Top

नाबालिग छात्रा से  दुराचार के आरोपी शिक्षक को मिली सात साल की कैद

Rishi

RishiBy Rishi

Published on 19 Nov 2018 2:58 PM GMT

नाबालिग छात्रा से  दुराचार के आरोपी शिक्षक को मिली सात साल की कैद
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

लखनऊ : एससी/एसटी एक्ट की विशेष जज बबिता रानी ने कक्षा आठ की एक नाबालिग छात्रा से दुराचार करने के मामले में दोषी करार दिए गए अभियुक्त अध्यापक को सात साल की सजा सुनाई है।

उन्होंने अभियुक्त अध्यापक मुन्नु लाल द्विवेदी पर 10 हजार का जुर्माना भी ठोंका है। 29 जून, 2002 को इस घटना की एफआईआर पीड़िता के पिता ने थाना बंथरा में दर्ज कराई थी।

ये भी देखें :राजस्थान इलेक्शन : बीजेपी MLA ने कहा, मुस्लिम होने की वजह से नहीं मिला टिकट

ये भी देखें :इलेक्शन 2018 : राजस्थान में टिकट कटा तो मंत्री ने दिया पार्टी से इस्तीफा

वरिष्ठ अभियोजन अधिकारी सत्यव्रत त्रिपाठी के मुताबिक 12 वर्षीय पीड़िता एसके पब्लिक स्कूल में कक्षा आठ की छात्रा थी। मुन्नु लाल द्विवेदी इस स्कूल का प्रबंधक था और यहीं पर अध्यापक भी था। वो पीड़ित छात्रा को उसके घर पर ट्यूशन भी पढ़ाता था। पीड़ित छात्रा गरमी की छुट्टियों में अपने ननिहाल गई थी। वो पीड़िता को उसके ननिहाल में भी ट्यूशन पढा़ने लगा।

वहां ट्यूशन पढ़ाने के दौरान वो पीड़िता के साथ दुराचार कर रहा था, जिसे पीड़िता के मामा ने देख लिया। लेकिन वो धक्का देकर मौके से भाग निकला। पीड़िता ने बताया कि अभियुक्त घर पर भी ट्यूशन के दौरान उसके साथ अश्लील हरकत करता था। लेकिन जान की धमकी की वजह से वो किसी को बताती नहीं थी। विवेचना के दौरान पीड़िता की मौत हो गई।

Rishi

Rishi

आशीष शर्मा ऋषि वेब और न्यूज चैनल के मंझे हुए पत्रकार हैं। आशीष को 13 साल का अनुभव है। ऋषि ने टोटल टीवी से अपनी पत्रकारीय पारी की शुरुआत की। इसके बाद वे साधना टीवी, टीवी 100 जैसे टीवी संस्थानों में रहे। इसके बाद वे न्यूज़ पोर्टल पर्दाफाश, द न्यूज़ में स्टेट हेड के पद पर कार्यरत थे। निर्मल बाबा, राधे मां और गोपाल कांडा पर की गई इनकी स्टोरीज ने काफी चर्चा बटोरी। यूपी में बसपा सरकार के दौरान हुए पैकफेड, ओटी घोटाला को ब्रेक कर चुके हैं। अफ़्रीकी खूनी हीरों से जुडी बड़ी खबर भी आम आदमी के सामने लाए हैं। यूपी की जेलों में चलने वाले माफिया गिरोहों पर की गयी उनकी ख़बर को काफी सराहा गया। कापी एडिटिंग और रिपोर्टिंग में दक्ष ऋषि अपनी विशेष शैली के लिए जाने जाते हैं।

Next Story