×

LU: 11 में से 7 आरोपी छात्रों का निष्‍कासन रद्द, नए वीसी ने दिया मौका

लखनऊ यूनिवर्सिटी (LU) के कैलाश हॉस्‍टल समेत अन्‍य मामलोंं में प्रकरण में चंद महीनों पहले 11 छात्र निष्‍कासित हुए थे। उन 11 में से 7 छात्रों से शपथ पत्र लेकर नवनियुक्‍त वाइस चांसलर प्रोफेसर एसपी सिंह ने सोमवार को निष्‍का‍सन रद्द कर दिया। वाईस चांसलर की अध्‍यक्षता वाली तीन सदस्‍यीय समि‍ति ने दोषी छात्रों के भविष्‍य काे देखते हुए उन्‍हें एक मौका देने का निश्‍चय किया हैै।

priyankajoshi

priyankajoshiBy priyankajoshi

Published on 28 Nov 2016 11:56 AM GMT

LU: 11 में से 7 आरोपी छात्रों का निष्‍कासन रद्द, नए वीसी ने दिया मौका
X
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

लखनऊ : लखनऊ यूनिवर्सिटी (LU) के कैलाश हॉस्‍टल समेत अन्‍य मामलोंं में प्रकरण में चंद महीनों पहले 11 छात्र निष्‍कासित हुए थे। उन 11 में से 7 छात्रों से शपथ पत्र लेकर नवनियुक्‍त वाइस चांसलर प्रोफेसर एसपी सिंह ने सोमवार को निष्‍का‍सन रद्द कर दिया।

वाईस चांसलर की अध्‍यक्षता वाली तीन सदस्‍यीय समि‍ति ने दोषी छात्रों के भविष्‍य काे देखते हुए उन्‍हें एक मौका देने का निश्‍चय किया हैै।

छात्रों से शपथ पत्र लेकर दूसरा मौका मिला

-वाईस चांसलर प्रोफेसर एसपी सिंह ने बताया कि एलयू के बहुचर्चित कैलाश हॉस्‍टल प्रकरण से लेकर अन्‍य अनुशासनहीनता के मामलों में आरोपी 11 स्‍टूडेंटस ने निष्‍कासन काेे रद्द करने की मांग की थी।

-इस पर हमारी अध्‍यक्षता में प्रॉक्‍टर प्रोफेसर निशी पांडे और लीगल एडवाइजर की कमेटी ने इस मांग पर विचार किया।

-सोमवार को कमेटी की बैठक में निष्‍कासन को रदद करने का निर्णय लिया गया है।

-इन स्‍टूडेंटस के भविष्‍य को देखते हुए यह निर्णय लिया गया है।

इन छात्रों की हुई वापसी

- प्रॉक्‍टर प्रोफेसर निशी पांडे ने बताया कि कुल 7 स्‍टूडेंटस का निष्‍कासन रद्द किया गया है।

- जिन छात्रों का निष्‍कासन रद्द हुआ है उनमें अविनाश राय, शुभम राय, अमित कुमार तिवारी, प्रणब मिश्रा, विनय विक्रम, विश्‍व प्रताप सिंह विशू और राहुल सिंह शामिल हैं।

- सबने भविष्‍य में अनुशासनहीनता न करने का शपथ पत्र दिया है।

- 11 में से दो स्‍टूडेंट अमित राज और आनंद सिंह का निष्‍कासत रदद नहीं हुआ है।

- नीरज शुक्‍ला और विवेक सिंह के निष्‍कासन रदद करने को लेकर भी कोई फैसला नहीं हुआ है।

- अनुराग तिवारी का मामला अभी विचाराधीन है और इस पर निर्णय होना है।

आरोपी छात्रों का इन मामलों में हुआ था निष्‍कासन

- एलयू पीआरओ प्रोफेसर एन के पांडे ने बताया कि अलग-अलग मामलों में कई छात्रों का निष्‍कासन किया गया था।

-इसमें से 7 स्‍टूडेंटस से अंडरटेकिंग लेकर उनके निष्‍कासन को रद्द किया गया है।

- नए वीसी के आने पर छात्रों ने निष्‍कासन रद्द करने की मांग की थी, जिस पर वाईस चांसलर ने निर्णय लिया है।

-एलयू के कैलाश हॉस्‍टल समेत अन्‍य मामलोंं में प्रकरण में चंद महीनों पहले निष्‍कासित हुए।

-11 स्‍टूडेंटस में से 7 छात्रों का निष्‍का‍सन नवनियुक्‍त वाइस चांसलर प्रोफेसर एसपी सिंह ने सोमवार को रदद कर दिया।

-वाईस चांसलर की अध्‍यक्षता वाली तीन सदस्‍यीय समि‍ति ने दोषी छात्रों के भविष्‍य काे देखते हुए उन्‍हें एक मौका देने का निश्‍चय किया हैै।

इन मामलों में हुई थी कार्यवाही

-गौरतलब है कि इसी साल 15 मार्च को कैलाश हॉस्‍टल में देर रात बवाल हुआ।

-न्‍यू कैंपस में 27 मई को कैंटीन संचालक से मारपीट के बाद अराजकता की।

-2 सितंबर को छात्र गुटों में टकराव हुआ।

-मैनेजमेंट ब्‍वायज हॉस्‍टल में रैगिंग 23 सितंबर को हुई।

-एलयू कैंपस में फायरिंग के मामले कई स्‍टूडेंटस पर कार्यवाही हुई थी।

स्‍टूडेंटस को मिला दूसरा मौका

-वाईस चांसलर प्रोफेसर एसपी सिंह ने बताया कि लखनऊ यूनिवर्सिटी के बहुचर्चित कैलाश हॉस्‍टल प्रकरण से लेकर अन्‍य अनुशासनहीनता के मामलों में आरोपी 11 स्‍टूडेंटस ने निष्‍कासन काेे रदद करने की मांग की थी।

-इस पर हमारी अध्‍यक्षता में प्रॉक्‍टर प्रोफेसर निशी पांडे और लीगल एडवाइजर की कमेटी ने इस मांग पर विचार किया।

-सोमवार को कमेटी की बैठक में निष्‍कासन को रदद करने का निर्णय लिया गया है।

-11 में से 7 स्‍टूडेंटस से शपथ पत्र लेकर उनके निष्‍कासन को रदद किया गया है।

- इन स्‍टूडेंटस के भविष्‍य को देखते हुए यह निर्णय लिया गया है।

इन छात्रों की हुई वापसी

-प्रॉक्‍टर प्रोफेसर निशी पांडे ने बताया कि कुल 7 स्‍टूडेंटस का निष्‍कासन रदद किया गया है।

-जिन स्‍टूडेंटस का निष्‍कासन रदद हुआ है उनमें अविनाश राय, शुभम राय, अमित कुमार तिवारी, प्रणब मिश्रा, विनय विक्रम, विश्‍व प्रताप सिंह विशू और राहुल सिंह शामिल हैं।

-सबने भविष्‍य में अनुशासनहीनता न करने का शपथ पत्र दिया है।

-11 में से दो स्‍टूडेंट अमित राज और आनंद सिंह का निष्‍कासत रदद नहीं हुआ है।

-नीरज शुक्‍ला और विवेक सिंह के निष्‍कासन रदद करने को लेकर भी कोई फैसला नहीं हुआ है।

-अनुराग तिवारी का मामला अभी विचाराधीन है और इस पर निर्णय होना है।

इन मामलों में हुआ था आरोपी छात्रों का निष्‍कासन

- एलयू पीआरओ प्रोफेसर एन के पांडे ने बताया कि अलग- अलग मामलों में कई स्‍टूडेंटस का निष्‍कासन किया गया था।

-इसमें से 7 स्‍टूडेंटस से अंडरटेकिंग लेकर उनके निष्‍कासन को रदद किया गया है।

-गौरतलब है कि इसी वर्ष 15 मार्च को कैलाश हॉस्‍टल में देर रात बवाल करने, 27 मई को न्‍यू कैंपस में कैंटीन संचालक से मारपीट के बाद अराजकता, 2 सितंबर को छात्र गुटों में टकराव, 23 सितंबर को मैनेजमेंट ब्‍वायज हॉस्‍टल में रैगिंग और एलयू कैंपस में फायरिंग के मामले कई स्‍टूडेंटस पर कार्यवाही हुई थी।

-नए वीसी के आने पर छात्रों ने निष्‍कासन रदद करने की मांग की थी, जिस पर वाईस चांसलर ने निर्णय लिया है। ।

priyankajoshi

priyankajoshi

इन्होंने पत्रकारीय जीवन की शुरुआत नई दिल्ली में एनडीटीवी से की। इसके अलावा हिंदुस्तान लखनऊ में भी इटर्नशिप किया। वर्तमान में वेब पोर्टल न्यूज़ ट्रैक में दो साल से उप संपादक के पद पर कार्यरत है।

Next Story