×

AKTU सेमेस्‍टर एग्‍जाम: QR कोड से मुन्‍ना भाई पर नकेल, सिक्‍योरिटी चेक में करेगा मदद

डॉ एपीजे अब्‍दुल कलाम टेक्निकल यूनिवर्सिटी (AKTU) के सेमेस्‍टर एग्‍जाम मंगलवार से पूरे यूपी में 94 सेंटर्स पर शुरू होने जा रहे हैं। ऐसे में नकलविहीन परीक्षा कराने के लिए इस बार छात्रों को कोडक्विक रिस्‍पांस कोड (QRS) युक्‍त एडमिट कार्ड जारी किए गए हैं।

priyankajoshi

priyankajoshiBy priyankajoshi

Published on 5 Dec 2016 2:37 PM GMT

AKTU सेमेस्‍टर एग्‍जाम: QR कोड से मुन्‍ना भाई पर नकेल, सिक्‍योरिटी चेक में करेगा मदद
X
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

लखनऊ : डॉ एपीजे अब्‍दुल कलाम टेक्निकल यूनिवर्सिटी (AKTU) के सेमेस्‍टर एग्‍जाम मंगलवार से पूरे यूपी में 94 सेंटर्स पर शुरू होने जा रहे हैं। ऐसे में नकलविहीन परीक्षा कराने के लिए इस बार छात्रों को क्विक रिस्‍पांस (QR) कोड एडमिट कार्ड जारी किए गए हैं।

इस हाईसिक्‍योरिटी फीचर से एडमिट कार्ड को लैस करने के पीछे यूनिवर्सिटी की मंशा सुरक्षित रूप से परीक्षा कराने और भविष्‍य में रिजल्‍ट तैयार करने की है।

aktu-professor-jp-pandey

गेट पर ही स्‍कैन हो जाएगा एडमिट कार्ड

-एकेटीयू के परीक्षा नियंत्रक प्रोफेसर जे पी पांडे ने बताया कि इस बार हाईसिक्‍योरिटी फीचर क्‍यूआर कोड से लैस एडमिट कार्ड जारी किए गए हैं।

-इस परीक्षा के बाद अगली परीक्षाओं से इस कोड के जरिए ही स्‍टूडेंटस की अटेंडेंस मार्क की जाएगी।

-इसमें गेट पर क्‍यूआर स्‍कैनर के जरिए स्‍टूडेंट की डिटेल गेट पर ही मैच हो जाएगी।

- इससे मुन्‍ना भाइयों पर नकेल लगेगी।

- इसके अलावा एडमिट कार्ड को स्‍कैन करते ही वह यह बता देगा कि एडमिट कार्ड ओरिजनल है या फोटो कॉपी है।

-इससे जाली प्रवेश पत्रों पर लगाम लगेगी।

-इतना ही नहीं कापियों की कोडिंग भी की गई है जिससे कौन सा स्‍टूडेंट किस सीरियल नंबर की कापी पर एग्‍जाम दे रहा है, इसको भी सर्वर से देखा जा सकता है।

aktu-semester-exam1

एमटेक परीक्षा में होगा टैब का प्रयोग

- परीक्षा नियंत्रक प्रोफेसर जेपी पांडे ने बताया कि इस बार एमटेक की परीक्षाएं 14 दिसंबर से होंगी।

- इसमें लखनऊ और नोएडा में हम एक पायलेट प्रोजेक्‍ट की टेस्टिंग करेंगे।

- इसमें स्‍टूडेंटस को क्‍वैश्‍चन पेपर एग्‍जामिनेशन हॉल में टैब पर प्रोवाइड करवाया जाएगा।

- पायलेट सेंटर्स का एक कोड होगा जो कि सेंटर सुपरीटेंडेंट के पास रहेगा।

- परीक्षा शुरू होने के समय ही हम अपने कंट्रोलिंग हेड सेंटर से क्‍वैश्‍चन पेपर अपलोड करके वहां भेजेंगे।

-सेंटर सुपरीटेंडेंट अपना कोड डालकर पेपर डाउनलोड करके टैब से इंटरलिंक करेगा।

- इसके बाद बाद स्‍टूडेंट के सामने लगे टैब पर क्‍वैश्‍चन पेपर फलैश होगा।

- पेपर का टाइम आेवर होते ही टैब स्विच ऑफ हो जाएगा।

-सारा सिस्‍टम ऑनलाइन और सिक्‍योरिटी प्रूफ होगा।

- इससे पेपर की प्रिंटिंग और ट्रांसपोर्टेशन कास्‍ट बचेगी और पेपरली‍क की घटना पर रोक लगेगी।

-अगले सेमेस्‍टर एग्‍जाम से इसे सारे कोर्सेज के लिए लागू किया जाएगा।

कंट्रोलर बोले- किसी का नहीं छूटेगा पेपर

-एकेटीयू में सोमवार को अलग अलग कालेजों से 50 छात्र हंगामा करने लगे।

-बीबीडी, के एन मोदी सहित कई कालेजों से आए छात्रों ने एडमिट कार्ड न मिलने सहित अन्‍य समस्‍याओं को लेकर वीसी की गाड़ी का घेराव कर लिया।

-इस पर वहां मौजूद गार्डों ने स्‍टूडेंटस से अभद्रता करते हुए उन्‍हें भगाने का प्रयास किया।

-मीडिया के संज्ञान में मामला आने पर कंट्रोलर प्रोफेसर जेपी पांडे ने कहा कि सारे छात्रों का इनरोलमेंट नंबर, कालेज का नाम और परेशानी को नोट करवा ले रहा हूं।

-उन्होंने कहा कि 'मेरा प्रयास रहेगा कि किसी भी स्‍टूडेंट की परीक्षा न छूटे।'

-हंगामा करने वालोंं में बीटेक मैकेनिकल के धर्मेंद यादव, बीटेक कंप्‍यूटर साइंस के संदीप कुमार, आलोक, विवेक कुमार सहित दर्जनों स्‍टूडेंटस शामिल रहे।

priyankajoshi

priyankajoshi

इन्होंने पत्रकारीय जीवन की शुरुआत नई दिल्ली में एनडीटीवी से की। इसके अलावा हिंदुस्तान लखनऊ में भी इटर्नशिप किया। वर्तमान में वेब पोर्टल न्यूज़ ट्रैक में दो साल से उप संपादक के पद पर कार्यरत है।

Next Story