×

माइक्रोसॉफ्ट इनोवेटिव एजुकेटर दुनिया भर में बने 238 शिक्षक और शिक्षिकाएं

priyankajoshi

priyankajoshiBy priyankajoshi

Published on 25 May 2017 1:25 PM GMT

माइक्रोसॉफ्ट इनोवेटिव एजुकेटर दुनिया भर में बने 238 शिक्षक और शिक्षिकाएं
X
दुनिया को नए डिजिटल जिनेवा संधि की जरूरत : माइक्रोसॉफ्ट अध्यक्ष
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

नई दिल्ली : माइक्रोसॉफ्ट इनोवेटिव एजुकेटर प्रोग्राम तहत दुनिया भर में शिक्षा क्षेत्र के ऐसे दूरदर्शी शिक्षकों को सम्मानित करता है, जो चीजों को बेहतर ढंग से समझाने लिए टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल कर रहे हैं और अपने सहकर्मियों के लिए प्रेरणा बन रहे हैं। इस प्रोग्राम के तहत पिछले साल जिनमें भारत से 238 माइक्रोसॉफ्ट इनोवेटिव एजुकेटर (एमआईई) शामिल किए गए।

छात्रों को सीखनें में मिलती है मदद

कंपनी ने एक बयान में कहा कि अभी माइक्रोसॉफ्ट की एमआईई ग्लोबल कम्युनिटी में 83 देशों से 7600 से अधिक शिक्षक/शिक्षिकाएं शामिल हैं। आठ भारतीय शिक्षकों का चयन कनाडा के टोरंटो में आयोजित माइक्रोसॉफ्ट के वार्षिक आयोजन एजुकेशन एक्सचेंज के लिए भी हुआ। यह आयोजन ऐसे शिक्षकों की उपलब्धियों और उनकी सफलताओं को सम्मानित करता है, जो कंटेंट, अध्यापन और टेक्नोलॉजी को साथ लाकर एडवांस लर्निग को प्रोत्साहित करते हैं, जिससे छात्रों को बेहतर ढंग से सीखने में मदद मिलती है और शिक्षण को भी नया रूप मिलता है।

इनोवेशन को मिलेगा प्रोत्साहन

कंपनी ने बताया कि इस साल 83 देशों से 240 मोस्ट इनोवेटिव एजुकेटर्स ने ई2 एजुकेशन एक्सचेंज के लिए साथ आकर नए विचारों और असाधारण टीचिंग प्रैक्टिस को साझा किया। प्रतिभागियों को माइक्रोसॉफ्ट की नवीनतम टेक्नोलॉजीज से भी रूबरू कराया गया और उन्हें सबसे बेहतरीन व्यवहार को एक-दूसरे के साथ साझा करने का मंच उपलब्ध कराया गया, जहां वे साथ मिलकर टीचिंग और लर्निग में इनोवेशन को प्रोत्साहन दे सकें।

शिक्षण माहौल बनाने में मददगार

टेक्नोलॉजी का फायदा उठाते हुए चयनित शिक्षकों ने अनूठे, प्रभावशाली प्रोजेक्ट्स तैयार किए, जिससे छात्रों के लिए इंटरेक्टिव, दिलचस्प और लाभकारी शिक्षण माहौल बनाने में मदद मिली।

priyankajoshi

priyankajoshi

इन्होंने पत्रकारीय जीवन की शुरुआत नई दिल्ली में एनडीटीवी से की। इसके अलावा हिंदुस्तान लखनऊ में भी इटर्नशिप किया। वर्तमान में वेब पोर्टल न्यूज़ ट्रैक में दो साल से उप संपादक के पद पर कार्यरत है।

Next Story