अंबानी ने किया ऐसा ऐलान, WALMART और AMAZON को लगेगा झटका

नई दिल्ली : रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड (आरआईएल) के चेयरमैन और प्रबंध निदेशक मुकेश डी.अंबानी ने गुरुवार को कहा कि बीते 22 महीनों में रिलायंस जियो के ग्राहकों की संख्या दोगुना बढ़कर 21.5 करोड़ हो गई है और कंपनी जल्द बहु-चर्चित फाइबर-टु होम ब्रांडबैंड सेवा जियोगीगाफाइबर शुरू करने जा रही है।

मुकेश ने आरआईएल की 41वीं सालाना आम बैठक (एजीएम) में शेयरधारकों को संबोधित करते हुए कहा,”भारत अपनी अर्थव्यवस्था के आकार को 2025 तक दोगुना करने की ओर अग्रसर है और मैं आपको विश्वास दिलाता हूं कि इस अवधि में देश की अर्थव्यवस्था का आकार दोगुने से भी बड़ा हो जाएगा।”अंबानी ने कहा कि  RIL ऑनलाइन और रि‍टेल, दोनों को मि‍लाकर एक नया प्‍लेटफॉर्म बनाने की योजना पर काम कर रही है.

इससे यह साफ है कि वॉलमार्ट जिसने हाल ही भारत की ऑनलाइन शॉपिंग कंपनी फ्लिपकार्ट का अधिग्रहण किया है और अमेजन जिसने भारत में कारोबार विस्तार की योजना बनाई है, दोनों के सामने एक चुनौती आने वाली है. मुकेश अंबानी ने कंपनी की इस योजना के बारे में अपने शेयर धारकों को गुरुवार की बैठक में जानकारी दी.

Image result for mukesh ambani

इस प्‍लेटफॉर्म को बनाने में ग्रुप की रि‍लायंस रि‍टेल लि. और रि‍लायंस जियो इंफोकॉम लि. शामि‍ल होंगी. कंपनी की फिक्स लाइन ब्रॉडबैंड सेवा जियोगीगाफाइबर का एलान करते हुए अंबानी ने कहा, “अब हम फाइबर कनेक्टिविटी को देश के 1,100 शहरों में घरों, व्यापारियों, छोटे और मझोले उद्यमों और बड़े उद्यमों तक लेकर जाएंगे।”

स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर 15 अगस्त से इसके लिए रजिस्ट्रेशन शुरू होगा। लोग जियोगीगाफाइबर के लिए माईजियो और जियो डॉट कॉम दोनों से रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं। ईशा अंबानी और आकाश अंबानी ने जियोगीगाफाइबर से पर्दा उठाया।

Image result for mukesh ambaniउन्होंने कहा कि होम्स जियोगीगाफाइबर से अभिप्राय टीवी स्क्रीन पर अल्ट्रा एचडी एंटरटेनमेंट से है जिसके जरिये लीविंग रूम से कई लोगों के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग, वॉइस एक्टिवेटिड वर्चुअल एसिस्टेंट, वर्चुअल रियलटी गेमिंग, डिजिटल शॉपिंग में लीन होने का अनुभव मिल सकता है। कंपनी के खुदरा कारोबार के बारे में बताते हुए अंबानी ने कहा कि कंपनी ‘हाइब्रिड, ऑनलाइन से ऑफलाइन नए वाणिज्यिक मंच तैयार करने में’ विकास का एक बड़ा अवसर देखती है।

उन्होंने कहा कि नए वाणिज्य प्लेटफॉर्म को उनकी ऑफलाइन रिटेल इकाई और ऑनलाइन टेक्नोलॉजी प्लेटफॉर्म के समायोजन के जरिए तैयार किया जाएगा। अंबानी ने एजीएम में कहा, “क्योंकि रिलायंस टेक्नोलॉजी प्लेटफॉर्म कंपनी के रूप में परिवर्तित हो रही है, हम हाइब्रिड ऑनलाइन से ऑफलाइन नए वाणिज्यिक मंच को तैयार करने में एक बड़ा विकास अवसर देखते हैं।”

Related imageअंबानी के अनुसार, यह मंच रिलायंस रिटेल स्टोर्स के 35 करोड़ उपभोक्ता और जियो के 21.5 करोड़ प्रयोगकर्ताओं को एक साथ लाएगा। उन्होंने कहा कि उनका लक्ष्य देशभर में पांच करोड़ गीगा-होम्स और तीन करोड़ छोटे व्यापारियों और दुकानदारों को जोड़ने का है जिनको समीप में बाजार की सुविधा प्राप्त हो।

अंबानी ने कहा, “इसलिए, हम विशिष्ट रूप से भारत-इंडिया जोड़ो इंटरप्राइज के तहत भौतिक और डिजिटल व्यापार स्थल (मार्केटप्लेस) को जोड़ पाएंगे।”

अंबानी ने कहा, “हमारा नया वाणिज्यिक मंच अमीर हो या गरीब, घर में हो या बाहर सभी ग्राहकों को सरल खरीदारी की प्रथा से बदलकर व्यक्तिगत रूप से तन्मय होकर खरीदारी करने का अनुभव प्राप्त करने में समर्थ बनाते हुए भारत में खुदरा कारोबार को दोबारा परिभाषित करेगी।”

Image result for mukesh ambaniउन्होंने कहा कि यह संवर्धित वास्तविकता (एआर), होलोग्राफिक प्रौद्योगिकी और आभासी वास्तविकता (वीआर) से संभव होगा। उन्होंने कहा कि कंपनी का डिजिटल कनेक्टिविटी प्लेटफॉर्म एक फाउंडेशन के रूप में काम करता है जिसपर नये वाणिज्यिक प्लेटफॉर्म, मीडिया और मनोरंजन का प्लेटफॉर्म, शिक्षा का प्लेटफॉर्म और स्वास्थ्य सेवा व कृषि संबंधी प्लेटफॉर्म बनाए जा रहे हैं।

    Tags: