ट्रिपल तलाक: ससुर- नंदोई ने बनाया हवस का शिकार, पति ने तोड़ा नाता

मेरठ: जिले में ट्रिपल तलाक का एक सनसनीखेज मामला सामने आया है। एक महिला ने पुलिस में लिखित शिकायत देते हुए आरोप लगाया है कि उसके ससुर और ननदोई ने उसके साथ जबरन रेप किया। यह बात जब उसने अपने पति को बतायी तो पति ने उसे ट्रिपल तलाक दे दिया। महिला की शिकायत पर पुलिस ने केस दर्ज कर पूरे मामले की जांच पड़ताल शुरू कर दी है।

ये भी पढें:पकड़ा गया फर्जी डिप्‍टी सीएम, पुलिस वालों से कहा- 7 दिन पहले मिला पद

तीन साल पहले हुई थी शादी

पीड़िता ने बताया कि वह मेरठ के खरखौदा की रहने वाली है। करीब तीन साल पहले उसकी शादी हापुड़ जिले के धौलाना निवासी युवक के साथ हुई थी। आरोप है कि शादी के बाद से ही उसके ससुराल वाले उसका उत्पीड़न कर रहे थे। दहेज की डिमांड पूरी न होने पर ससुराल वाले उसके साथ मारपीट करते थे। पीड़िता का कहना है कि उसके परिजनों ने शादी में करीब 8 लाख रूपये खर्च किये थे। लेकिन उसकी ससुराल वाले कार और दो लाख रूपये नकद की लगातार डिमांड कर रहे थे।

ये भी पढें: मानसून सत्र में बोले राजनाथ- लिंचिंग की घटनाओं के लिए सोशल मीडिया जिम्मेदार

पहले ससुर ने किया दुष्‍कर्म

पीड़िता का कहना है कि उसका पति 12 जुलाई को गुरूग्राम काम के सिलसिले में गया हुआ था। उसके पति के जाने के बाद उसके ससुर ने जबरन उसके साथ रेप किया। उसने विरोध किया तो उसे मारने की धमकी दी गई। पीड़िता ने अपनी शिकायत में बताया कि 14 जुलाई को सास ने उसके ननदोई को घर बुलाया और मुझे एक कमरे में बंद कर दिया। उसके बाद उसके ननदोई ने उसके साथ जबरन रेप किया। पीड़िता का कहना है कि उसने ननदोई के सामने हाथ जोड़े और कहा कि वह तीन महीने की गर्भवती है, लेकिन उसकी नहीं सुनी और उसके साथ जबरन रेप किया गया।

पति ने तोड़ा नाता

पीड़िता का कहना है कि जब उसका पति वापस घर आया तो उसने ससुर और ननदोई द्वारा उसके साथ की गई हरकत के बारे में बताया। आरोप है कि पति को बताने पर सास ने उसके साथ मारपीट की। सास, ससुर और ननदोई तीनों ने मिलकर उसके पति पर तलाक देने का दबाव बनाया, जिस पर उसके पति ने उसे वहीं पर तीन बार तलाक कहकर तलाक दे दिया।

थाना प्रभारी खरखौदा राजेंद्र त्यागी ने बताया कि पीड़िता की तहरीर के आधार पर संबंधित धाराओं में केस दर्ज कर लिया गया है। तीन तलाक के बारे में उच्चाधिकारियों को अवगत कराकर सलाह ली जा रही है।

इस संबंध में एसएसपी राजेश पांडेय का कहना है कि आरोपियों के खिलाफ केस दर्ज कर लिया गया है, आरोपियों की गिरफ्तारी के प्रयास किये जा रहे हैं। पूरे मामले की निष्पक्ष जांच कर कार्रवाई करने के निर्देश दिये गए हैं।