लोकसभा चुनाव : पुरुष और महिला वोटर्स से जुड़ीं ये 25 बातें नहीं जानते होंगे आप !

मतदाता सूची पर नजर डालें तो पूर्वोत्तर और दक्षिण भारत के नौ सूबों में पुरुषों की तुलना में महिला वोटर्स कहीं अधिक हैं। चुनाव आयोग के आकड़ों पर नजर डालने पर हमें समझ आता है कि लैंगिक अनुपात के मामले में तमिलनाडु, केरल, आंध्र प्रदेश, पुडुचेरी, अरुणाचल प्रदेश, मणिपुर, मेघालय और मिजोरम सबसे आगे हैं।

uttar pradesh voting 2017 in lucknow

लखनऊ : मतदाता सूची पर नजर डालें तो पूर्वोत्तर और दक्षिण भारत के नौ सूबों में पुरुषों की तुलना में महिला वोटर्स कहीं अधिक हैं। चुनाव आयोग के आकड़ों पर नजर डालने पर हमें समझ आता है कि लैंगिक अनुपात के मामले में तमिलनाडु, केरल, आंध्र प्रदेश, पुडुचेरी, अरुणाचल प्रदेश, मणिपुर, मेघालय और मिजोरम सबसे आगे हैं।

ये भी देखें :कांग्रेस प्रत्याशी संजय सिंह ने 60 KM का किया रोड शो, कहा- हमारा एजेंडा BJP का ‘झूठ’ है

क्या कहते हैं आकड़ें

पुडुचेरी में एक हजार पुरुषों पर 1117 महिला वोटर्स हैं।

केरल में एक हजार पुरुषों पर 1066।

तमिलनाडु में एक हजार पुरुषों पर 1021।

आंध्र प्रदेश में एक हजार पुरुषों पर 1015।

पूर्वोत्तर राज्यों में एक हजार पुरुषों पर यह संख्या 1054 से 1021 के बीच है।

ये भी देखें :रायबरेली-अमेठी के बदले कांग्रेस ने गठबंधन को दी ये सात सीटें

दिल्ली में एक हजार पुरुषों पर 812 महिला मतदाता है।

बिहार, उत्तर प्रदेश, पंजाब और हरियाणा सहित सात राज्यों में लैंगिक अनुपात 800 से 900 के मध्य है।

केरल में प्रति एक हजार आबादी पर 741 मतदाता हैं।

पंजाब और ओडिशा में प्रति एक हजार आबादी पर 700 और  तमिलनाडु में 728 है।

किन्नरों की बात करें तो 8,374 उत्तर प्रदेश से, 5472 तमिलनाडु से और 3761 आंध्र प्रदेश से हैं।

देश में कुल 89.87 करोड़ मतदाता।

46.70 करोड़ पुरुष।

43.17 करोड़ महिला।

विदेशों में रह रहे 71,735।

16.5 लाख सर्विस वोटर।

ये भी देखें : लोकसभा चुनाव : इन सीटों पर BJP और कांग्रेस के बीच होगा महामुकाबला

पहली बार मतदाता बने मतदाता 1.5 करोड़।

2014 की तुलना में 8.4 करोड़ का इजाफा ।

विदेशों में रह रहे मतदाताओं में 92.8 प्रतिशत केरल से।

71,735 अनिवासी मतदाता।

66,866 पुरुष।

4849 महिला।

20 किन्नर।

केरल के अनिवासी मतदाता 66584।

आंध्र प्रदेश के 2511।

तेलंगाना के 1127।