Top

उसने अपने को कर दिया था मृत घोषित, लेकिन कानून के हाथों बच न सका

Rishi

RishiBy Rishi

Published on 28 March 2017 1:58 PM GMT

उसने अपने को कर दिया था मृत घोषित, लेकिन कानून के हाथों बच न सका
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

शामली : यूपी के शामली में एक शातिर अपराधी ने सजा से बचने के लिए आप को मृत घोषित कर कोर्ट में प्रमाण पत्र दाखिल कर दिया। घटना का खुलासा उस समय हुआ जब पुलिस ने 2 साल पहले मर चुके इस आरोपी को चाकू के साथ नहर पुल से अपराधिक साजिश रचते समय गिरफ्तार कर लिया।

ये भी देखें :देखिए कैसे अब CM योगी के सफाई अभियान में लिया जा रहा है ऊपर वाले का सहारा

मामला जनपद शामली के कांधला थाना क्षेत्र के गांव नाला का है, जहां वर्ष 2007 में एक दलित परिवार ने गांव के ही सतवीर पुत्र दिसंबर के खिलाफ घर में घुसकर मारपीट कर जानलेवा हमला एवं जातिसूचक शब्दों का प्रयोग करते हुए अभद्रता का आरोप लगाते हुए पुलिस को तहरीर दी थी।

ये भी देखें :OPPO के नोएडा ऑफिस में तिरंगे का अपमान, फाड़कर डस्टबिन में फेंका

पुलिस ने उक्त तहरीर के आधार पर आरोपी युवक के खिलाफ एससी एसटी एक्ट सहित विभिन्न धाराओं में मुकदमा दर्ज किया था। पुलिस ने मुकदमा तो दर्ज कर लिया था। लेकिन आरोपी को गिरफ्तार नहीं कर सकी। जिसके बाद पुलिस ने फरार आरोपी की तलाश में दबिश भी दी थी।

मामला मुजफ्फरनगर एडीजे कोर्ट-2 में चल रहा था। जिसके बाद कोर्ट ने आरोपी को कई बार सम्मन जारी कर कोर्ट में तलब किया लेकिन लंबे समय तक अभियुक्त कोर्ट में उपस्थित नहीं हो सका। जिसके बाद आरोपी के खिलाफ एनबीडब्ल्यू वारंट जारी किया। इसके बाद एक बार फिर पुलिस ने गिरफ़्तारी के लिए दबिश डाली लेकिन पुलिस को कोई सफलता नहीं मिल रही थी। वर्ष 2015 में आरोपी सतवीर ने अपने आप को मृत घोषित कर कोर्ट में अपना मृत्यु प्रमाण पत्र प्रेषित करा दिया। जिसके बाद एडीजे कोर्ट ने मुकदमे को खारिज कर दिया था और आरोपी की मौत के कारण पीड़ित को समय पर न्याय नहीं मिल पाया था।

इस मुकदमे में रविवार रात उस समय नया मोड़ आया जब कानून की निगाहों में 2 साल पहले मर चुके इस आरोपी को पुलिस ने नाला गांव की नहर पटरी से एक धारदार चाकू के साथ गिरफ्तार कर लिया। पूछताछ के बाद पता चला कि उक्त आरोपी किसी घटना को अंजाम देने जा रहा था। पुलिस ने जब आरोपी को थाने लाकर पूछताछ की तो पकड़े गए आरोपी ने अपने पुराने रिकॉर्ड बताने शुरू किए। जिसमें उसने यह बात भी बताई थी कि उसके ऊपर कोर्ट में एक मुकदमा चल रहा था जिसमें उसने अपने आप को मृत दर्शाकर मृतक प्रमाण पत्र कोर्ट में प्रेषित कर दिया था। इसके बाद कांधला पुलिस ने मंगलवार को आरोपी को कोर्ट में पेश किया।

Rishi

Rishi

आशीष शर्मा ऋषि वेब और न्यूज चैनल के मंझे हुए पत्रकार हैं। आशीष को 13 साल का अनुभव है। ऋषि ने टोटल टीवी से अपनी पत्रकारीय पारी की शुरुआत की। इसके बाद वे साधना टीवी, टीवी 100 जैसे टीवी संस्थानों में रहे। इसके बाद वे न्यूज़ पोर्टल पर्दाफाश, द न्यूज़ में स्टेट हेड के पद पर कार्यरत थे। निर्मल बाबा, राधे मां और गोपाल कांडा पर की गई इनकी स्टोरीज ने काफी चर्चा बटोरी। यूपी में बसपा सरकार के दौरान हुए पैकफेड, ओटी घोटाला को ब्रेक कर चुके हैं। अफ़्रीकी खूनी हीरों से जुडी बड़ी खबर भी आम आदमी के सामने लाए हैं। यूपी की जेलों में चलने वाले माफिया गिरोहों पर की गयी उनकी ख़बर को काफी सराहा गया। कापी एडिटिंग और रिपोर्टिंग में दक्ष ऋषि अपनी विशेष शैली के लिए जाने जाते हैं।

Next Story