वोटरों को मेनका गांधी ने धमकाया, मुस्लिमों से इस अंदाज में मांगा वोट, देखें VIDEO

बीजेपी के टिकट पर मेनका गांधी सुल्तानपुर के रण क्षेत्र में हैं। उन्हें खतरा है तो गठबंधन के बाहुबली उम्मीदवार से जो 12 दिनों से अलग-अलग मंचों से उनके चुनाव प्रचार में सुनने को भी मिल रहा।

सुल्तानपुर: बीजेपी के टिकट पर मेनका गांधी सुल्तानपुर के रण क्षेत्र में हैं। उन्हें खतरा है तो गठबंधन के बाहुबली उम्मीदवार से जो 12 दिनों से अलग-अलग मंचों से उनके चुनाव प्रचार में सुनने को भी मिल रहा। शायद ही कोई मंच अब तक ऐसा बचा हो जहां मेनका गांधी ने गठबंधन प्रत्याशी का डर पब्लिक के दिल में न उतारा हो।

कांग्रेस के प्रत्याशी को तो वो अपने मुकाबले पर मान भी नहीं रहीं और न ही उसका अब तक जिक्र ही किया, लेकिन क्या मेनका गांधी गठबंधन के बाहुबली प्रत्याशी से अलग हैं? ये सवाल तब खड़ा हो रहा है जब गुरुवार को वो बीजेपी अल्पसंख्यक प्रकोष्ठ के जिलाध्यक्ष अजादार हुसैन के मुस्लिम बाहुल्य गांव तुराबखानी पहुंची और मंच से अप्रत्यक्ष रूप से उन्होंने वहां मौजूद वोटरों को धमका डाला।

यह भी पढ़ें…घर में IPL पर लगा रहे थे सट्टा, पुलिस ने 8 लोगों को किया गिरफ्तार

‘इलेक्शन तो मैं पार कर चुकी हूं, अब आपको मेरी जरूरत पड़ेगी’

सुल्तानपुर विधानसभा क्षेत्र के तुराबखानी गांव में मेनका गांधी ने कहा कि आपको कल मेरी जरूरत पड़ेगी। ये इलेक्शन तो मैं पार कर चुकी हूं। अब आपको मेरी जरूरत पड़ेगी। अब आपको जरूरत के लिए नीव डालना है तो ये है वक्त। इतने ही पर मेनका गांधी रुकी नहीं, उन्होंने आगे कहा कि रिजल्ट निकलेगा उसमें 100 वोट या 50 वोट निकलेंगे। उसके बाद जब आप काम के लिए आएंगे तो वही होगा मेरे साथ। समझ गए आप लोग। इसलिए जब आप मेरे ही हो तो क्यूं नहीं मेरे ही रहो। फिर सवाल के अंदाज में बोली। सही है बात के नहीं सही है? ये आपको पहचानना पड़ेगा। ये जीत आपके बिना भी होगी आपके साथ भी होगी। मैं दोस्ती का हाथ लेकर के आई हूं।

यह भी पढ़ें…अधिकारियों को व्यक्तिगत उपस्थित होने के लिए समन करना उचित नहीः सुप्रीम कोर्ट

‘कम से कम 1 हजार करोड़ मुसलमानों के संस्थाओ को बांटे’

हालांकि बाद में मेनका गांधी भांप गई के बात ओवर चली गई तो फौरन उन्होंने यू टर्न लिया, कहा कि मैंने कम से कम एक हजार करोड़ रुपए बांटे होंगे केवल मुसलमानों के संस्थाओ को ताकि वो फले फूले। सवाल ये है आप लोग जब आते हो मदद के लिए तो इलेक्शन के टाइम जब आप कहोगे बाबा नहीं, हम भाजपा को नहीं देंगे। हम कोई भी पार्टी को दे देंगे जिससे भाजपा हारेगी। तो हमारा दिल भी टूटता है। अगर आपको लगे हम खुले हाथ और खुले दिल से आए हैं, तो ये चीज आपको सब जगह फैलानी पड़ेगी।

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App