Top
TRENDING TAGS :Coronavirusvaccination

UPSEE एग्जाम: AKTU में काउंसलिंग शुरू, 29 जून तक करें च्वाइस फिलिंग

By

Published on 24 Jun 2016 1:07 PM GMT

UPSEE एग्जाम: AKTU में काउंसलिंग शुरू, 29 जून तक करें च्वाइस फिलिंग
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

लखनऊ : यूपी के 612 इंजीनियरिंग, मैनेजमेंट, ऑर्किटेक्चर, फार्मेसी और अन्य प्रोफेशनल कोर्सों में एडमिशन के लिए काउंसिलिंग शुरू हो गई है। उत्तर प्रदेश स्टेट एंट्रेस एक्जामिनेशन (यूपीएसईई) काउंसलिंग और डॉक्यूमेंट वेरिफिकेशन प्रक्रिया के लिए जिले में 5 केंद्र बनाए गए हैं।

हालांकि कैंडिडेट्स घर बैठे ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन और सीट च्वॉइस लॉक कर सकते है। पहले चरण की काउंसलिंग 24 जून से शुरू हो चुकी है।

डॉक्यूमेंट वेरिफिकेशन 25 से 30 जून तक

-दरअसल, डॉ. एपीजे अब्दुल कलाम टेक्निकल यूनिवर्सिटी (एकेटीयू) की काउंसलिंग प्रक्रिया में थोड़ा बदलाव किया गया है।

-रजिस्ट्रेशन और च्वॉइस लॉकिंग के बाद डॉक्यूमेंट का वैरिफिकेशन होगा।

-यूपीएसईई पास करने वाले सभी छात्र इसमें शामिल हो सकते हैं। इसके लिए छात्रों को रजिस्ट्रेशन कराना होगा।

-सामान्य श्रेणी के लिए 20,000 रुपए और एससी-एसटी कैटेगरी के लिए 12,000 रजिस्ट्रेशन शुल्क रखी गई है।

-शुल्क डेबिट कार्ड, क्रेडिट कार्ड या नेट बैंकिंग के जरिए जमा किया जा सकता है। यह प्रक्रिया 29 जून तक चलेगी।

-इसी बीच 25 से 30 जून तक डॉक्यूमेंट वेरिफिकेशन होगा।

-छात्र अपनी रैंकिंग के आधार पर 29 जून तक च्वाइस फिलिंग करते हुए अपने मनपसंद कॉलेज का चुनाव करेंगे। यह प्रक्रिया 3 जुलाई तक चलेगी।

-इस बार नोएडा और दिल्ली के छात्रों को प्रमाणपत्रों का वैरिफिकेशन कराने के लिए काउंसलिंग केंद्र ग्रेटर नोएडा आना पड़ेगा।

-इन केंद्रों पर फीस और सत्यापन के लिए 8 काउंटर होंगे।

-स्टूडेंट्स को अन्य सारी सुविधाएं उपलब्ध कराने के लिए एकेटीयू ने सभी केंद्रों को निर्देश भी जारी कर दिया है।

इन केंद्रों पर होगी काउंसलिंग

ग्रेटर नोएडा के एचआईएमटी कॉलेज, जीएनआईटी, यूनाइटेड कॉलेज, आईटीएस के अलावा दादरी के विश्वश्वरैया कॉलेज को केंद्र बनाया गया है। जहां सुबह 9 बजे से शाम 5 बजे तक छात्र काउंसलिंग प्रक्रिया में हिस्सा ले सकते है।

Next Story