Top

योगी तेरे राज में! विधान भवन के सामने महिला का आत्मदाह का प्रयास

Rishi

RishiBy Rishi

Published on 27 May 2017 3:33 PM GMT

योगी तेरे राज में! विधान भवन के सामने महिला का आत्मदाह का प्रयास
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

लखनऊ : दबंगों की प्रताड़ना और पुलिस की उपेक्षा से परेशान सीतापुर की एक महिला ने शनिवार को विधान भवन के सामने अपने मासूम बच्चे के साथ आत्मदाह का प्रयास किया। हालांकि मौके पर मौजूद महिला सिपाही सुष्मिता यादव और शिवकुमारी ने महिला की हरकत को भांपते हुए उसे तेल उड़ेलते ही पकड़ लिया। महिला को कोतवाली ले जाकर उससे पूछताछ की जा रही है।

ये भी देखें : मोदी दूसरे महात्मा गांधी -विजय गोयल… ये जो आप बोले हैं, इसे चापलूसी कहते हैं

पुलिस के अनुसार, सीतापुर के थाना तंबौर के पकरिया का पुरवा मजरा दलपतपुर निवासी पीड़िता गुलाबा का आरोप है कि उसके पट्टीदार जलील, इश्तियाक अफसर जहां, मंतसा, लैलतुन ने उसके परिवार का जीना मुहाल कर दिया है। दबंगों की प्रताड़ना से तंग आकर पीड़िता बीती 20 जनवरी को राज्यपाल से मिली थी और प्रमुख सचिव गृह, पुलिस महानिदेशक, पुलिस महानिरीक्षक, पुलिस अधीक्षक सीतापुर को भी प्रार्थना पत्र दे चुकी है। आलाधिकारियों के निर्देश पर दबंगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज हो गई। लेकिन पुलिस ने कोई कार्रवाई नहीं की।

पीड़िता ने कहा, "मैं इन सबसे व तंबौर थाने की प्रताड़ना से परेशान हो चुकी हूं।"

उसने कहा कि उसके आत्मदाह की धमकी देने के बाद तंबौर पुलिस ने आरोपियों को जेल भेजने के बजाए उसकी पुत्री को कैद कर लिया है, जिसकी वजह से वह शनिवार को राजधानी पहुंची और विधानसभा के सामने आत्मदाह का प्रयास किया।

Rishi

Rishi

आशीष शर्मा ऋषि वेब और न्यूज चैनल के मंझे हुए पत्रकार हैं। आशीष को 13 साल का अनुभव है। ऋषि ने टोटल टीवी से अपनी पत्रकारीय पारी की शुरुआत की। इसके बाद वे साधना टीवी, टीवी 100 जैसे टीवी संस्थानों में रहे। इसके बाद वे न्यूज़ पोर्टल पर्दाफाश, द न्यूज़ में स्टेट हेड के पद पर कार्यरत थे। निर्मल बाबा, राधे मां और गोपाल कांडा पर की गई इनकी स्टोरीज ने काफी चर्चा बटोरी। यूपी में बसपा सरकार के दौरान हुए पैकफेड, ओटी घोटाला को ब्रेक कर चुके हैं। अफ़्रीकी खूनी हीरों से जुडी बड़ी खबर भी आम आदमी के सामने लाए हैं। यूपी की जेलों में चलने वाले माफिया गिरोहों पर की गयी उनकी ख़बर को काफी सराहा गया। कापी एडिटिंग और रिपोर्टिंग में दक्ष ऋषि अपनी विशेष शैली के लिए जाने जाते हैं।

Next Story