परेशानी का सबब: यूपी के इस जंक्शन पर नहीं है घड़ी, डिस्प्ले भी है खराब

हापुड़: यूपी के हापुड़ में मॉडल स्टेशन कहे जाने वाले रेलवे स्टेशन पर घड़ी नहीं लगाए जाने के कारण रेलवे यात्रियों को आये दिन परेशानी का सामना करना पड़ता है। रेलगाड़ी के आने के समय को लेकर यात्रियों और रेलवे कर्मियों के बीच अक्सर विवाद होता रहता है।

ट्रेन टाइमिंग डिस्प्ले मशीनें भी बन्द

आप तस्वीरों में भी देख सकते है कि स्टेशन पर कही भी घड़ी नहीं है और ट्रेन टाइमिंग डिस्प्ले मशीनें भी बन्द पड़ी है जिसमे ट्रैन का समय देखा जाता है, अगर देखा जाए तो प्लेटफार्म पर एक भी घड़ी मौजूद नहीं होने के कारण रेलवे के समय और यात्रियों की घड़ी के समय के अंतर की जानकारी नहीं मिल पाती है। रेल प्रबंधन ने यात्री सुविधाओं के लिए सभी बड़े स्टेशनों के प्लेटफार्मों पर बड़ी-बड़ी घड़ी लगाना अनिवार्य किया है, भारतीय रेलवे का देश भर में एक समय होता है, इसके आधार पर रेलगाड़ियों का संचालन किया जाता है।

मुरादाबाद रेल मंडल के मॉडल रेलवे स्टेशन बनाए जा रहे इस स्टेशन पर काफी वर्ष पुराने जमाने की घड़ी लगाई गई थी। कुछ समय पहले रेलवे ने पुरानी घड़ी के स्थान पर जीपीएस द्वारा संचालित होने वाली इलेक्ट्राॅनिक घड़ी लगवाई थी। और स्टेशन पर कई जगह ट्रैन टाइमिंग डिस्प्ले भी लगी हुई है जिसमे यात्री ट्रेन का समय देख सकते है लेकिन वो भी काफी समय से बन्द पड़ी है ।

रेलगाड़ी के आने के समय को लेकर होता रहता है विवाद-

भारतीय रेलवे द्वारा निर्धारित समय के अनुसार रेलगाड़ियों का संचालन किया जाता है। वर्तमान में अधिकांश यात्रियों के पास घड़ी नहीं होती है। वह मोबाइल फोन से समय देखते हैं। मोबाइल फोन और रेलवे की घड़ी के समय में कभी-कभी 10 से 15 मिनट तक का अंतर होता है। इस कारण यात्रियों की रेलगाड़ी छूट जाती है। यात्री मोबाइल फोन का समय दिखाकर स्टेशन मास्टर से विवाद करते हैं ।

क्या कहते है अधिकारी
रेलवे स्टेशन पर यात्रियों की सुविधा के लिए घड़ी लगाना अनिवार्य है। जिन स्टेशनों पर घड़ी खराब पड़ी है, उन्हें अति शीघ्र ठीक कराया जाएगा। जिन स्टेशनों पर घड़ी नहीं है, वहां पर नई घड़ी लगाने की व्यवस्था कराई जाएगी ।