AKTU के फाइनल ईयर के 50 हजार स्टूडेंट्स बिना स्क्रूटनी के होंगे पास

Published by Published: July 10, 2016 | 4:17 pm
Modified: July 10, 2016 | 4:41 pm
aktu-newstrack

लखनऊ : डॉ एपीजे अब्दुल कलाम टेक्निकल यूनिवर्सिटी (एकेटीयू) के फाइनल ईयर के 50 हजार स्टूडेंट्स अब बिना किसी स्क्रूटनी और रीइवैल्युएशन के पास होंगे।

50 हजार छात्र बिना स्क्रूटनी के होंगे पास
-एकेटीयू में शनिवार को परीक्षा समिति की बैठक हुई।
-इसमें नई ग्रेस मार्क्स की प्रणाली पर मुहर लगा दी गई।
-इसके तहत अब एक सब्जेक्ट में अधिकतम 15 और पूरे कोर्स के दौरान 40 ग्रेस मार्क्स एक साथ दिए जा सकेंगे।
-इस फैसले से फाइनल ईयर के लगभग 50 हजार स्टूडेंट्स बिना स्क्रूटनी और री-इवैल्युएशन के पास हो जाएंगे।

प्रैक्टिकल छूटे तो मिलेगा दोबारा मौका
-परीक्षा समिति की बैठक में यह भी निर्णय लिया गया कि अब जिन छात्रों के प्रैक्टिकल एग्जाम छूट जाएंगे उन्हें दोबारा मौका मिलेगा।
-ऐसे छात्र रिटेन टेस्ट के बाद और रिजल्ट जारी होने से पहले 10 हजार रुपए फीस देकर अपनी प्रैक्टिकल परीक्षा करवा सकेंगे।
-यूनिवर्सिटी का कहना है कि फीस इसलिए ज्यादा रखी गई है ताकि प्रैक्टिकल पूरी प्रक्रिया के तहत हो और इसका कोई अनुचित लाभ न उठा सके ।
-परीक्षा समिति ने इस बार स्टूडेंट्स का पासिंग क्रेडिट भी कम कर दिया है।

-पिछले सालों तक स्टूडेंट्स को कोर्स में 60 क्रेडिट लाने होते थे। तभी वह दूसरी क्लास में प्रमोट हो पाता था।
-समिति ने इसे घटाकर 50 कर दिया है।
-स्टूडेंट्स को साल में पास होने के लिए कुल 32 क्रेडिट लाने होते हैं लेकिन नई व्यवस्था के तहत अब सिर्फ 27 क्रेडिट ही लाने होंगे।

अटेंडेंस ना भेजने पर 10 लाख जुर्माना
-परीक्षा समिति ने फैसला लिया है कि सभी संबद्ध कॉलेज अब हर महीने के अंत में कॉलेज के स्टूडेंट्स की अटेंडेस ऑनलाइन यूनिवर्सिटी को भेजेंगे।
-कॉलेज अपनी वेबसाइट पर भी यह अटेंडेंस अपलोड करें।
-ऐसा नहीं करने से कॉलेजों पर एकेटीयू ने 10 लाख रुपये का जुर्माना लगाने की घोषणा की है।

फेल छात्रों को एक और मौका
एकेटीयू कोर्स की निर्धारित समय बीतने के बाद भी जो छात्र पास नहीं हो पाए हैँ, उन्हें एक और अवसर दिया जाएगा।
इसके लिए वह एक और एग्जाम देंगे इससे उनके पास होने का पूरा मौका मिलेगा।