Top

यूपी : संभल में पकड़े गए बीजेपी के फर्जी प्रदेश अध्यक्ष, कार सीज

Rishi

RishiBy Rishi

Published on 18 April 2017 10:57 AM GMT

यूपी : संभल में पकड़े गए बीजेपी के फर्जी प्रदेश अध्यक्ष, कार सीज
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

संभल : जिले की चंदौसी कोतवाली पुलिस ने बीजेपी के फर्जी प्रदेश अध्यक्ष को गिरफ्तार किया है। हिरासत में लिया गया युवक अपनी कार पर प्रदेश अध्यक्ष, भारतीय जनता पार्टी की प्लेट और हूटर लगा कर घूम रहा था। इस युवक ने धोखा देने के लिए अपनी कार की प्लेट पर काफी बड़े शब्दों में प्रदेश अध्यक्ष भारतीय जनता पार्टी के साथ ही काफी छोटे शब्दों में सपोर्टर लिखवा रखा था।

पुलिस ने फर्जी प्रदेश अध्यक्ष की कार सीज कर दी है। खुद को बीजेपी सपोर्टर का प्रदेश अध्यक्ष बताने बाले युवक के बारे में सीओ चंदौसी ने बीजेपी पदाधिकारियों से जानकारी की तो यह फर्जीवाड़ा सामने आया।

ये भी देखें : करण ने किया प्रज्ञा को डेट पर इनवाइट, किसी खास के लिए इस एक्ट्रेस ने कहा -SORRY

प्रदेश अध्यक्ष लिखी नेमप्लेट और हूटर लगी ब्लैक कार के घूमने की खबर से बीजेपी नेताओं में हडकंप मच गया था। जब लखनऊ फोन कर कुछ नेताओं ने पता किया, कि क्या प्रदेश अध्यक्ष संभल आए हैं, तो वहां से इंकार कर दिया गया। इसके बाद कार की तलाश आरंभ हुई और फर्जी प्रदेश अध्यक्ष को दबोचा गया।

पकड़ा गया युवक बदायूं जनपद के बिल्सी का प्रतीक माहेश्वरी है। बीजेपी कार्यकर्ता कौशलकिशोर ने युवक के विरुद्ध रिपोर्ट दर्ज करने के लिए कोतवाली में तहरीर दी।

Rishi

Rishi

आशीष शर्मा ऋषि वेब और न्यूज चैनल के मंझे हुए पत्रकार हैं। आशीष को 13 साल का अनुभव है। ऋषि ने टोटल टीवी से अपनी पत्रकारीय पारी की शुरुआत की। इसके बाद वे साधना टीवी, टीवी 100 जैसे टीवी संस्थानों में रहे। इसके बाद वे न्यूज़ पोर्टल पर्दाफाश, द न्यूज़ में स्टेट हेड के पद पर कार्यरत थे। निर्मल बाबा, राधे मां और गोपाल कांडा पर की गई इनकी स्टोरीज ने काफी चर्चा बटोरी। यूपी में बसपा सरकार के दौरान हुए पैकफेड, ओटी घोटाला को ब्रेक कर चुके हैं। अफ़्रीकी खूनी हीरों से जुडी बड़ी खबर भी आम आदमी के सामने लाए हैं। यूपी की जेलों में चलने वाले माफिया गिरोहों पर की गयी उनकी ख़बर को काफी सराहा गया। कापी एडिटिंग और रिपोर्टिंग में दक्ष ऋषि अपनी विशेष शैली के लिए जाने जाते हैं।

Next Story