चुनाव आयोग की कार्रवाई पर भड़की ‘दीदी’, कहा- शाह के इशारे पर EC ने दिया फैसला

ममता ने चेताया कि बंगाल को यूपी, बिहार या त्रिपुरा न समझें। राज्य सरकार की सुरक्षा होती तो हिंसा नहीं होती। अमित शाह चुनाव आयोग को धमका रहे हैं। मोदी ने मूर्ति तोड़े जाने की निंदा भी नहीं की।

नई दिल्ली: बंगाल में हो रही हिंसा के बाद चुनाव आयोग के सख्त कार्रवाई पर पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी भड़क गई हैं। प्रेस कांफ्रेंस करके उन्होंने कहा कि बीजेपी के निर्देश पर चुनाव आयोग ने ये फैसला लिया है। ये फैसला आयोग ने नहीं बल्कि मोदी ने लिया है। शाह के इशारे पर आयोग ने फैसला दिया है।

ये भी पढ़ें— लाइव स्ट्रीमिंग के दुरुपयोग को रोकने के कदम उठा रही फेसबुक

ममता बनर्जी ने कहा कि गेरुआ पहन कर बंगाल में गुंडे आ रहे हैं। अमित शाह और मोदी मुझसे डर गए हैं। नरेंद्र मोदी बंगाल की जनता से डरते हैं। अमित शाह को चुनाव आयोग ने नोटिस क्यों नहीं दिया? बीजेपी बंगाल को अपने इशारे पर नहीं चला सकती।

उन्होंने कहा कि ये सारी साजिश मुकुल रॉय रच रहे हैं। उन्होंने कहा कि केंद्रीय सुरक्षाबलों की वजह से हिंसा हुई है। मोदी चुनाव आयोग की बांह मरोड़ रहे हैं। दोषियों के खिलाफ चुनाव आयोग ने कार्रवाई नहीं की है।

ये भी पढ़ें— गुवाहाटी के ज़ू रोड पर ग्रेनेड ब्लास्ट, दो की मौत, आठ घायल

ममता ने चेताया कि बंगाल को यूपी, बिहार या त्रिपुरा न समझें। राज्य सरकार की सुरक्षा होती तो हिंसा नहीं होती। अमित शाह चुनाव आयोग को धमका रहे हैं। मोदी ने मूर्ति तोड़े जाने की निंदा भी नहीं की।

बंगाल में चुनाव प्रचार पर एक दिन पहले ही रोक के मामले में ममता ने कहा- आज अमित शाह ने प्रेस कांफ्रेंस की, चुनाव आयोग को धमकाया, क्या ये उसका नतीजा है? बंगाल भयभीत नहीं है। बंगाल को इसलिए निशाना बनाया जा रहा है क्योंकि मैं मोदी के खिलाफ बोल रही हूं। गुंडों को बाहर से लाया गया था, उन्होंने भगवा पहनकर हिंसा की, जब बाबरी मस्जिद को ध्वस्त कर दिया गया था तब इसी तरह की हिंसा हुई थी।