Top

Exclusive: जब SP ने सादी वर्दी में बुलेट से 3 घंटों तक किया औचक निरीक्षण

sudhanshu

sudhanshuBy sudhanshu

Published on 26 Aug 2018 12:00 PM GMT

Exclusive: जब SP ने सादी वर्दी में बुलेट से 3 घंटों तक किया औचक निरीक्षण
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

असगर नकी

अमेठी: यूपी में आमतौर से खाकी का दबंग चेहरा चर्चाओं का केंद्र होता है। दो दिन पूर्व ही राजधानी में एक आटो ड्राइवर को खाकी ने बूटों से कुचला था, जिस पर आला अधिकारियों ने खाकी की आबरु बचाने के लिए दरोगा को सस्पेंड किया था। लेकिन हाल ही में ज़िले की पुलिसिंग की कमान सम्भालने पहुंचे एसपी अनुराग आर्य ने अपने कर्तव्यों का निर्वाहन कर खाकी का मान बढ़ा दिया है। रविवार को रक्षाबंधन के त्यौहार पर अपने मातहतों को परखने के लिए उन्होंंने बुलेट उठाई और सादी वर्दी में करीब 3 घंटों तक औचक निरीक्षण किया।

इंसाफ के लिए दर-दर नहीं भटकेगी महिला

रविवार को रक्षाबंधन योगी सरकार के आदेश पर उत्तर प्रदेश पुलिस मुखिया ओपी सिंह के निर्देश पर इस बार पूरे प्रदेश में रक्षाबंधन का त्यौहार पुलिस भी नए अंदाज में मनाती दिखाई दी। डीजीपी ओपी सिंह ने तीन दिन पहले एक सर्कुलर जारी कर पूरे प्रदेश की पुलिस को आदेश दिया था कि इस बार वह रक्षा बंधन के त्योहार को सुरक्षा बंधन के रूप में मनाएंगे। जिसे 'खाकी विद राखी' नाम दिया गया है। इसके तहत पुलिस कप्तान से लेकर थानाध्यक्ष तक बहनों से राखी बंधवाते रहे और वादा करते रहे कि वह उनकी हिफाजत करेंगे। किसी भी महिला को इंसाफ के लिए दर-दर नहीं भटकने दिया जाएगा।

कांग्रेस MLC ने की एसपी की सराहना

इसी क्रम में एसपी अनुराग आर्य दिन में 12 बजे से शाम 3 बजे तक सिविल ड्रेस में बुलेट से सुरक्षा की चाक चौबंद व्यवस्था की हकीकत जाननें निकल पड़े। एसपी ने गौरीगंज कोतवाली क्षेत्र, मोहनगंज थाना क्षेत्र और जामों थाना क्षेत्र के प्रमुख बाजारों में अपने मातहतों की बारीकी से निगरानी किया। उन्होंंने कहा महिला सुरक्षा हमारा परम कर्तव्य है। एसपी के इस क़दम की कांग्रेस एमएलसी दीपक सिंह ने सराहना करते हुए कहा कि जिले में ऐसा ज़िम्मेदार अधिकारी मौजूद हो तो जिले में अपराध निश्चित ही कम हो जाएगा।

24 घंटे के अंदर पचास वारंटियों को करवाया था अरेस्ट

जिले में जराएम अपने शबाब पर था, जो तत्कालीन एसपी से कंट्रोल नही हो पा रहा था। शासन ने नकेल कसने के लिए आईपीएस अनुराग आर्य को जिले के एसपी के रूप में कमान सौंपी। श्री आर्य ने जिले का प्रभार लेते ही 24 घंटे के अंदर पचासों वारंटियों को अरेस्ट करवाया था। रात भर चले इस अभियान की 4 घंटे तक स्वयं एसपी ने मानिटरिंग की थी। इससे जहां अपाराधियों में दहशत तो आम जनता में सुकून देखने को मिला था।

sudhanshu

sudhanshu

Next Story