Top

अवैध शस्त्र फैक्ट्री का बड़ा खुलासा, आर्मी का सेवानिवृत कर्मचारी देता था कारतूस

Charu Khare

Charu KhareBy Charu Khare

Published on 14 Jun 2018 11:11 AM GMT

अवैध शस्त्र फैक्ट्री का बड़ा खुलासा, आर्मी का सेवानिवृत कर्मचारी देता था कारतूस
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

शाहजहांपुर : यूपी की शाहजहांपुर पुलिस ने गुरूवार को एक अवैध शस्त्र फैक्ट्री का भंडाफोड़ किया है पुलिस ने मौके से एक आरोपी को गिरफ्तार किया। साथ ही सौ से ज्यादा जिंदा कारतूस और भारी मात्रा में अधबने तमंचे भी बरामद किये पकड़े गए आरोपी के मुताबिक, उन्हें यह कारतूस आर्मी का एक सेवानिवृत कर्मचारी मुहैया कराता था जिसे ये लोग भारी कीमत में बेच देने का काम करते थे।

घटना थाना सदर बाजार के मउ खालसा गांव की है। एसपी एस चिनप्पा के मुताबिक गांव का रहने वाला लालाराम को खननौद नदी के किनारे अवैध शस्त्र की फैक्ट्री चलाते पकङा है। मौके से 100 से ज्यादा जिंदा कारतूस बरामद किए है। साथ ही पांच तमंचे भी बरामद किए है।

ये भी पढ़ें - जानना न भूलें ‘फांसी’ से जुड़े ये 6 राज, सूर्योदय से पहले क्यों होती है फांसी

पूछताछ मे आरोपी लालाराम ने बताया कि उसकी दोस्ती नेताराम के नाम के शख्स से हो गई। नेताराम अवैध तमंचा बनाने का काम करता था। शुरूआत मे हमने एक तमंचा बेचा तो 3000 हजार रुपये हमे मिल गए थे। जिसके बाद हमे लालच आ गया और हमने खुद तमंचा बनाने की फैक्ट्री शुरू कर दी। अवैध शस्त्र बनाकर बेचकर उससे अपना परिवार चलाता है।

फिलहाल पुलिस ने आरोपी को पकड़कर जेल भेज दिया था। साथ ही पुलिस ने सेवानिवृत्त कर्मचारी की तलाश शुरू कर दी है।

Charu Khare

Charu Khare

Next Story