×

जायसवाल : हाथ खोलकर काम करें, प्राथमि‍क विद्यालय के बच्‍चे बनेंगे कलेक्‍टर

Rishi

RishiBy Rishi

Published on 20 May 2017 12:51 PM GMT

जायसवाल  : हाथ खोलकर काम करें, प्राथमि‍क विद्यालय के बच्‍चे बनेंगे कलेक्‍टर
X
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

गोरखपुर : योगी सरकार में बेसिक शिक्षा राज्‍यमंत्री अनुपमा जायसवाल ने कहा, कि वह सभी सांसद, विधायक और अधिकारियों से अपील करती हैं कि वह एक विद्यालय गोद लें। आज वह विद्यालय क्‍या है, और छह माह बाद क्‍या हो जाएगा। वह कहती हैं कि तुरंत आपको सुधार दिखने लगेगा। ऐसा अच्‍छा काम करने वालों को वह जहां भी जाएंगी सम्‍मानित करेंगी।

ये भी देखें : यूपी सरकार रही फेल नौनिहालों की किताबों में फिर बड़ा खेल

जायसवाल देवरिया दौरे के पूर्व गोरखनाथ मंदिर में दर्शन करने के लिए आईं थीं। यहां पर उन्‍होंने जनता दरबार में लोगों की समस्‍याएं भी सुनीं। उन्‍होंने ऐसे पांच काम जो लगे कि योगी सरकार काम कर रही है। उन्‍होंने कहा कि पहला, दूसरा, तीसरा, चौथा और पांचवां उनका सभी काम शिक्षा की गुणवत्‍ता को सुधारना है।

हाथ खोलकर काम करें, प्राथमि‍क विद्यालय के बच्‍चे बनेंगे कलेक्‍टर

उन्‍होंने अधिकारियों से अपील करते हुए कहा, जिनके हाथ बंधे हुए थे और जिन्‍होंने काम नहीं किया और किसी ने कहा नहीं, आपने किया नहीं वह काम करें। लोगों का नजरिया बदला है, लोगों को काला-काला दिखने की बजाय सफेद-सफेद दिखने लगा है। मेरे स्‍तर से जो भी संभव होगा मैं करूंगी। उन्‍होंने कहा कि वह मानती हैं कि प्राथमिक विद्यालयों के बहुत से बच्‍चे आगे बढ़कर नाम रोशन करते हैं। कई बार सुनने को मिलता है कि प्राथमिक विद्यालय का बच्‍चा कलेक्‍टर बन गया।

400 रुपए में मिलेंगे दो यूनिफार्म, प्राथमिक विद्यालयों में जल्‍द दिखेगा बदला हुआ माहौल

बेसिक शिक्षा राज्‍यमंत्री अनुपमा जायसवाल ने कहा कि जल्‍द ही प्राथमिक विद्यालयों का माहौल बदला हुआ नजर आएगा। उन्‍होंने कहा कि कई राज्‍यों से यूनिफार्म का सैंपल मंगाया गया था। लेकिन, किसी राज्‍य के यूनिफार्म को एडॉप्‍ट कर लेना ही सही नहीं है। हमारी सबसे बड़ी चुनौती 400 रुपए में दो यूनिफार्म देना है। यह नया गणवेश जल्‍द ही प्राथमिक विद्यालयों में दिखाई देगा।

Rishi

Rishi

आशीष शर्मा ऋषि वेब और न्यूज चैनल के मंझे हुए पत्रकार हैं। आशीष को 13 साल का अनुभव है। ऋषि ने टोटल टीवी से अपनी पत्रकारीय पारी की शुरुआत की। इसके बाद वे साधना टीवी, टीवी 100 जैसे टीवी संस्थानों में रहे। इसके बाद वे न्यूज़ पोर्टल पर्दाफाश, द न्यूज़ में स्टेट हेड के पद पर कार्यरत थे। निर्मल बाबा, राधे मां और गोपाल कांडा पर की गई इनकी स्टोरीज ने काफी चर्चा बटोरी। यूपी में बसपा सरकार के दौरान हुए पैकफेड, ओटी घोटाला को ब्रेक कर चुके हैं। अफ़्रीकी खूनी हीरों से जुडी बड़ी खबर भी आम आदमी के सामने लाए हैं। यूपी की जेलों में चलने वाले माफिया गिरोहों पर की गयी उनकी ख़बर को काफी सराहा गया। कापी एडिटिंग और रिपोर्टिंग में दक्ष ऋषि अपनी विशेष शैली के लिए जाने जाते हैं।

Next Story