Career Tips : सफलता का कैलेंडर बनाकर बढ़ाएं प्रोडक्टिविटी

नई दिल्ली : जीवन हो या फिर बिजनेस हो, हर कोई सफल होना चाहता है। सफलता के लिए एक अच्छा शेड्यूल होना जरूरी है, लेकिन कुछ लोग इसका पालन नहीं कर पाते हैं। अगर आप अपने समय को सही और प्रभावी ढंग से शेड्यूल नहीं करते हैं तो न सिर्फ आपके कई काम अधूरे रह जाते हैं बल्कि जो काम आपने पूरे किए हैं, वह भी सही ढंग से नहीं हो पाते। इस वजह से आपका दिमाग कई चीजों के बारे में एक साथ सोचता है और आप उन सबमें उलझकर रह जाते हैं। वहीं शेड्यूल बनाने से आप फोकस रह पाते हैं। आप अपने बिजनेस के लिए एक मास्टर कैलेंडर बनाकर सफल हो सकते हैं। इसमें आप अपनी सभी महत्वपूर्ण तारीखें, काम और इवेंट्स शामिल कर सकते हैं। इसलिए सफल लोग अपना कैलेंडर बनाते हैं और उसका पालन करते हैं। अगर आप भी सफल होना चाहते हैं तो नए साल में खुद मास्टर कैलेंडर बनाएं और नए साल में सफलता के शिखर तक जाएं। आज जानते हैं कि किस तरह सफलता कैलेंडर बनाएं।

ये भी पढ़ें : मिशन एडमिशन : आईआईटी गांधीनगर से करें एमए की पढ़ाई

खास कामों की सूची बनाएं

सफलता का कैलेंडर बनाने के लिए सबसे पहले अपने खास और बार-बार होने वाले कामों की एक लिस्ट बना लें। साथ ही जो तारीखें बार-बार आपके लिए जरूरी होती हैं, उन्हें भी इस लिस्ट में शामिल कर लें। इस लिस्ट में सिर्फ अपने बिजनेस से संबंधित काम और तारीखें ही शामिल करें। इस लिस्ट में आप क्लाइंट कंसलटेशन, टीम मीटिंग्स, ईमेल या फोन के रिप्लाई का समय, मार्केटिंग, नेटवॄकग, प्रोडक्ट डेवलपमेंट, जनरल एडमिनिस्ट्रेशन से संबंधित कामों को जोड़ सकते हैं। अगर आपको अपनी निजी जिंदगी के लिए मास्टर कैलेंडर बनाना है तो आप अपने परिवार के लिए समय, खाने के समय, कसरत, रीडिंग आदि के समय को जोड़ सकते हैं। एक बार लिस्ट बनने के बाद आप उन्हें अपने कैलेंडर में रख सकते हैं और अपना शेड्यूल बना सकते हैं। इससे आपको काम को लेकर तनाव नहीं होगा।

टाइम मैनेजमेंट पर ध्यान दें

सफल होने के लिए समय सबसे महत्वपूर्ण होता है। कोई भी काम करने में टाइम मैनेजमेंट का खास ध्यान देना चाहिए। कामों और तारीखों की लिस्ट बनाने के बाद आप उनके लिए समय सीमा तय कर सकते हैं। जब आपको किसी काम की समय सीमा स्पष्ट होगी तब आप सही ढंग से उस काम को कर सकेंगे और आपकी प्रोडक्टिविटी भी बढ़ेगी। इससे आप व्यवस्थित ढंग से अपना काम कर सकते हैं और आपका ज्यादा समय भी खर्च नहीं होता।

ये भी पढ़ें : भारतीय वायु सेना में आवेदन कर बनाएं बेहतर अपना कॅरियर

अपने लिए निकालें टाइम

अगर आप लगातार मीटिंग्स रखते हैं तो आप विफलता की ओर कदम बढ़ा रहे होते हैं। काम और मीटिंग्स आदि के बीच में खाने, आराम करने आदि के लिए समय निकालना चाहिए। मीटिंग्स के बीच में आधा घंटे का समय बफर टाइम के लिए काफी होता है। याद रखें कि अपने बफर टाइम को सिर्फ आराम के लिए ही रखें और उस समय में कोई और काम शेड्यूल न करें ताकि आप रिलेक्स कर सकें। इससे आपको आराम मिलता है और आप तनाव से बचाव कर पाते हैं। आप कुछ नया सोच सकते हैं। यह सफलता के लिए बहुत जरूरी होता है।

जरूरी तारीखों को मार्क करें

किसी भी काम को करने के लिए खास समय होता है। अगर ऐसा है तो इन तारीखों को पहले से ही मार्क कर लें ताकि इनके लिए अलग से समय निकाला जा सके। जैसे आपकी किसी क्लाइंट के साथ जरूरी मीटिंग है और आप चाहते हैं कि आप उस तारीख और समय को भूलें नहीं। इसके लिए आप इस तारीख को कैलेंडर में अलग कलर, बोल्ड लेटर्स में लिख सकते हैं। इससे यह तारीख अलग से नजर आएगी और आपको मीटिंग याद रहेगी। आप सभी जरूरी तारीखों के साथ ऐसा कर सकते हैं और समय पर जरूरी काम कर सकते हैं। ऐसा करने से आपका समय बचने के साथ ही आपको काम करने में आसानी होगी।

ये भी पढ़ें : किसी बात से जब अचानक चली जाये जॉब तो अपनाएं ये तरीके

सामने रखें कैलेंडर

आप अपना शेड्यूल जब भी तय करने के लिए काम शुरू करें तो अपना कैलेंडर बना लें और उसे ऐसी जगह रखना चाहिए जिससे वह हमेशा आपकी नजरों के सामने रहे। आप उसे ऑफिस में किसी महत्वपूर्ण जगह पर लगा सकते हैं ताकि आपकी और पूरी टीम की नजर उस पर पड़ती रहे और सबको अपना काम याद आता रहे। अगर आप अपने कैलेंडर को ऐसी जगह पर नहीं रखेंगे जहां वह सबकी नजरों में रहे तो हो सकता है कि आप अधिकतर कामों और तारीखों के बारे में भूल जाएं जिस वजह से वे अधूरे रह जाएं और आपको बिजनेस में नुकसान उठाना पड़े। साथ ही बीच-बीच में अपनी टीम को अपने प्रोजेक्ट को निर्धारित समय में पूरा करने के लिए प्रेरित करें। टीम को मीटिंग में समय से अवगत भी कराते रहें।

सफलता कैलेंडर के बारे में टीम को बताएं

अगर आप किसी कंपनी या प्रोजेक्ट पर काम कर रहे हैं तो अपने मास्टर यानी सफलता कैलेंडर के बारे में हर किसी को अवगत कराएं। जब टीम को पता चलेगा तो ही वे इस काम में आपकी मदद करेंगे। ऐसा करने से आप अपने एम्प्लॉइज को सभी डेडलाइन्स और जरूरी कामों के बारे में बता पाते हैं। साथ ही आपको अकेले सब चीजों के बारे में याद रखने की जरूरत नहीं पड़ती। इससे बिजनेस को फायदा होता है।

ये भी पढ़ें : कॅरियर : जेएन टाटा एंडोवमेंट फेलोशिप के लिए करें आवेदन

टीम वर्क पर ध्यान दें

सफलता एक व्यक्ति नहीं पा सकता है। इसके लिए आपको टीम के साथ मिलकर काम करना होगा। इसके लिए आपको सहनशील होना चाहिए। सहनशील व्यक्ति ही टीम के साथ काम कर सकता है। माना कि आपने सब कामों के लिए शेड्यूल बना रखा है, लेकिन बहुत बार ऐसा भी होता है जब आपको अपने शेड्यूल में बदलाव करना होता है। इसलिए आपको कैलेंडर बनाते समय भी लचीला रहना चाहिए।

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App