Top

योगी जी ! पश्चिम सुलग रहा है और आपकी पुलिस दे रही है हवा, संभल में फिर बवाल

Rishi

RishiBy Rishi

Published on 11 May 2017 11:22 AM GMT

योगी जी ! पश्चिम सुलग रहा है और आपकी पुलिस दे रही है हवा, संभल में फिर बवाल
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

संभल : पुलिस और पीएसी की मौजूदगी में एक समुदाय के बीस घरों को दूसरे समुदाय की भीड़ ने लूट लिया। जमकर तोड़फोड़ की और दो घरों में एक इंजन, एक बाइक तथा एक फ्रिज को आग के हवाले कर दिया।

ये भी देखें :चाहते हैं पार्टनर का लंबे समय तक साथ, जरूरत से ज्यादा ना करें आप प्यार

मामला गुन्नौर थाने के गाँव नंदरोली का है। जहाँ लगातार दूसरे दिन एक समुदाय के सैकड़ों लोगों ने दूसरे समुदाय के करीब बीस घरों में दरवाजों को तोड़ लूटपाट, मारपीट और आगजनी की। प्रेमी संग लड़की के भाग जाने के बाद पुलिस द्वारा तीन दिन तक कोई कार्रवाई न करने पर एक समुदाय में दूसरे समुदाय के खिलाफ नफरत भर गई।

लगातार दूसरी रात को भीड़ ने जो उत्पात मचाया। वह सूबे की कानून व्यवस्था और पुलिस की कार्यप्रणाली पर सवालिया निशान खड़े कर रहा है। एक समुदाय दहशत में है, और कई परिवार गाँव छोड़ कर भाग गए हैं। एएसपी पंकज कुमार पाण्डेय का कहना है, कि लडकी और तोड़फोड़ मामलों में प्राथमिकी दर्ज कर ली गई है। तोड़फोड़ के छः आरोपी गिरफ्तार किये गए हैं। लडकी भगाने के आरोपियों के खिलाफ भी कार्रवाई की जायेगी।

लेकिन सवाल ये है, कि बवाल के बाद रिपोर्ट और फिर पुलिस की मौजूदगी के बाद एक और बवाल के बाद रिपोर्ट का क्या लाभ हुआ। देखना है, कि मामले को दबाये बैठी रही पुलिस और पुलिस की मौजूदगी में होती रही लूटपाट को देखते रहने वाली गुन्नौर पुलिस के खिलाफ अधिकारी क्या कदम उठाते हैं। साथ ही इस गाँव में लूटपाट से पीड़ितों का पलायन प्रशासन केसे रोकेगा, ये बड़े सवाल हैं। तब जबकि तोड़फोड़ लूटपाट से पीड़ित एक समुदाय के घरों में खाना बनाने को न बर्तन साबित बचे हैं, और न ही उनके पास साबित चूल्हा और राशन ही बाकी है।बलवाइयों की भीड़ ने सब तोड़ डाला कुछ लूट ले गए।

घटनास्थल का डीआईजी, डीएम और एसपी समेत आलाधिकारियों ने निरीक्षण किया है। हालांकि एएसपी ने असुरक्षित समुदाय की आबादी वाले मौहल्लों में पुलिसकर्मियों की ड्यूटी लगाकर उस समुदाय की सुरक्षा की कोशिश की है।

देखें तस्वीरें :

Rishi

Rishi

आशीष शर्मा ऋषि वेब और न्यूज चैनल के मंझे हुए पत्रकार हैं। आशीष को 13 साल का अनुभव है। ऋषि ने टोटल टीवी से अपनी पत्रकारीय पारी की शुरुआत की। इसके बाद वे साधना टीवी, टीवी 100 जैसे टीवी संस्थानों में रहे। इसके बाद वे न्यूज़ पोर्टल पर्दाफाश, द न्यूज़ में स्टेट हेड के पद पर कार्यरत थे। निर्मल बाबा, राधे मां और गोपाल कांडा पर की गई इनकी स्टोरीज ने काफी चर्चा बटोरी। यूपी में बसपा सरकार के दौरान हुए पैकफेड, ओटी घोटाला को ब्रेक कर चुके हैं। अफ़्रीकी खूनी हीरों से जुडी बड़ी खबर भी आम आदमी के सामने लाए हैं। यूपी की जेलों में चलने वाले माफिया गिरोहों पर की गयी उनकी ख़बर को काफी सराहा गया। कापी एडिटिंग और रिपोर्टिंग में दक्ष ऋषि अपनी विशेष शैली के लिए जाने जाते हैं।

Next Story