×

IIT दिल्‍ली: जल्द ही करेगा वर्कशॉप आयोजित, बताएंगे गौ उत्‍पादों के फायदे

इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी दिल्ली (IIT-D) में जल्द ही एक वर्कशॉप आयोजित करेगा। यह वर्कशॉप 'साइंटिफिक वेलिडेशन ऑफ पंचगव्‍य' की थीम पर होगा। जिसमें गाय की पांच चीजों जैसे-दूध, दही, घी, गोबर और मूत्र की उपयोगिता के बारे में बताया जाएगा। आईआईटी दिल्ली में यह वर्कशॉप 2 दिन तक चलेगी। इस वर्कशॉप में 5 विषयों पर चर्चा होगी।

priyankajoshi

priyankajoshiBy priyankajoshi

Published on 17 Dec 2016 1:24 PM GMT

IIT दिल्‍ली: जल्द ही करेगा वर्कशॉप आयोजित, बताएंगे गौ उत्‍पादों के फायदे
X
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

नई दिल्ली : इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी दिल्ली (IIT-D) में जल्द ही एक वर्कशॉप आयोजित करेगा। यह वर्कशॉप 'साइंटिफिक वेलिडेशन ऑफ पंचगव्‍य' की थीम पर होगा। जिसमें गाय की पांच चीजों जैसे-दूध, दही, घी, गोबर और मूत्र की उपयोगिता के बारे में बताया जाएगा।आईआईटी दिल्ली में यह वर्कशॉप 2 दिन तक चलेगा। इस वर्कशॉप में 5 विषयों पर चर्चा होगी।

ये भी पढ़ें... IIT ADMISSION: जेईई एडवांस्‍ड 2017 का परीक्षा शेड्यूल जारी

बता दें कि सेंटर फॉर रूरल डेवलेपमेंट एंड टेक्नोलॉजी (CRDT) और आईआईटी दिल्ली मिलकर 'साइटिंक वेलिडेशन एंड रिसर्च ऑन पंचगव्य' को आयोजित कर रहा है। उन्‍नत भारत अभियान भी इसमें सहभागी है जो ह्यूमन रिसोर्स मिनिस्ट्री (HRD) के तहत चलाया जा रहा है।

ये भी पढ़ें... IIT दिल्‍ली: जल्द ही करेगा वर्कशॉप आयोजित, बताएंगे गौ उत्‍पादों के फायदे

कई वैज्ञानिक लेंगे भाग

-वैज्ञानिक और प्रोफेसर्स पंचगव्य और उससे संबंधित उत्पादों पर डिसकशन होगा।

-इसमें कई 125 से अधिक साइंटिस्ट हिस्सा लेंगे।

-इसमें नेशनल इंस्‍टीट्यूट ऑफ टेक्‍नोलॉजी (NIT) और अन्‍य रिसर्च लेब्रोट्रीज भी शामिल होगी

-इस चर्चा मेंं उत्पादों को ग्रामीण विक‍ास, मेडिसिन और खाद्य पदार्थों में उपयोगिता के बारे में बताया जाएगा।

ये भी पढ़ें... IIT JAM : रजिस्ट्रेशन की तिथि खत्म, 10 JAN 2017 तक जारी होगा एडमिट कार्ड

क्या कहना है आईआईटी के प्रोफेसर का?

-आईआईटी दिल्ली के एक प्रोफेसर का कहना है कि अब पंचगव्य और इससे संबंधित उत्पाद साइंटिफिक सर्टिफिकेशन जरूरी हो गया है।

-उनका कहना है कि 'हमारा प्रयास होगा कि इन उत्पादों को देखे जिससे यह पता लग सके कि वह ठीक है या नहीं।'

-जिससे ये उत्पाद एक बार फिर सर्टिफाई होने पर और लोकप्रिय हो जाएंगे।

priyankajoshi

priyankajoshi

इन्होंने पत्रकारीय जीवन की शुरुआत नई दिल्ली में एनडीटीवी से की। इसके अलावा हिंदुस्तान लखनऊ में भी इटर्नशिप किया। वर्तमान में वेब पोर्टल न्यूज़ ट्रैक में दो साल से उप संपादक के पद पर कार्यरत है।

Next Story