अखिलेश ने किया सपा सरकार द्वारा किये गए कार्यों के आधार पर वोट देने की अपील

अखिलेश यादव ने कहा कि नोटबंदी और जीएसटी से व्यापार को नुकसान हुआ है। समाजवादी सरकार में दिये लैपटाॅप आज भी काम आ रहे हैं। बाबा मुख्यमंत्री खुद लैपटाॅप चलाना नहीं जानते इसलिए किसी को देना नहीं चाहते। उन्होंने कहा कि अगर काम पर वोट नहीं मिला तो लोग जाति-धर्म की राजनीति ही करने लगेंगे।

Published by SK Gautam Published: May 3, 2019 | 11:31 am
Modified: May 3, 2019 | 12:30 pm

लखनऊ : समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने गुरुवार शाम को घंटाघर चौक, लखनऊ में महागठबंधन की प्रत्याशी श्रीमती पूनम शत्रुघ्न सिन्हा के समर्थन में आयोजित जनसभा को सम्बोधित करते हुए कहा कि लखनऊ में हम काम की बदौलत चुनाव में हैं। जितना काम समाजवादी सरकार ने किया उसका कोई मुकाबला नहीं हैं। उन्होंने जनता से अपील किया कि वह किसी भ्रम में न रहे, समाजवादी सरकार में किये गये कार्यों पर वोट दें और श्रीमती पूनम सिन्हा को विजयी बनावें।

अखिलेश यादव ने कहा कि नोटबंदी और जीएसटी से व्यापार को नुकसान हुआ है। समाजवादी सरकार में दिये लैपटाॅप आज भी काम आ रहे हैं। बाबा मुख्यमंत्री खुद लैपटाॅप चलाना नहीं जानते इसलिए किसी को देना नहीं चाहते। उन्होंने कहा कि अगर काम पर वोट नहीं मिला तो लोग जाति-धर्म की राजनीति ही करने लगेंगे। तरक्की और खुशहाली लानी है तो महागठबंधन के पक्ष में मतदान करना होगा।

ये भी देखें : सपा-बसपा के साथ ये कौन सा गेम खेल रही है: प्रियंका गांधी वाडरा

सपा मुखिया ने कहा कि हमने पुराने लखनऊ के विकास के लिये इतिहास का पन्ना पलटा। घंटाघर और आस-पास के क्षेत्र को समाजवादी लोगों ने सुन्दर बनाया। यहां उजाला कर दिया गया। लखनऊ मेट्रो में दस हजार इंजीनियरों को काम मिला। गोमती रिवरफ्रंट से लखनऊ में नदी का किनारा सुन्दर हो गया।

कई वर्षों से बंद पड़े क्रिकेट मैच फिर से शुरूआत समाजवादियों द्वारा बनवाये गये स्टेडियम में हुई। देश की सबसे बड़ी कम्पनी एच.सी.एल. को लखनऊ में लाने का काम समाजवादियों ने ही किया। उन्होंने कहा कि भाजपा से सावधान रहना होगा। विधानसभा चुनाव में हम जनता को समझाते रहे और भाजपा उन्हें बहकाती रही।

ये भी देखें: अमित शाह सहित BJP के दिग्‍गजों डेरा आज लखनऊ में , राजनाथ सिंह के समर्थन में चुनावी रैली

मशहूर सिने अभिनेता शत्रुघ्न सिन्हा ने कहा कि उत्तर प्रदेश में मायावती का कमाल और अखिलेश का धमाल रंग लाएगा। लखनऊ के विकास में अखिलेश के योगदान के आगे भाजपाई केवल जुमलेबाजी करते रहे है। भाजपा राज में उनके वादे खोखले साबित हुए है। एक सर्वे के अनुसार 50 लाख युवा बेकार हो गए है। आज जो भीड़ का उत्साह यहां दिखा है उससे लगता है कि यह विजय समारोह है। उन्होंने कहा कि वर्तमान प्रधानमंत्री एक्सपायरी प्रधानमंत्री हो गए हैं और हमारी गृहमंत्री पूनम सिन्हा भारत सरकार के गृहमंत्री पर भारी पड़ेंगी। उन्होंने अखिलेश को युवा आइकान बताया।

ये भी देखें : करो या मरो के मुकाबले में आज कोलकाता का सामना पंजाब से, लीग में बने रहने की जंग

यह चुनाव चौकीदार और ठोकीदार को हटाने का चुनाव है। मेक इन इण्डिया का नारा फेल हो गया, डिजिटल इण्डिया, स्टैण्ड अप इण्डिया के नाम पर केन्द्र की भाजपा सरकार ने जनता को गुमराह कर दिया।
इस अवसर पर लखनऊ की विशाल रैली में विभिन्न विश्वविद्यालयों की छात्र-छात्राओं, डाक्टर, प्रोफेसर, व्यापारीगण, दुकानदारों ने महागठबंधन की प्रत्याशी श्रीमती पूनम सिन्हा को जिताने का संकल्प लिया ।

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App