Top

योगी जी! इस जालिम एडीएम से बचाइए, ट्रेजरी आफिसर ने सीएम से लगाई गुहार

sudhanshu

sudhanshuBy sudhanshu

Published on 1 Sep 2018 2:14 PM GMT

योगी जी! इस जालिम एडीएम से बचाइए, ट्रेजरी आफिसर ने सीएम से लगाई गुहार
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

शामली: जिले के ट्रेजरी ऑफिसर ज्ञानेंद्र कुमार ने शनिवार को एडीएम. शामली के.बी.सिंह पर आरोप लगाया कि वह अपने ऑफिस में बुलाकर मारपीट कर जान से मारने की धमकी दे रहे हैं। इतने में भी मन नहीं भरा तो एडीएम साहब ने ज्ञानेंद्र कुमार को अपने ऑफिस में बुलाकर बदसलूकी और गाली गलौज करते हुए पूरे स्टाफ के सामने जमकर मारपीट की है। ज्ञानेंद्र कुमार शामली कोषागार में वरिष्ठ कोषाधिकारी के पद पर तैनात है।

एडीएम ने नकारे आरोप

जिला कोषागार में तैनात वरिष्ठ कोषाधिकारी ज्ञानेंद्र कुमार ने अपर जिला अधिकारी पर अपने कक्ष में बुलाकर गाली गलौज एवं मारपीट कर जान से मारने की धमकी देने का आरोप लगाया है। उन्होंने एसपी को रजिस्ट्ररी से तहरीर भेजी है। उन्होंने अपर निदेशक कोषागार सहारनपुर मंडल से भी शिकायत की है। आरोप है कि एक अनावश्यक प्रमाण पत्र प्रमाणित जारी करने का दबाव बनाया गया। उधर एडीएम ने आरोपों को बेबुनियाद बताते हुए आरोप लगाया कि एक महिला का प्रमाण पत्र दस दिन से प्रमाणित नहीं किया जा रहा था। इस की पूछताछ करने पर कोषाधिकारी ने बदसलूकी की है। उनके खिलाफ शासन को भी रिपोर्ट भेजी जा रही है।

एसपी को दी तहरीर

जिला कोषागार में ज्ञानेंद्र कुमार वरिष्ठ कोषाधिकारी के पद पर तैनात हैं। उनका आरोप है कि अपर जिला अधिकारी शामली के.बी.सिंह के पास सहायक महानिरीक्षक निंबधन का अतिरिक्त कार्यभार भी इनके पास है। उन्होंने अपर निदेशक कोषागार एवं पेंशन मंडल सहारनपुर को भी शिकायत भेजी है। इतना ही नहीं उन्‍होंने एसपी को रजिस्ट्ररी के माध्यम से भेजी गयी तहरीर में आरोप लगाया है कि 30 अक्टूबर को बतौर सहायक महानिरीक्षक निबंधन द्वारा एक प्रमाण पत्र पेंशन सहायक के पास आया। इसमें पेंशन सहायक सुनील कुमार ने कहा कि अन्य जनपद में पेंशन लेने वाले पेंशनर का आहरण वितरण अधिकारी के प्रमाण पत्र के लिए हस्ताक्षर प्रमाणित किए जाते हैं। यह प्रमाण पत्र कार्यालय अध्यक्ष एवं अपर जिलाधिकारी के हस्ताक्षर हैं। इसलिए इसके प्रमाणित कराने की आवश्यकता कोषागार से नहीं है। आरोप है कि इस पर अपर जिलाधिकारी के.बी.सिंह ने पहले पेंशन सहायक सुनील कुमार को अपने कक्ष में बुलाकर पहले गाली गलौज की और उन्हें भी अपने कक्ष में बुलाया। एडीएम ने उनके साथ गली गलौज और मारपीट की। ज्ञानेंद्र कुमार का आरोप है कि एडीएम ने जेल में डालने और जान से मारने की धमकी भी दी है। उन्होंने एसपी को रजिस्ट्ररी के माध्यम से तहरीर भेज दी है। इतना ही नहीं सीएम के यहां भी गुहार लगाई है।

sudhanshu

sudhanshu

Next Story