Top

योगी इफेक्ट : वसूली करवाने वाला चौकी इंचार्ज स्टाफ सहित सस्पेंड

Rishi

RishiBy Rishi

Published on 27 March 2017 12:12 PM GMT

योगी इफेक्ट : वसूली करवाने वाला चौकी इंचार्ज स्टाफ सहित सस्पेंड
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

बागपत : सूबे में योगीराज क्या आया सभी विभाग और उनके अधिकारी मौज मस्ती छोड़ काम में लग गए। सिर्फ इतना ही नहीं सूबे का सबसे बदनाम विभाग पुलिस और इसके आलाधिकारी अपने पास आने वाली सभी शिकायतों को गंभीरता से भी लेने लगे हैं। वर्ना पहले तो ये हाल था कि आईजी, डीआईजी कब आते थे, कब चले जाते थे आम आदमी को पता ही नहीं चलता था। उसकी तो चौकी इंचार्ज और थानेदार भी नहीं सुनते थे। लेकिन अब सब कुछ बदल चुका है, कुछ ऐसा ही बागपत में देखने को मिला।

ये भी देखें :BJP कैबिनेट मंत्री ने कहा- अखिलेश हैं एक नासमझ बच्चे, अब ना देखें UP में आने के सपने

यूपी-हरियाणा सीमा पर बनी बागपत जनपद की निवाड़ा पुलिस चौकी पर अवैध वसूली की जाती थी। जिसकी शिकायत लगातार उच्चाधिकारियों को मिल रही थी, लेकिन उन्होंने कभी जाँच करने की जहमत नहीं उठाई। लेकिन सूबे में निजाम बदलते ही डीआईजी केएस इमैनुअल मेरठ रेंज ने सीओ क्राइम श्वेताभ पांडेय के नेतृत्व में टीम गठित की। विशेष टीम ने निवाडा पुलिस चौकी पर छापा मारा और निवाड़ा पुलिस चौकी के पास ट्रक चालकों से अवैध वसूली कर रहे पांच व्यक्तियों को गिरफ्तार भी कर लिया गया। जाँच में पता चला कि चौकी इंचार्ज से लेकर सिपाही तक इस खेल में शामिल हैं तो सभी को तत्काल प्रभाव से सस्पेंड कर दिया गया है।

ये भी देखें :AIIMS में 273 पदों पर भर्ती के लिए नोटिफिकेशन, अंतिम तिथि से पहले करें आवेदन

दरअसल डीआईजी मेरठ रेंज को शिकायत मिली थी कि निवाड़ा चौकी के पास कुछ लोग जिला पंचायत की आड़ में अवैध वसूली करते हैं। और स्थानीय पुलिस भी उनसे मिली हुई है, जिसके बाद डीआईजी ने पुलिस की विशेष टीम गठित कर जाँच के आदेश दे दिए। जब टीम जाँच करने पहुचीं तो उन्हें देखकर वसूली कर रहे लोग भाग निकले। टीम ने घेराबंदी की और सभी को यमुना के पास से दबोच लिए गया।

ये भी देखें :फिरोजाबाद: 175 मीट कारोबारियों ने दी आत्मदाह की धमकी, पांच दिन से घरों में नहीं जले चूल्हे

एसपी बागपत अजय शंकर राय ने डीआईजी के निर्देश पर चौकी प्रभारी उपनिरीक्षक रजनीश कुमार, आरक्षी सलेक चंद,अरुण कुमार, उपेंद्र सिंह, जर्रार हुसैन, प्रशांत कुमार और अवनीश कुमार को सस्पेंड कर दिया है |

Rishi

Rishi

आशीष शर्मा ऋषि वेब और न्यूज चैनल के मंझे हुए पत्रकार हैं। आशीष को 13 साल का अनुभव है। ऋषि ने टोटल टीवी से अपनी पत्रकारीय पारी की शुरुआत की। इसके बाद वे साधना टीवी, टीवी 100 जैसे टीवी संस्थानों में रहे। इसके बाद वे न्यूज़ पोर्टल पर्दाफाश, द न्यूज़ में स्टेट हेड के पद पर कार्यरत थे। निर्मल बाबा, राधे मां और गोपाल कांडा पर की गई इनकी स्टोरीज ने काफी चर्चा बटोरी। यूपी में बसपा सरकार के दौरान हुए पैकफेड, ओटी घोटाला को ब्रेक कर चुके हैं। अफ़्रीकी खूनी हीरों से जुडी बड़ी खबर भी आम आदमी के सामने लाए हैं। यूपी की जेलों में चलने वाले माफिया गिरोहों पर की गयी उनकी ख़बर को काफी सराहा गया। कापी एडिटिंग और रिपोर्टिंग में दक्ष ऋषि अपनी विशेष शैली के लिए जाने जाते हैं।

Next Story