बंगाल में मौत की वोटिंग, TMC-BJP कार्यकर्ताओं की हत्या, भारती घोष पर हमला

लोकसभा चुनाव के छठे चरण के लिए 57 सीटों पर मतदान हो रहा है। इसमें पश्चिम बंगाल की 8 सीटें भी हैं जहां वोटिंग हो रही है। पश्चिम बंगाल में चुनाव खूनी हो गया है। यहां पर बीजेपी और टीएमसी कार्यकर्ताओं की हत्या कर दी गई है।

कोलकाता: लोकसभा चुनाव के छठे चरण के लिए 7 राज्यों की 57 सीटों पर मतदान हो रहा है। इसमें पश्चिम बंगाल की 8 सीटें भी हैं जहां वोटिंग हो रही है। पश्चिम बंगाल में चुनाव खूनी हो गया है। यहां पर बीजेपी और टीएमसी कार्यकर्ताओं की हत्या कर दी गई है।

बंगाल के झारग्राम में बीजेपी के बूथ कार्यकर्ता मिला है, मृत व्यक्ति का नाम रामेन सिंह है। बीजेपी के कार्यकर्ता के अलावा एक टीएमसी कार्यकर्ता का भी शव बरामद हुआ है, तो वहीं दो टीएमसी कार्यकर्ताओं को गोली मार दी गई है। दोनों कार्यकर्ताओं को तमलुक के अस्पताल में भर्ती किया गया है। तो वहीं बेल्दा के टीएमसी कार्यालय पर भी हमला किया गया है। टीएमसी का आरोप है कि ये हमला बीजेपी ने करवाया है। बंगाल में वोटिंग साथ-साथ हिंसा का दौर भी लगातार चरम पर है।

यह भी पढ़ें…कम्प्यूटर की सामान्य जानकारी ही देता है ‘ट्रिपल सी’ सर्टिफिकेट: हाईकोर्ट

झारग्राम में भी वोटिंग हो रही है। बीजेपी ने आरोप लगाया है कि रामेन सिंह की हत्या की गई है, उन्होंने टीएमसी के कार्यकर्ताओं को इसके लिए जिम्मेदार ठहराया है। हालांकि, स्थानीय पुलिस ने इससे इंकार किया है।

यह भी पढ़ें…न्यायिक या विभागीय प्रक्रिया के दौरान ग्रेच्युटी का हक नहीं: हाईकोर्ट

झारग्राम जिले के चुनसोले गांव में गांववालों ने देर रात को बीजेपी कार्यकर्ता का शव बरामद किया था। बीजेपी का आरोप है कि उनके कार्यकर्ता की हत्या पीट-पीट कर की गई है।

वहीं मरधारा के कांठी में टीएमसी कार्यकर्ता को मारा गया है। टीएमसी के सुधाकर मैती रविवार रात से ही गायब थे, लेकिन बाद में उनका शव मिला।

भारती घोष पर हमला

बंगाल की बहुचर्चित पूर्व आईपीएस अधिकारी और घाटल सीट से बीजेपी प्रत्याशी भारती घोष ने आरोप लगाया है कि टीएमसी कार्यकर्ताओं ने उनके साथ बदसलूकी की। काफिले पर हमले के वक्त के वीडियोज में लोग बंगाली में विरोध करते हुए ‘भारती वापस जाओ’ के नारे लगाते देखे गए। भारती की कुछ तस्वीरें भी सामने आईं। इनमें भारती रोती हुईं दिखाई दे रही हैं। मिली जानकारी के मुताबिक, कार पर हमले से पहले भारती ने कुछ पोलिंग बूथ्स पर जाने की कोशिश की थी, लेकिन कथित तौर पर उन्हें टीएमसी कार्यकर्ताओं ने वहां घुसने नहीं दिया और नारेबाजी की। ऐसा उनके साथ एक से ज्यादा पोलिंग बूथ पर हुआ। इसपर भारती भावुक हो गई थीं।

बता दें कि पूर्व आईपीएस भारती घोष किसी वक्त में बंगाल की सीएम ममता बनर्जी की खास मानी जाती थीं। लेकिन अब उनका मुकाबला टीएमसी से ही है। वहां उनके सामने टीएमसी के टिकट पर दीपक (देव) अधिकारी चुनाव लड़ रहे हैं। वह वहां के मशहूर ऐक्टर हैं।

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App