दिल्ली विधानसभा चुनाव: 7 घंटे इंतजार के बाद केजरीवाल ने दाखिल किया नामांकन

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने मंगलवार को सात घंटे के लंबे इंतजार के बाद नामांकन दाखिल कर दिया। उन्होंने दिल्ली के जामनगर हाउस में नई दिल्ली सीट से अपना नामांकन दाखिल किया है।

Published by dharmendrakumar Published: January 21, 2020 | 3:58 pm
Modified: January 21, 2020 | 7:08 pm

नई दिल्ली: दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने मंगलवार को सात घंटे के लंबे इंतजार के बाद नामांकन दाखिल कर दिया। उन्होंने दिल्ली के जामनगर हाउस में नई दिल्ली सीट से अपना नामांकन दाखिल किया है। सीएम केजरीवाल ने ट्वीट कर बताया था वे अपना नामांकन दाखिल करने के लिए इंतजार कर रहे हैं।

सीएम केजरीवाल ने कहा था कि पर्चा दाखिल करने का इंतजार कर रहा हूं, मेरा टोकन नंबर 45 है। यहां पर्चा भरने के लिए कई लोग लाइन में लगे हैं, मुझे बहुत खुशी है कि लोकतंत्र के इस पर्व में कई लोग शिरकत कर रहे हैं।

तो वहीं पार्टी के वरिष्ठ नेता और उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने बीजेपी पर हमला बोला। उन्होंने कहा कि बीजेपी वालो! चाहे जितनी साजिश कर लो अरविंद केजरीवाल को न नॉमिनेशन भरने से रोक पाओगे और न ही तीसरी बार दिल्ली का मुख्यमंत्री बनने से… तुम्हारी साजिशें कामयाब नहीं होंगी।’

अरविंद केजरीवाल कई घंटे पहले नामांकन भरने के लिए रिटर्निंग अधिकारी के दफ्तर जामनगर हाउस पहुंच गए थे। उन्होंने रिटर्निंग अधिकारी के दफ्तर में बैठकर अपनी पारी का सात घंटे इंतजार किया। केजरीवाल जब जामनगर हाउस पर्चा भरने के लिए पहुंचे तो कुछ लोगों ने उनके खिलाफ नारेबाजी भी की। इसके बाद यहां की सुरक्षा बढ़ा दी गई।

यह भी पढ़ें…तबाही का खौफनाक मंजर: यहां नोवेल कोरोना वायरस का प्रकोप

बताया जा रहा है कि केजरीवाल जब नामांकन के लिए पहुंचे, तो निर्दलीय उम्मीदवारों ने उन्हें सीधे एंट्री देने पर विरोध जताया। रिपोर्ट्स के मुताबिक ये उम्मीदवार वहां काफी देर से मौजूद थे। उम्मीदवारों ने इसके खिलाफ नारेबाजी की और पर्चे उछाले।

बता दें कि केजरीवाल सोमवार को भी रोड शो के साथ पर्चा दाखिल करने पहुंचे थे, लेकिन लेट हो जाने की वजह से वे नामांकन दाखिल नहीं कर पाए थे। एक उम्मीदवार ने सीएम केजरीवाल का अपनी बारी का इंतजार किए बिना नामांकन के लिए अंदर दाखिल होने का आरोप लगाया।

यह भी पढ़ें…अमित शाह की हुंकार, जितना चाहे विरोध कर लो वापस नहीं होगा CAA

उन्होंने कहा कि अरविंद केजरीवाल का टोकन नंबर 45 है और वह आते ही अंदर चले गए। जब बढ़ने लगा तो ऑब्जर्वर को बुलाया गया। इसके बाद जाकर मामला ठंडा हुआ।

आप ने लगाया आरोप

आप नेता सौरभ भारद्वाज ने कहा कि लगभग 35 उम्मीदवार रिटर्निंग ऑफिस में बैठे हैं। इनके पास पर्याप्त पेपर भी नहीं है। आप नेता ने आरोप लगाया कि इन उम्मीदवारों के पास 10 प्रस्तावक भी नहीं है। ये सभी फोन कर अपने आवेदकों को बुला रहे हैं, इनका कहना है कि इनका पर्चा भरे जाने के बाद ही वे सीएम को पर्चा भरने देंगे।

यह भी पढ़ें…फिर सुप्रीम कोर्ट पहुंचा अयोध्या मामला, ये पार्टी दायर करेगी क्यूरेटिव पिटीशन

तो वहीं केजरीवाल ने कहा कि वह दिल्ली में स्कूलों, अस्पतालों की हालत सुधारने की बात कर रहे हैं, लेकिन विपक्षी पार्टियां और नेता उन्हें हराने की बात करते हैं। उन्होंने कहा कि पहली बार ऐसा है कि दिल्ली में इस तरह के गठबंधन देखने को मिल रहे हैं। सारी पार्टियों का मकसद एक है कि किस तरह केजरीवाल को हराया जाए और मेरा मकसद है कि किस तरह भ्रष्टाचार पर रोक लगाकर दिल्ली को आगे बढ़ाया जाए।

अरविंद केजरीवाल के खिलाफ नई दिल्ली सीट से बीजेपी ने अंतिम समय में सुनील यादव को तो कांग्रेस ने रोमेश सब्बरवाल को टिकट दिया है।

गौरतलब है कि कि 70 सीटों वाली दिल्ली विधानसभा चुनाव के लिए 8 फरवरी को मतदान है। 11 फरवरी को नतीजे आएंगे। यहां मुख्य मुकाबला सत्ताधारी आम आदमी पार्टी, बीजेपी और कांग्रेस के बीच है।