लोकसभा चुनाव: जानिए तेलंगाना की प्राथमिकताएं, लोगों ने सरकार को दिए इतने नंबर

लोकसभा चुनाव 2019 के पहले एसोसिएशन फॉर डेमोक्रेटिक रिफॉर्म्स (एडीआर) ने चुनाव में मतदाताओं की प्राथमिकताएं जानने के लिए अब तक का सबसे बड़ा मतदाता सर्वेक्षण कराया। यह सर्वेक्षण, अक्टूबर 2018 और दिसंबर 2018 के बीच किया गया।

लखनऊ: लोकसभा चुनाव 2019 के पहले एसोसिएशन फॉर डेमोक्रेटिक रिफॉर्म्स (एडीआर) ने चुनाव में मतदाताओं की प्राथमिकताएं जानने के लिए अब तक का सबसे बड़ा मतदाता सर्वेक्षण कराया। यह सर्वेक्षण, अक्टूबर 2018 और दिसंबर 2018 के बीच किया गया।

एडीआर के इस सर्वेक्षण में 534 लोकसभा निर्वाचन-क्षेत्रों को सम्मिलित किया गया, जिसमें विभिन्न जनसांख्यिकी के 2,73,479 मतदाताओं ने भाग लिया। इस सर्वेक्षण के तीन मुख्य उद्देश्य थे, शासन के विशिष्ट मुद्दों पर मतदाताओं की प्राथमिकताएं, उन मुद्दों पर सरकार के प्रदर्शन की मतदाताओं द्वारा रेटिंग और मतदान के व्यवहार को प्रभावित करने वाले कारक।

यह भी पढ़ें…कई दलों के नेता BJP में शामिल, जेपी नड्डा ने कहा- अन्य दलों के पास नेता और नीति नहीं

यह सर्वेक्षण 31 सूचीबद्ध मुद्दों जैसे पेयजल, बिजली, सड़कें, भोजन, स्वास्थ्य, सार्वजनिक परिवहन इत्यादि पर मतदाताओं की प्राथमिकताओं पर प्रकाश डालता है, जो कि उनके संबंधित क्षेत्र में उनके जीने की स्थिति को बेहतर बनाने में इनकी क्षमता, शासन और विशिष्ट भूमिका के अनुसार तय किये गये हैं।

सर्वेक्षण में एक त्रिस्तरीय पैमाने ‘अच्छा’, ‘औसत’ और ‘बुरा’ का इस्तेमाल किया गया, जहां अच्छा को पांच, औसत को तीन और बुरा को एक अंक दिये गये। हम आपको तेलंगाना के मतदाताओं की राय बताते हैं। इस सर्वेक्षण में तेलंगाना के 8500 लोग शामिल हुए। सर्वे में रेटिंग के लिए 5 अंक रखे गए हैं। इसमें 3 नंबर को औसत और 1 को खराब प्रदर्शन माना गया है।

यह भी पढ़ें…मेनका के सुल्तानपुर को कर्मभूमि बताने पर संजय सिंह का कटाक्ष, कहा- 35 साल बाद याद आई है

तेलंगाना के सर्वेक्षण 2018 के मुताबिक प्रदेश के मतदाताओं की बेहतर रोजगार के अवसर (65.99%), बेहतर अस्पतालों/ प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों (33.23%) और बेहतर सार्वजनिक परिवहन (25.89%) की मुख्य तीन प्राथमिकताएं हैं।

इसके अलावा मतदाताओं ने तीन प्राथमिकताओं में सरकार के प्रदर्शन को बेहतर रोजगार के अवसर(1.95), बेहतर अस्पतालों/प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों (1.89) और बेहतर सार्वजनिक परिवहन (2.51) रेटिंग दी है जो औसत से नीचे है।

ग्रामीण तेलंगाना के मतादातओं की बेहतर रोजगार के अवसर (63%), कृषि उत्पादों की महंगाई से राहत(45%) और बीज/खाद्य पर कृषि सब्सिडी (44%) प्राथमिकताएं हैं।

यह भी पढ़ें…IT विभाग की बड़ी कार्रवाई! कमलनाथ के OSD समेत 50 जगहों पर छापेमारी

इसके अलावा मतदाताओं ने तीन प्राथमिकताओं में सरकार के प्रदर्शन को बेहतर रोजगार के अवसर(2.05), कृषि उत्पादों की महंगाई से राहत(2.12) और बीज/खाद्य पर कृषि सब्सिडी(1.91) रेटिंग दी है जो औसत से नीचे है।

अच्छे अस्पताल/ प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र को लेकर(1.9) और खेती के लिए पानी की उपलब्धता पर 2.12 रेटिंग की दी है।

शहरी मतदाताओं ने बेहतर रोजगार के अवसर(71%), ध्वनि प्रदूषण(50%) और पानी/वायु प्रदूषण(40%) तीन शीर्ष प्राथमिकताएं हैं।

शहरी मतदाताओं ने अच्छे रोजगार के अवसर को लेकर 5 में से 1.81 रेटिंग दी है, तो वहीं ध्वनि प्रदूषण(2.03) और पानी/वायु प्रदूषण(2.12) रेटिंग दी है।

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App