Top

यूपी : गौरक्षा के नाम पर क्रूरता, गायों की लाशों का राज जानने में जुटा प्रशासन

Rishi

RishiBy Rishi

Published on 1 April 2017 4:26 PM GMT

यूपी : गौरक्षा के नाम पर क्रूरता, गायों की लाशों का राज जानने में जुटा प्रशासन
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

बहराइच : एसीएमओ डा. जेएन मिश्रा के बुबकापुर गांव स्थित फार्म हाउस में गायों की लाशों को दफनाये जाने का सच जानने के लिए प्रशासन की पूरी टीम देर शाम तक जुटी हुई है। अभीतक लगभग 38 कब्रें खुदवाई जा चुकी हैं। पशु चिकित्सकों की टीम पोस्टमार्टम कर रही है। इस दौरान एसडीएम और अतिरिक्त मजिस्ट्रेट निगरानी कर रहे हैं। अधिकारियों के मुताबिक विसरा रिपोर्ट आने के बाद ही मौत के कारणों का खुलासा होगा।

ये भी देखें : उसने रात में कोठी पर जाने से किया इंकार, तो कर दिया ट्रांसफर…अब योगी से लगाई गुहार

गौरतलब है कि एसीएमओ डा. जेएन मिश्रा के फखरपुर थाना अंतर्गत ग्राम बुबकापुर स्थित फार्म हाउस पर हिंदू युवा वाहिनी के कार्यकर्ताओं ने गायों को क्रूरता से मारकर दफनाए जाने की शिकायत की थी। डीएम अजयदीप सिंह ने शिकायत मिलने के बाद शुक्रवार को एएसपी दिनेश त्रिपाठी व एसडीएम कैसरगंज अमिताभ यादव की अगुवाई में टीम गठित कर छापेमारी के निर्देश दिए थे।

छापेमारी के दौरान गायों को दफनाए जाने का मामला सामने आया था। इसकी पुष्टि होने के बाद शनिवार सुबह अतिरिक्त मजिस्ट्रेट पंकज कुमार, एसडीएम कैसरगंज अमिताभ यादव, तहसीलदार कंचन कुमार की अगुवाई में प्रशासनिक अमला फार्म हाउस पहुंचा। फार्म हाउस के अलग-अलग हिस्सों में दफनायी गईं गायों की लाशों को बाहर निकाला गया। देर शाम तक लगभग 38 गायों की लाशें बरामद हो चुकी हैं। मुख्य पशु चिकित्साधिकारी डॉ. बलवंत सिंह की अगुवाई में पशु चिकित्सकों की पूरी टीम शव का पोस्टमार्टम करने में जुटी रही।

बिसरा रिपोर्ट का इंतजार

मुख्य पशुचिकित्साधिकारी डॉ. बलवंत सिंह ने बताया कि बरामद हुई गायों की लाशों का बिसरा लखनऊ भेजा गया है। प्रयोगशाला की रिपोर्ट आने के बाद गायों के अंगों या मूत्र आदि के दवा निर्माण में प्रयोग की सही स्थिति सामने आ सकेगी।

तो ऐसे खुला मामला

हिंदू युवा वाहिनी के ब्लाक संयोजक सुधाकर दो दिन पूर्व एसीएमओ के फार्म हाउस गए थे। यहां पर मौजूद एक कर्मचारी ने बातों-बातों में गायों को दफनाए जाने का खुलासा कर दिया। जिसके बाद संभाग प्रभारी राजदेव सिंह ने डीएम से शिकायत की। जिस पर पूरे मामले का खुलासा हो सका।

टीमों की रिपोर्ट मिलने पर होगी कार्रवाई

अजयदीप सिंह, डीएम बहराइच ने बताया कि एसीएमओ डॉ. जेएन मिश्रा के फार्म हाउस पर हो रही छापेमारी में प्रशासनिक टीमों को लगाया गया है। आयुर्वेदिक और औषधि विभाग के साथ स्वास्थ्य महकमे की टीम जांच में लगी हुई है। पशु चिकित्सा विभाग की टीम भी शव का पोस्टमार्टम कर रही है। पूरी रिपोर्ट मिलने के बाद कार्रवाई की जाएगी।

Rishi

Rishi

आशीष शर्मा ऋषि वेब और न्यूज चैनल के मंझे हुए पत्रकार हैं। आशीष को 13 साल का अनुभव है। ऋषि ने टोटल टीवी से अपनी पत्रकारीय पारी की शुरुआत की। इसके बाद वे साधना टीवी, टीवी 100 जैसे टीवी संस्थानों में रहे। इसके बाद वे न्यूज़ पोर्टल पर्दाफाश, द न्यूज़ में स्टेट हेड के पद पर कार्यरत थे। निर्मल बाबा, राधे मां और गोपाल कांडा पर की गई इनकी स्टोरीज ने काफी चर्चा बटोरी। यूपी में बसपा सरकार के दौरान हुए पैकफेड, ओटी घोटाला को ब्रेक कर चुके हैं। अफ़्रीकी खूनी हीरों से जुडी बड़ी खबर भी आम आदमी के सामने लाए हैं। यूपी की जेलों में चलने वाले माफिया गिरोहों पर की गयी उनकी ख़बर को काफी सराहा गया। कापी एडिटिंग और रिपोर्टिंग में दक्ष ऋषि अपनी विशेष शैली के लिए जाने जाते हैं।

Next Story