दिल्ली चुनाव से पहले BJP को तगड़ा झटका! SAD ने CAA पर किया ये बड़ा ऐलान

दिल्ली विधानसभा चुनाव में एनडीए में शामिल शिरोमणि अकाली दल ने बीजेपी का साथ देने से मना कर दिया है। शिरोमणि अकाली दल ने दिल्ली में विधानसभा चुनाव लड़ने से मना कर दिया है। पार्टी ने इसके पीछे की वजह नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) को बताया है।

नई दिल्ली: दिल्ली विधानसभा चुनाव में एनडीए में शामिल शिरोमणि अकाली दल ने बीजेपी का साथ देने से मना कर दिया है। शिरोमणि अकाली दल ने दिल्ली में विधानसभा चुनाव लड़ने से मना कर दिया है। पार्टी ने इसके पीछे की वजह नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) को बताया है।

पार्टी के नेता मनजिंदर सिंह सिरसा ने सोमवार को कहा कि हमने टिकट या सीट को लेकर नहीं बल्कि नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) को लेकर ये फैसला लिया है। उन्होंने कहा कि गठबंधन पहले की तरह चलता रहेगा, लेकिन हम दिल्ली में चुनाव नहीं लड़ेंगे। विधायक मनजिंदर सिंह सिरसा ने कहा कि दिल्ली में पार्टी का स्टैंड वही है जो सुखबीर सिंह बादल का है। सीएए में सभी धर्मों को शामिल करना चाहिए।

मनजिंदर सिंह सिरसा ने प्रेस कांफ्रेंस में कहा कि शिरोमणि अकाली दल के तौर पर हमारा बीजेपी के साथ पुराना गठबंधन है, लेकिन बीते दिनों हमारे नेता सरदार सुखबीर बादल के सीएए पर स्टैंड को देखते हुए हमने चुनाव नहीं लड़ने का फैसला किया है। उन्होंने कहा कि शिरोमणी अकाली दल का साफ मानना है, हम धर्म के आधार पर भेदभाव नहीं होने देंगे। हम सीएए का समर्थन करते थे पर किसी धर्म के खिलाफ नहीं हो सकते।

यह भी पढ़ें…कभी स्कूटर पर साथ घूमते थे नड्डा और मोदी, पार्टी के लिए किया ये बड़ा काम

राजौरी गार्डन विधानसभा सीट से बीजेपी के टिकट पर चुनाव जीतकर विधायक बन चुके सिरसा ने कहा कि बीजेपी के साथ हमारी बैठक में हमसे सीएए पर रुख पर फिर से विचार करने को कहा गया, लेकिन हमने ऐसा करने से इंकार कर दिया।

यह भी पढ़ें…छात्रों से बोले PM मोदी, समय की चोरी करता है फोन, दी ये बड़ी सलाह

सिरसा ने कहा कि शिरोमणि अकाली दल का मानना है कि एनआरसी को नहीं लागू किया जाना चाहिए। हमने सीएए का स्वागत किया, लेकिन हम नहीं चाहते कि किसी एक धर्म को इससे बाहर रखा जाए। बता दें कि सोमवार को बीजेपी ने दिल्ली चुनाव के अपने साथियों का भी ऐलान किया है। इसमें भी शिरोमणि अकाली दल का नाम शामिल नहीं किया गया था।

यह भी पढ़ें…IMF ने भारत की विकास दर का अनुमान घटाया, दुनिया पर पड़ेगा असर

दिल्ली बीजेपी ने दो सीट जनता दल यूनाइटेड (जेडीयू) और एक सीट लोक जनशक्ति पार्टी(एलजेपी) को देने का फैसला किया है। दिल्ली में अकाली दल के साथ लंबे समय से बीजेपी का गठबंधन रहा है, लेकिन इस बार टूट गया है। दिल्ली में संगम विहार और बुराड़ी सीट से जेडीयू का कैंडिडेट चुनाव लड़ेगा। वहीं एलजेपी का उम्मीदवार सीमापुरी इलाके से चुनाव लड़ेगा।