नक्‍सलियों ने मतदान स्थल के पास रखे थे बम, सुरक्षा बलों ने किया डिफ्यूज

बिहार के गया में लोकसभा चुनाव के पहल चरण का मतदान शुरू हो चुका है। इससे पहले कल सीआरपीएफ के कोबरा जवानों ने नक्सलियों के एक बड़े हमले की साजिश को नाकाम करने में सफलता हासिल की है।

पटना : बिहार के गया में लोकसभा चुनाव के पहल चरण का मतदान शुरू हो चुका है। इससे पहले कल सीआरपीएफ के कोबरा जवानों ने नक्सलियों के एक बड़े हमले की साजिश को नाकाम करने में सफलता हासिल की है। आपको बता दें, नक्सलियों ने डुमरिया प्रखंड के छकरबंदा मध्य विद्यालय में बनाए गए बूथ के पास दो आइईडी और एक देसी बम लगाया था। सूचना मिलते ही हरकत में आये सुरक्षा बलों के बम निरोधक दस्ते ने इन बमों को डिफ्यूज किया।

यह भी पढ़ें…इस भाजपा प्रत्याशी ने किया ऐसा काम कि हो गया मामला दर्ज

एसएसपी राजीव मिश्रा ने बताया, नक्सली क्षेत्र में सुरक्षा बलों द्वारा लगातार सर्च अभियान चलाया जा रहा है, ताकि नक्सलियों के मंसूबे को नाकाम किया जा सके। इलाके में अर्धसैनिक बलों की तैनाती भी की गई है।

यह भी पढ़ें…कल सोनिया गांधी रायबरेली से करेंगी नामांकन, ये है पूरा कार्यक्रम

बिहार की चार लोकसभा, एक विधानसभा सीट के लिए कड़ी सुरक्षा के बीच मतदान शुरू

लोकसभा चुनाव 2019 के पहले चरण में बिहार की चार लोकसभा सीटों औरंगाबाद, जमुई, नवादा और गया तथा नवादा विधानसभा सीट के लिए गुरुवार सुबह सात बजे कड़ी सुरक्षा के बीच मतदान शुरू हो गया।

बिहार के अपर मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी कार्यालय ने सभी सीटों पर मतदान गुरुवार सुबह सात बजे शुरूहो गया।

बिहार में इन पांच सीटों पर शांतिपूर्ण और निष्पक्ष मतदान संपन्न कराने के लिए नक्सल प्रभावित सभी मतदान केंद्रों पर अर्द्ध सैनिक बल की तैनाती सुनिश्चत की गयी है।

प्रथम चरण वाले इन संसदीय क्षेत्रों के लिए मतदान केंद्रों की कुल संख्या 7,486 है। जिसमें औरंगाबाद में 1,965 मतदान केंद्र, गया में 1,772 मतदान केंद्र, नवादा में 1,899 मतदान केंद्र तथा जमुई में 1,850 मतदान केंद्र बनाए गये हैं।

औरंगाबाद में 7,37,821, गया में 16,98,772, नवादा में 18,92,017 एवं जमुई में 17,09,356 निर्वाचक अपने मताधिकार का प्रयोग करेंगे।

यह भी पढ़ें…संयुक्त राष्ट्र में भारत के स्थायी मिशन में ‘नवोन्मेषी विचार’ वाला भित्ति चित्र अनावृत

इन संसदीय क्षेत्रों में मतदान का समय विधानसभा क्षेत्रवार निर्धारित किया गया है जिसके तहत औरंगाबाद लोकसभा क्षेत्र के औरंगाबाद विधानसभा क्षेत्रों में मतदान का समय सुबह के 7 बजे से शाम के 6 बजे तक तथा औरंगाबाद के कुटुंबा, रफीगंज, गुरूआ, इमामगंज, एवं टेकारी विधानसभा क्षेत्रों में सुबह 7 बजे से शाम 4 बजे तक निर्धारित किया गया है।

लोकसभा क्षेत्र में गया टाऊन, बेलागंज, वजीरगंज विधानसभा क्षेत्रों में मतदान का समय सुबह 7 बजे से शाम के 6 बजे तक तथा गया के शेरघाटी, बाराचट्टी एवं बोधगया विधानसभा क्षेत्रों में सुबह 7 बजे से शाम 4 बजे तक निर्धारित किया गया है।

नवादा लोकसभा क्षेत्र के बरबीघा, नवादा, बेलागंज, वारिसलीगंज विधानसभा क्षेत्रों में मतदान का समय सुबह 7 बजे से शाम 6 बजे तथा रजौली एवं गोविंदपुर विधानसभा क्षेत्रों में सुबह 7 बजे से शाम 4 बजे तक निर्धारित किया गया है।

जमुई लोकसभा क्षेत्र के शेखपुरा विधानसभा क्षेत्र में मतदान का समय सुबह 7 बजे से शाम 6 बजे तक तथा सिकंदरा, जमुई, झाझा, चकाई एवं तारापुर विधानसभा क्षेत्रों में सुबह 7 बजे से शाम 4 बजे तक मतदान संपन्न होगा।

शांतिपूर्ण और निष्पक्ष मतदान को संपन्न कराने के लिए करीब 45,000 कार्मिकों को चुनावी ड्यूटी में लगाया गया है और करीब 350 मतदान केंद्रों पर लाइव वेबकास्टिंग की व्यवस्था होगी।

यह भी पढ़ें…महबूबा ने राजमार्ग प्रतिबंध नहीं मानने को कहा, केंद्र को फलस्तीन जैसे हालात को लेकर चेताया

मतदान को लेकर प्रथम चरण वाले इन संसदीय क्षेत्रों में अर्द्ध सैनिक बल, जिला पुलिस, होमगार्ड, सैप, बिहार सैन्य बल के जवानों को तैनात किये जाने के साथ हेलीकॉप्टर और एयर एंबुलेंस की भी व्यवस्था की गयी है।

मतदान केंद्रों पर किसी भी प्रकार की गड़बड़ी पाये जाने पर मतदाता निर्भीक होकर चुनाव आयोग के सी- विजिल एप, आयोग के ई-मेल आईडी और फोन नंबर पर अपनी शिकायत दर्ज करा सकते हैं।

प्रथम चरण के इस चुनाव में गया से पूर्व मुख्यमंत्री और हिंदुस्तानी अवाम मोर्चा :हम: सेक्युलर के प्रमुख जीतन राम मांझी, जमुई से लोजपा संसदीय बोर्ड के अध्यक्ष चिराग पासवान और औरंगाबाद में भाजपा के निवर्तमान सांसद सुशील कुमार समेत कई बड़े नेताओं के राजनीतिक भाग्य का फैसला आज इवीएम में कैद हो जाएगा।

एक नाबालिग लड़की के साथ बलात्कार के मामले में राजद के नवादा विधानसभा क्षेत्र से विधायक रहे राज बल्लभ यादव को दोषी ठहराए जाने के बाद खाली हुई इस सीट के लिए उपचुनाव कराया जा रहा है।