Top

बनारस में अवैध पटाखा फैक्ट्री पर पुलिस की रेड, इतने का माल हुआ जब्त

Rishi

RishiBy Rishi

Published on 25 Oct 2018 1:36 PM GMT

बनारस में अवैध पटाखा फैक्ट्री पर पुलिस की रेड, इतने का माल हुआ जब्त
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

वाराणसी : लहरतारा इलाके में हुए हादसे के अगले दिन वाराणसी पुलिस की नींद टूटी। पुलिस ने अवैध पटाखा कारोबारियों के खिलाफ अभियान तेज कर दिया है। पुलिस ने गुरुवार को चौक थाना क्षेत्र के दालमंडी इलाके में ताबड़तोड़ छापेमारी की। इस दौरान पुलिस ने एक फैक्ट्री से 3 लाख रुपए का पटाखा बरामद किया। इसके साथ ही एक शख्स को गिरफ्तार भी किया है।

ये भी देखें :दीपावली 2018: त्योहार पर इसलिए फोड़े जाते हैं पटाखे

ये भी देखें :‘मौत की फैक्ट्री’ का एक आरोपी दबोचा, गुलाल के लाइसेंस पर बन रहे थे पटाखे

ये भी देखें :TIPS: इस दीवाली बच्चों का डर भगाएं दूर, ऐसे जलाएं पटाखें

ये भी देखें : दिल्ली में भूल जाओ पटाखे, सुप्रीम कोर्ट ने बच्चों की याचिका पर लिया फैसला

दालमंडी इलाके में छापेमारी से हड़कंप

चौक पुलिस को इस बात की सूचना मिली की दीपावली में माल खपाने के लिए पटाखों की बड़ी खेप दालमंडी पहुंची है। सूचना पक्की होने पर चौक पुलिस ने दालमंडी निवासी फैसल खान के घर पर छापेमारी की। पुलिस को इस दौरान लगभग तीन लाख रुपए का माल बरामद हुआ। सीओ दशाश्वमेध अभिनव यादव के मुताबिक सुप्रीम कोर्ट की सख्ती और लहरतारा में हुए हादसे के बाद से अवैध पटाखा कारोबारियों के खिलाफ अभियान चलाने का निर्देश प्राप्त हुआ है। इसी के आधार पर कार्रवाई की गई।

अवैध पटाखा कारोबार की सूचना देने पर 11 हजार का ईनाम

जिलाधिकारी सुरेंद्र सिंह ने भी सभी मजिस्ट्रेट को क्षेत्रवार अभियान चलाने का निर्देश दिया है। उन्होंने अवैध पटाखा कारोबार की सूचना देने वाले को 11 हजार रुपये का ईनाम देने की घोषण की है। सूचना देने वाले का नाम सार्वजनिक नहीं किया जाएगा। साथ ही पूरी गोपनियता बरती जाएगी। इस बार दीपावली पर जिले में 18 निर्धारित जगहों पर ही पटाखा बिक्री की अनुमति दी गई है।

अवैध पटाखों का गढ़ है दालमंडी

बनारस की बीचोबीच बसा दालमंडी इलाका पटाखों के अवैध कारोबार का सबसे बड़ा गढ़ है। दालमंडी की गलियों में दिपावली के पहले हर साल पटाखे की दुकानें सजती है। एक अनुमान के मुताबिक हर साल यहां पर करोड़ों रुपए का कारोबार होता है। दालमंडी से ही पूर्वांचल के अलग-अलग जिलों में पटाखों की सप्लाई होती है। यही कारण है कि दीपावली के पहले यहां पर माल डंप होने लगता है। अवैध कारोबारियों को स्थानीय पुलिसवालों का वरदहस्त हासिल होता है।

Rishi

Rishi

आशीष शर्मा ऋषि वेब और न्यूज चैनल के मंझे हुए पत्रकार हैं। आशीष को 13 साल का अनुभव है। ऋषि ने टोटल टीवी से अपनी पत्रकारीय पारी की शुरुआत की। इसके बाद वे साधना टीवी, टीवी 100 जैसे टीवी संस्थानों में रहे। इसके बाद वे न्यूज़ पोर्टल पर्दाफाश, द न्यूज़ में स्टेट हेड के पद पर कार्यरत थे। निर्मल बाबा, राधे मां और गोपाल कांडा पर की गई इनकी स्टोरीज ने काफी चर्चा बटोरी। यूपी में बसपा सरकार के दौरान हुए पैकफेड, ओटी घोटाला को ब्रेक कर चुके हैं। अफ़्रीकी खूनी हीरों से जुडी बड़ी खबर भी आम आदमी के सामने लाए हैं। यूपी की जेलों में चलने वाले माफिया गिरोहों पर की गयी उनकी ख़बर को काफी सराहा गया। कापी एडिटिंग और रिपोर्टिंग में दक्ष ऋषि अपनी विशेष शैली के लिए जाने जाते हैं।

Next Story