बीजेपी को लगेगा तगड़ा झटका, शिवसेना के बाद ये पार्टी छोड़ेगी साथ

दिल्ली विधानसभा चुनाव में बीजेपी को समर्थन देने के लिए शिरोमणि अकाली दल में फूट पड़ गई है। शुक्रवार को हुई अकाली दल मीटिंग में पार्टी के अंदर मतभेद साफ…

Published by Deepak Raj Published: January 24, 2020 | 5:56 pm
Modified: January 25, 2020 | 9:09 am

नई दिल्ली।  दिल्ली विधानसभा चुनाव में बीजेपी को समर्थन देने के लिए शिरोमणि अकाली दल में फूट पड़ गई है। शुक्रवार को हुई अकाली दल मीटिंग में पार्टी के अंदर मतभेद साफ नजर आए जब ज्यादातर सदस्य बीजेपी को समर्थन देने के पक्ष में नजर आए।

ये भी पढ़ें-महाराष्ट्र में घमासान! अब फोन टैपिंग में सरकार परेशान, जानें क्या है मामला

कुछ ही सदस्य थे जो दिल्ली चुनावों में बीजेपी के साथ नहीं जाना चाहते थे। खबर ये भी है कि दो सदस्यों के बीच समर्थन को लेकर तीखी बहस हुई। आखिरकार ये मामला अकाली प्रमुख सुखबीर सिंह बादल पर छोड़ दिया गया है।

बीजेपी को समर्थन पर अकाली में फूट

दरअसल दिल्ली में बीजेपी ने इस बार अपने सहयोगी शिरोमणि अकाली दल को एक भी सीट नहीं दी। कारण था नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) पर अकाली का स्टैंड।

ये भी पढ़ें-  भ्रष्टाचार पर योगी सरकार का कड़ा एक्शन, लिया ये फैसला

बीजेपी ने अकाली से अपना स्टैंड बदलने की मांग भी की थी जिसे उसने खारिज कर दिया और नतीजा ये हुआ कि 35 साल पुराना गठबंधन अब टूटने की कगार पर आ गया। वहीं अब अकाली दल के काफी सदस्य चाहते हैं कि पहले की तरह दिल्ली चुनाव में उनकी पार्टी बीजेपी का समर्थन करे।

अकाली दल एनडीए का सबसे पुराना साथी

बता दें कि अकाली दल एनडीए गठबंधन में बीजेपी का सबसे पुराना साथी रहा है। दिल्ली और पंजाब में सभी चुनाव मिलकर लड़ते रहे हैं। दिल्ली के 8 फरवरी को होने वाले चुनाव के लिए अकाली दल ने शुरू में 7 सीटों की डिमांड की थी।

ये भी पढ़ें- पेशनधारकों पर बड़ी खबर! सरकार देने जा रही ये बड़ी सौगात

बाद में अपनी पुरानी 4 सीटों पर आकर दावेदारी की। अब तक अकालियों को दिल्ली की राजौरी गार्डन, हरी नगर, कालकाजी एवं शाहदरा की सीट सिख कोटे के तहत मिलती रही है।

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App