प्रमुख खबरें

सपा के वोट बैंक में भी बढ़ोत्तरी नहीं हुई। ऐसे में गठबंधन भी जल्द ही टूट सकता है। ऐसी स्थिति में अगर पांच साल तक निरहुआ क्षेत्र में बने रहे तो उनकी राजनीतिक जमीन तैयार हो सकती है।

लोकसभा में 33 प्रतिशत महिला सांसदों को भेजने के साथ ही ओडिशा ने सबसे कम उम्र की महिला सांसद को भी लोकसभा में भेजा है। देश की सबसे कम उम्र की महिला सांसद 25 वर्षीय चंद्राणी मुर्मू इंजिनियरिंग में स्नातक हैं।

सिक्किम क्रांतिकारी मोर्चा (एसकेएम) के अध्यक्ष पीएस गोले ने सोमवार को मुख्यमंत्री पद की शपथ ली> गोले का असली नाम प्रेम सिंह तमांग है। गोले ने चुनाव नहीं लड़ा था जिसकी वजह से इस वक्त राज्य विधानसभा के सदस्य नहीं हैं।

भाजपा की सहयोगी पार्टियों जदयू और अन्नाद्रमुक को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की नई मंत्रिपरिषद में शामिल किए जाने की प्रबल संभावना है। इसके अलावा, पश्चिम बंगाल और तेलंगाना में भाजपा के बेहतर प्रदर्शन के कारण इन दोनों राज्यों के पार्टी नेताओं को भी मंत्रिपरिषद में जगह मिल सकती है। सूत्रों ने रविवार को यह जानकारी दी।

इस खराब प्रदर्शन की समीक्षा के लिए बसपा सुप्रीमों ने रविवार को अपनी पार्टी के सभी पदाधिकारियों और जीते हुये सांसदों को दिल्ली बुलाकर बैठक की। बैठक में मायावती ने नव निर्वाचित सांसदों को लोकसभा सदन के लिए तय पार्टी लाइन से भी वाकिफ कराया।

शनिवार को राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन का नेता चुने जाने के बाद कार्यवाहक प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को वहां मौजूद सभी सांसदों ने बधाई दी। लेकिन एक खास तस्वीर ने सबका ध्यान खींचा। भोपाल से बीजेपी के टिकट पर चुनी गईं साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर की मोदी ने अनदेखी की।

लोकसभा चुनाव में शानदार प्रदर्शन करते हुए भारतीय जनता पार्टी ने लगातार दूसरी बार जीत दर्ज की है। बीजेपी की जीत के बाद अब सबकी निगाहें अब सरकार के गठन पर टिक गई है। ऐसी अटकलें भी लगाई जा रही है कि सरकार में अमित शाह समेत कई नए चेहरों को स्थान दिया जा सकता है।

आंध्र प्रदेश में हुए विधानसभा चुनाव में टीडीपी का वाईएसआरसीपी ने सूफड़ा साफ कर दिया। वाईएसआरसीपी के प्रमुख जगन मोहन रेड्डी अब आंध्र प्रदेश के नए सीएम बनने जा रहे हैं। शनिवार को उन्हें पार्टी के विधायक दल का नेता चुन लिया गया है।

लोकसभा चुनाव 2019 में पश्चिम बंगाल में ममता बनर्जी की अगुआई वाली तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) को बड़ा झटका लगा है। बीजेपी ने राज्य में शानदार प्रदर्शन करते हुए 18 सीटों पर जीत हासिल की है। वहीं टीएमसी अपने पिछले प्रदर्शन को नहीं दोहरा सकी है।

बंगाल में भाजपा को तृणमूल के मुकाबले तीन गुना डाक मत मिले पश्चिम बंगाल में भाजपा को सत्तारूढ़ तृणमूल कांग्रेस की अपेक्षा तीन गुना डाक मत मिले हैं। चुनाव आयोग के आंकड़ों से संकेत मिलता है कि राज्य सरकार के कर्मचारियों ने तृणमूल की तुलना में भाजपा को तरजीह दिया है।