Top

पत्नी का सावंला रंग नहीं था पसंद, तीन तलाक दे अब खोज रहा गोरे रंग वाली

Rishi

RishiBy Rishi

Published on 5 Jan 2018 9:41 AM GMT

पत्नी का सावंला रंग नहीं था पसंद, तीन तलाक दे अब खोज रहा गोरे रंग वाली
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

रामपुर : यूपी के रामपुर की एक विवाहिता को उसके शौहर ने उसका रंग सावंला होने का ताना देते हुए एक बार में तीन तलाक देकर उसे घर से निकाल दिया। साथ ही उसकी दो महीने की बच्ची को भी छीन लिया। शौहर व उसके परिवार द्वारा रूपयों की मांग और आए दिन की जा रही मारपीट और तलाक देने की शिकायत पर पुलिस ने रिपोर्ट तो दर्ज कर ली लेकिन आरोपी खुलेआम घूम रहे हैं। अमरीन अपने पिता के साथ अफसरान के चक्कर काट रही है।

मामला जिला रामपुर के थाना गंज क्षेत्र के ग्राम हजरतपुर का है। यहां रहने वाली अमरीन का उसके पिता ने अपनी हैसियत के मुताबिक एक साल पहले निकाह इमरान नाम के युवक के साथ किया था। थाना गंज के खजान खां के रहने वाले और पेशे से वेल्डर इमरान व उसके परिवार ने शादी के चौथे दिन से ही अमरीन का जीना हराम कर दिया। उसको ताने देने और उसके साथ मारपीट करते। सब कुछ सहन करते हुए अमरीन अपने पिता की इज्जत को रख रही थी। इमरान ने एक माह पहले शराफत की हदें तोड़ दीं और उसे मारपीट कर एक बार में तीन तलाक देकर घर से बाहर निकाल दिया। उसके दो महीने के कलेजे के टुकड़े को भी छीन लिया।

इमरान का आरोप है कि वह काली है और वह किसी गोरी लड़की से शादी करेगा। शादी के शुरूआत से ही कई बार सभ्रांत लोगोें ने सुलहनामा करा दिया। इमरान की दहेज को लेकर लालच की मांग दिन ब दिन जोर ही पकड़ती गई। अब अमरीन को वापिस लेने के लिए पहले निकाह और 20 हजार रूपये की मांग कर रहा है। दो जून की रोटी मुश्किल से कमाने वाले परिवार से ताल्लुक रखनी वाली अमरीन अब अपने पिता के साथ जिला अफसरान व पुलिस अधिकारियों के चक्कर काट रही है। लेकिन उसकी बात सुनने वाला कोई नहीं।

हालांकि पुलिस ने उसके मामले को दर्ज तो कर लिया है। आरोपी खुलेआम घूम रहे हैं। उसकी बच्ची को भी नहीं दे रहे। घर में चूल्हें पर खाना बना रही अमरीन ने बताया कि वह अपनी मासूम बच्ची को भी देखने से तरस रही है उसका कोई पुरसाने हाल नहीं है।

Rishi

Rishi

आशीष शर्मा ऋषि वेब और न्यूज चैनल के मंझे हुए पत्रकार हैं। आशीष को 13 साल का अनुभव है। ऋषि ने टोटल टीवी से अपनी पत्रकारीय पारी की शुरुआत की। इसके बाद वे साधना टीवी, टीवी 100 जैसे टीवी संस्थानों में रहे। इसके बाद वे न्यूज़ पोर्टल पर्दाफाश, द न्यूज़ में स्टेट हेड के पद पर कार्यरत थे। निर्मल बाबा, राधे मां और गोपाल कांडा पर की गई इनकी स्टोरीज ने काफी चर्चा बटोरी। यूपी में बसपा सरकार के दौरान हुए पैकफेड, ओटी घोटाला को ब्रेक कर चुके हैं। अफ़्रीकी खूनी हीरों से जुडी बड़ी खबर भी आम आदमी के सामने लाए हैं। यूपी की जेलों में चलने वाले माफिया गिरोहों पर की गयी उनकी ख़बर को काफी सराहा गया। कापी एडिटिंग और रिपोर्टिंग में दक्ष ऋषि अपनी विशेष शैली के लिए जाने जाते हैं।

Next Story