रेलवे पैसेंजर्स में भी दिखी मोदी की दिवानगी

आश्चर्य की बात यह है कि स्टेशन परिसर से लेकर गाड़ियों के डिब्बे में हर कोई केवल मोबाइल की स्क्रीन पर चुनावी परिणाम को देखने में बिजी थे। वेंडर हो या रेलवे का कोई कर्मचारी हर किसी की निगाहें केवल चुनावी फेसलों पर टिकी थीं।

file photo

लखनऊ: पूरे देश की निगाहें 23 मई को आने वाले चुनावी नतीजों पर हैं। लोग सुबह से ही अपने-अपने घरों में टीवी, मोबाइल पर लगे हुए हैं। क्या होगा जनादेश और क्या मोदी एक बार फिर बनेंगे देश के पीएम। इस सवाल ने पूरे देश को जैसे स्थिर सा कर दिया है। घर हो या ऑफिस ऐसी कोई जगह नहीं है जहां प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की चर्चाएं न हो रही हों। इसी कड़ी में न्यूजट्रैक डाॅट काॅम के संवाददता ने चारबाग रेलवे स्टेशन और इनसे होकर जाने वाली ट्रेनों को परखा और यह जानने का प्रयास किया कि यात्री आखिर चुनावी नतीजों को लेकर परेशान हैं या केवल यात्रा में मशगुल हैं।

ये भी देखें : 75 सीनियर अधिवक्ताओं की अधिसूचना को चुनौती, महानिबंधक से जवाब तलब

आश्चर्य की बात यह है कि स्टेशन परिसर से लेकर गाड़ियों के डिब्बे में हर कोई केवल मोबाइल की स्क्रीन पर चुनावी परिणाम को देखने में बिजी थे। वेंडर हो या रेलवे का कोई कर्मचारी हर किसी की निगाहें केवल चुनावी फेसलों पर टिकी थीं। इसी संबंध में कई यात्रियों से चुनाव के नतीजों पर बात करने पर पता चला कि हर कोई अपने घरों में आराम से आज का दिन टीवी देखना चाहते थे लेकिन काम या मजबूरी के कारण ट्रेन से सफर करना पड़ रहा है।

यात्री प्रवीण ने बताया कि मैं दिल्ली में कोचिंग करता हूं इसलिए मुझे मजबूरी में दिल्ली जाना पड़ रहा है लेकिन मैंने अपना मोबाइल पूरा चार्ज करने के साथ बैकअप भी रखा है। आज का दिन बहुत महत्वपूर्ण है।

ये भी देखें : राहुल गांधी ने मानी हार, कहा स्मृति बहुत प्यार से अमेठी की देखभाल करें

रेलवे के कर्मचारी दिनेश तिवारी के मुताबिक, एक तो रोजाना का काम है और दूसरी ओर यह चुनावी परिणाम आने वाला है। इस कारण से आज काफी बिजी शिड्यूल हो गया है।

ट्रेनों की हर बोगी में दिखी मोदी की लहर

रेलवे के डिब्बे अब चाहे वे जनरल क्लास के हों या स्लीपर के हों या फिर एसी के हों, इसमें बैठें अधिकांश यात्री मोदी पर चर्चा करते दिखे और कहते रहे कि एक बार फिर कायम होगा मोदी लहर।