इस भाजपा प्रत्याशी ने किया ऐसा काम कि हो गया मामला दर्ज

यूपी के इटावा जनपद में भाजपा प्रत्याशी रामशंकर कठेरिया की गुंडई सामने आई है। बिना अनुमति सैकड़ों ग्रामीणों के बीच नुक्कड़ सभा कर रहे भाजपा प्रत्याशी रामशंकर कठेरिया को एक सब इंस्पेक्टर जब रोकने गया तो

इस भाजपा प्रत्याशी ने किया ऐसा काम कि हो गया मामला दर्ज

इटावा: यूपी के इटावा जनपद में भाजपा प्रत्याशी रामशंकर कठेरिया की गुंडई सामने आई है। बिना अनुमति सैकड़ों ग्रामीणों के बीच नुक्कड़ सभा कर रहे भाजपा प्रत्याशी रामशंकर कठेरिया को एक सब इंस्पेक्टर जब रोकने गया तो भाजपा प्रत्याशी  रामशंकर कठेरिया ने दरोगा की अपने समर्थकों के साथ मिलकर जमकर पिटाई  कर  दी। गंभीर अवस्था में घायल दरोगा ने किसी तरह मौके से भाग कर अपनी जान बचाई।

यह भी पढ़ें….लोकसभा चुनाव: पहले चरण का मतदान कल, सभी तैयारियां पूरी

घटना की सूचना पर पहुंचे एसपी ग्रामीण रामबदन सिंह ने घटनास्थल का निरिक्षण करने के बाद पीड़ित दरोगा की तहरीर के आधार पर कानूनी कार्यवाही करने का आश्वासन दिया है। वहीं दूसरी और भाजपा उम्मीदवार रामशंकर कठेरिया ने अपने ऊपर लगे आरोप को सिरे से ख़ारिज कर दिया है। मामला थाना भरेह क्षेत्र के अंतर्गत पथर्रा गांव का है।

यह भी पढ़ें….देश में परिवर्तन लाने के लिए सरकार बदलना जरूरी: अखिलेश यादव

घटना के बाद पत्रकारों से बात करते हुए भाजपा उम्मदीवार रामशंकर कठेरिया ने बताया कि वह पथर्रा गांव में चुनाव प्रचार कर रहे थे  और ग्रामीणों के साथ नुक्कड़ सभा कर रहे थे तभी थाना मे तैनात दरोगा गीतम सिंह ने आकर उनसे सभा की अनुमति दिखाने की मांग की इस बात दरोगा जी से मामूली झडप हुई है कोई मारपीट नहीं हुई है।

यह भी पढ़ें….कल सोनिया गांधी रायबरेली से करेंगी नामांकन, ये है पूरा कार्यक्रम

पीडिता दरोगा गीतम पाल सिंह ने बताया कि  थाना परिसर के सामने से रामशंकर कठेरिया सैकड़ों गाडी के काफिले के साथ पथर्रा गाँव की और जाते हुए दिखाई दिए और गांव मे जाकर मंदिर परिसर मे नुक्कड़ सभा करने लगे। तभी  मै वहां पर पहुंचा तो रामशंकर कठेरिया मुझे अभद्र भाषा का प्रयोग करते हुए अपने पास बुलाने लगे ।

यह भी पढ़ें….अलगाववादी नेता यासीन मलिक को दिल्ली स्थित NIA मुख्यालय लाया गया

मेरे द्वारा जब उनसे  सभा की अनुमति दिखाने को कहा गया तो उन्होंने मेरा मोबाइल फोन छीनकर मुझे गाली देते हुए अपने समर्थकों के द्वारा मुझे पीटने का इशारा किया। इसी इशारे पर उनके सैकड़ों समर्थकों ने मेरे साथ लात घूसों से पिटाई करना शुरू कर दिया । पिटाई के दौरान किसी तरह अपने हमराही की मदद से वहां से भागकर मैंने अपनी जान बचाई ।

यह भी पढ़ें….पहले चरण का मतदान कल: कई दिग्गजों का सियासी भाग्य EVM में बंद हो जाएगा

एसपी ग्रामीण रामबदन सिंह ने बताया घटना की सूचना के बाद मेरे द्वारा घटना स्थल का मुयायना किया गया तो वहां पर पता चला कि रामशंकर कठेरिया भाजपा जिलाध्यक्ष और भाजपा दोनों विधायिका सरिता भदौरिया और सावित्री कठेरिया अपने लाव-लश्कर के साथ गाँव मे जाकर सैकड़ों ग्रामीणों के साथ बिना अनुमति के नुक्कड़ सभा कर रहे थे।

यह भी पढ़ें….आगरा से बीजेपी विधायक जगन प्रसाद गर्ग का निधन

और थाना भरेह मे तैनात दरोगा गीतम सिंह के द्वारा जब सभा की अनुमति दिखाने को कहा गया तो उन्होंने भडककर दरोगा के साथ मारपीट शुरू कर दी जिसके बाद दरोगा ने किसी तरह भागकर अपनी जान बचाई। प्रथम द्रष्टया रामशंकर कठेरिया अचार सहिंता उल्लंघन और दरोगा के साथ मारपीट की घटना के दोषी पाए गए है। इसलिए इनके खिलाफ कानूनी कार्यवाही अमल मे लाई जा रही है।