Top

Sonbhadra Crime News : नगवां में परिणाम के बाद बवाल, सपा जिलाध्यक्ष सहित 19 नामजद, 200 अज्ञात पर दर्ज की गई FIR

Sonbhadra Crime News:नगवां ब्लॉक प्रमुख चुनाव का परिणाम आने के बाद हारे सपा प्रत्याशी समर्थकों की तरफ से जमकर बवाल हुआ।

Kaushlendra Pandey

Kaushlendra PandeyReport Kaushlendra PandeyShraddhaPublished By Shraddha

Published on 11 July 2021 6:43 AM GMT

पुलिस फोर्स के साथ हालात का जायजा लेते डीएम-एसपी
X

पुलिस फोर्स के साथ हालात का जायजा लेते डीएम-एसपी

  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

Sonbhadra Crime News : नगवा में ब्लॉक प्रमुख चुनाव (Block Pramukh Election) के परिणाम के बाद बवाल के मामले में सपा जिलाध्यक्ष विजय यादव (SP District President Vijay Yadav), पूर्व जिला अध्यक्ष संजय यादव, सपा प्रत्याशी पति हीरालाल यादव सहित 20 के खिलाफ नामजद और डेढ़ सौ अज्ञात लोगों के खिलाफ रायपुर थाने में प्राथमिकी दर्ज कर ली गई है। वहीं गिरफ्त में 16 लोगों को लिया गया। पुलिस इन लोगों से ब्लॉक तक पहुंचे पत्थर, लाठी और असलहों के बारे में कड़ी पूछताछ कर रही है।

बताते चलें कि शुक्रवार को नगवां ब्लॉक प्रमुख चुनाव का परिणाम आने के बाद हारे हुए सपा प्रत्याशी के समर्थकों की तरफ से जमकर बवाल काटा गया था। कुछ प्रत्यक्षदर्शियों का दावा है कि भाजपा के जीते प्रत्याशी आलोक सिंह को ब्लॉक से घर जाते वक्त भीड़ में से अचानक आगे आए एक उपद्रवी ने उनको ले जा रहे वाहन की तरफ एक-दो फायर झोंक दिया। संयोग था कि वह बाल-बाल बच गए और उन्हें सुरक्षित निकालने के प्रयास में रायपुर इंस्पेक्टर विश्वजीत राय को घायल होना पड़ा। हालांकि पुलिस अभी इस पर कुछ भी कहने से बच रही है। इस मसले पर भाजपा-सपा खेमा भी चुप्पी साधे हुए है।

पुलिस का कहना है कि परिणाम के बाद सपा के लोगों ने रावण संत खलियारी मुख्य मार्ग जाम करने की कोशिश की थी उन्हें हटाने का प्रयास किया गया तो वहां मौजूद लोगों की तरफ से पुलिस पर हमला बोल दिया गया। रायपुर इंस्पेक्टर विश्वजीत राय ने बताया कि मामले में रायपुर थाने में नामजद सहित कुल डेढ़ से दो सौ लोगों के खिलाफ धारा 147, 148, 149, 323, 504, 332, 333, 307, 427, 352, 353 में मामला दर्ज कर उनकी तलाश की जा रही है।

यह लोग अब तक चढ़ चुके हैं पुलिस के हत्थे

संदीप निवासी तेलाड़ी, रमेश निवासी खलियारी, बालमुकुंद जायसवाल निवासी सेमरिया, आश्रम पासवान निवासी बिजवार, सूरज कुमार निवासी नरउज, नीतीश कुमार निवासी सेमरिया, मोती निवासी नरउज, सुरेंद्र निवासी जसौलिया, रघुनाथ निवासी नगवां, राजू जायसवाल निवासी रतुआ, बनारसी निवासी दरमा, शिवानंद निवासी महुली, गुलाब निवासी पनिकप खुर्द, रामानंद निवासी भैरोपुर, पंकज निवासी नगांव, विजय निवासी रइया को अब तक गिरफ्तार किया जा चुका है।

सत्ता पक्ष को जिताने के लिए कराया गया बवाल: अविनाश कुशवाहा

सपा के राष्ट्रीय कार्यकारिणी सदस्य, पूर्व सदर विधायक एवं पूर्व जिलाध्यक्ष अविनाश कुशवाहा ने बवाल के लिए प्रशासन और सत्ता पक्ष को जिम्मेदार ठहराया है। उन्होंने बयान जारी कर कहा कि नगवा ब्लाक पर ब्लाक प्रमुख प्रत्याशी के समर्थन में मौजूद सपा कार्यकर्ता एवं पदाधिकारी एवं वरिष्ठ नेताओं विजय यादव जिलाध्यक्ष, संजय यादव पूर्व ब्लॉक प्रमुख के विरुद्ध संगीन धाराओं में मुकदमा जिला प्रशासन द्वारा दर्ज कराया गया है।

अविनाश कुशवाहा (फाइल फोटो - सोशल मीडिया)

सपा कार्यकर्ताओं की इच्छा शक्ति को कुचलने डराने व सत्ता पक्ष के प्रत्याशी को वोट कराने के लिए बलवा फसाद कराया गया। लाठीचार्ज भी कराया गया, जिसमें कई वरिष्ठ नेताओं और कार्यकर्ताओं को गंभीर चोटें आई हैं। जबकि मौके पर मौजूद सत्ता पक्ष के नेताओं एवं भारी संख्या में मौजूद कार्यकर्ताओं को इस बलवे में कहीं चोटिल ना होना एवं एफआईआर में उनका नाम ना होना जिला प्रशासन एवं पुलिस की एक तरफा पक्षपातपूर्ण कार्रवाई है।

कल पूरे प्रदेश ने देखा कि उन्नाव में भाजपा नेताओं द्वारा खुलेआम एसपी सिटी को पिटा गया और बम व पत्थर फेंके गए, और किस तरह से भाजपा के लोग पुलिस प्रशासन के सहयोग से खुलेआम सपा प्रत्याशियों का पर्चा छीनते रहे। समाजवादी पार्टी के लोग इस तरह की कार्रवाई का विरोध करते हैं। समाजवादी पार्टी के लोग झूठे मुकदमों से डरते नहीं हैं। इसके विरुद्ध समाजवादियों का संघर्ष जारी रहेगा। समय आने पर जनता इसका जवाब देगी।


Shraddha

Shraddha

Next Story