नतीजों से पहले EVM के मुद्दे पर 19 दलों ने दिल्ली में की मीटिंग, जाएंगे चुनाव आयोग

बता दें कि इसके पहले भी टीडीपी चीफ चंद्रबाबू नायडू ने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी और पश्चिम बंगाल की सीएम ममता बनर्जी अखिलेश यादव और मायावती से मुलाकात की थी।

नई दिल्ली: लोकसभा चुनाव में एग्जिट पोल के नतीजों में भाजपा के जीत की संभावना के बाद फाइनल नतीजे आने के दो दिन पहले विपक्षी दल अपनी साझा रणनीति बनाने में जुटे गए हैं। दिल्ली के कॉन्स्टिट्यूश क्लब में 19 विपक्षी दलों ने ईवीएम को लेकर आज बैठक की है।

आंध्र प्रदेश के सीएम और टीडीपी अध्यक्ष चंद्रबाबू नायडू की अध्यक्षता में हुई इस मीटिंग में चुनाव आयोग से ईवीएम के मुद्दे पर शिकायत करने का फैसला लिया गया है। अब सभी दल मार्च करते हुए चुनाव आयोग के दफ्तर निर्वाचन सदन का रुख करने वाले हैं।

ये भी पढ़ें—मोदी ने जोको विडोडो को इंडोनेशिया का फिर से राष्ट्रपति निर्वाचित होने पर बधाई दी

बता दें कि इसके पहले भी टीडीपी चीफ चंद्रबाबू नायडू ने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी और पश्चिम बंगाल की सीएम ममता बनर्जी अखिलेश यादव और मायावती से मुलाकात की थी।

सूत्रों के मुताबिक इस मीटिंग में 100 फीसदी ईवीएम के साथ वीवीपैट की मिलान की मांग को लेकर विपक्ष की ओर से चुनाव आयोग से मुलाकात को लेकर चर्चा हुई। इसके अलावा गैर-एनडीए सरकार की संभावनाओं को लेकर भी इस मीटिंग में बात हुई। इस बीच शाम को एनडीए की भी डिनर पर बैठक होनी है। अमित शाह की ओर से आयोजित डिनर में एनडीए के सभी नेता मौजूद रहेंगे। इस दौरान पीएम मोदी भी उपस्थित रहेंगे।

ये भी पढ़ें—लोकसभा चुनाव 2019 में रिकॉर्ड वोटिंग, जानिए कब-कब कितना हुआ मतदान

सूत्रों के मुताबिक कांग्रेस समेत टीडीपी, वाम दलों, बीएसपी, एसपी एनसीपी और टीएमसी के नेता बैठक में हिस्सा ले रहे हैं। कांग्रेस की ओर से गुलाम नबी आजाद, बीएसपी के सतीश चंद्र मिश्रा, एनसीपी चीफ शरद पवार और वामपंथी दलों से सीताराम येचरी जैसा नेता इस बैठक में शामिल हैं। टीएमसी की ममता बनर्जी ने डेरेक ओ ब्रायन और एसपी चीफ अखिलेश ने रामगोपाल यादव को मीटिंग में अपने प्रतिनिधि के तौर पर भेजा है।