरत के कहर के बारे मे सुना होगा और देखा भी होगा। लेकिन आज हम आपको पुलिस के कहर के बारे मे बताते हैं और दिखाते भी हैं। पुलिस का कहर देखकर आपके रोंगटे खड़े हो जाएंगे। यूपी के शाहजहांपुर में बीती रात आबकारी विभाग की टीम ने कच्ची शराब पकड़ने के लिए छापा मारा तो ग्रामीणों ने विरोध किया। उसके बाद पुलिस ने गांव मे करीब पचास से ज्यादा घरो मे कहर बरपाया। घरो मे घुसकर तोड़फोड़ की गाङियों मे तोङफोङ की इस फिल्म में साथ ही ग्रामिणों को भी जमकर पीटा। कहर बरपाने के बाद पुलिस वापस थाने आ गई। उसके बाद गांव का ये नजारा है जो आप तस्‍वीरों में देख रहे हैं।

आबकारी विभाग ने की थी छापेमारी

घटना थाना आरसी मिशन क्षेत्र के चक परमाली गांव की है। यहां बीती रात कच्ची शराब बनाने वाले घरो पर आबकारी विभाग की टीम ने छापेमारी की थी। छापेमारी के दौरान ग्रामिणों ने छापेमारी का विरोध किया था। जिसके बाद ग्रामिणों ने आबकारी विभाग की टीम पर हमला कर दिया था। अपनी जान बचाकर आबकारी विभाग की टीम वापस गांव से बाहर निकल आई। उसके बाद आबकारी विभाग ने हमले की शिकायत थाने पर दी। उसके बाद शुरू होता है पुलिस का कहर। उसके बाद भारी पुलिस फोर्स गांव पहुचा और जमकर तांडव मचाया। जो सामने आया उसे लाठी-डंडे से पीटा। पुलिस का कहर यहीं नहीं रूका। पुलिस ने करीब पचास से ज्यादा घरों मे घुसकर जमकर तोड़फोड़ की। महिलाओं को भी नही बख्शा। महिलाओं को साथ भी मारपीट के साथ अभद्रता की। बुजुर्गों और युवकों को भी जमकर पीटा गया। पुलिस की पिटाई से युवक का हाथ भी टूट गया। घरों के बाहर खड़ी चार पहिया वाहन और दो पहिया वाहनों मे जमकर तोड़फोड़ की। तांडव मचाने के बाद पुलिस ने कच्ची शराब भी बरामद की है। तांडव मचाने के बाद पुलिस थाने लौट आई। अब पुलिस के कहर से ग्रामीण खौफजदा हैं और आगे भी इसी तरह के कहर की आंशका जता रहे हैं।

रो-रोकर सुनाई दास्‍तान

ग्रामीणों ने खौफनाक मंजर को याद करते हुए रो-रोकर बताया कि उन्‍होंने पुलिस पर हमला नहीं किया था। पुलिस ने आते ही तोड़फोड़ करना शुरू कर दी थी। गाङियों मे तोङफोङ की और घरों को तहस नहस कर दिया। जबकि गांव मे कच्ची शराब नहीं बनाई जाती है। उनका कहना है कि ऐसे पुलिसकर्मियों के खिलाफ कार्यवाही की जाए।

वहीं एसपी एस चिनप्पा का कहना है कि बीती रात पुलिस कच्ची शराब पकड़ने गांव पहुंची थी। जहां ग्रामिणों ने पुलिस पर हमला कर दिया था। उसके बाद पुलिस ने वहां से शराब भी बरामद की है और हमला करने वाले ग्रामीणों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर कार्यवाही की जा रही है।

sudhanshu

sudhanshu

Next Story