Exclusive

आरबी त्रिपाठी लखनऊ। घेराबंदी पूरी थी। सबके तरकशों में आरोपों में खतरनाक तीर थे। बड़े योद्धा तो मैदान के बाहर से रणनीति बना रहे थे, लेकिन रथों पर छोटे धनुर्धर तैयार थे। ऐसा चक्रव्यूह था कि कोई ऐसा वैसा होता तो धराशायी होना तय था, लेकिन भाजपा के केशव ने अपनी रणनीति से सबको पछाड़ …

विजय शंकर पंकज लखनऊ। उत्तर प्रदेश में सरकार और संगठन की नब्ज टटोलने आए भारतीय जनता पार्टी के अध्यक्ष अमित शाह कार्यकर्ताओं की पीड़ा से रूबरू हुए परन्तु उनके जख्म पर मरहम नहीं लगा पाए। सरकार और संगठन से कार्यकर्ताओं की शिकायतें सुनने के बाद भी उनकी नाराजगी दूर करने का पार्टी प्रमुख से कोई …

लखनऊ। ‘माया महाठगनि हम जानी’। बसपा के दिगगज नेताओं की जुबां पर आजकल यह चौपाई हर 5 मिनट पर आ जाती है। कुछ शब्दों से अपनी व्यथा व्यक्त करते हैं तो कुछ मौन होकर आंख के इशारों से अपनी हामी भरते हैं। बसपा छोडऩे अथवा पार्टी से निकाले गये नेताओं का कहना है कि पिछले …

नई दिल्ली: गुजरात की तीन राज्यसभा सीटों पर आगामी 8 अगस्त को तीन सीटों के लिए हो रहे चुनावों के लिए कांग्रेस पार्टी में मचे तूफान के बीच गुजरात भाजपा में भी अंदरखाने असंतोष की सुगबुगाहट की खबरें दिल्ली पहुंच गई हैं। आलाकमान कल गुजरात में मुख्यमंत्री विजय रूपानी और पूर्व सीएम आनंदी बेन पटेल के …

राजकुमार उपाध्याय लखनऊ: पिछले साल समाजवादी परिवार के बीच चले महासंग्राम के नतीजे में अखिलेश को तोहफे में साईकिल मिली और उनके चाचा शिवपाल यादव पैदल हो गए। पर उन्होंने हार नहीं मानी। वह अब तक परिवार को एकजुट करने की कोशिश में जुटे हैं। उनके खेमे के दो सिपहसालार यशवंत सिंह और बुक्कल नवाब एमएलसी …

उमाकांत लखेड़ा सोनिया गांधी के राजनीतिक सलाहकार के तौर पर अहमद पटेल के सियासी कद ने इस बार गुजरात में चार माह बाद होने वाले चुनावी दंगल का पारा कई गुना बढ़ा दिया है। अहमदाबाद से लेकर दिल्ली तक पिछले एक सप्ताह का घमासान बयान कर रहा है कि 8 अगस्त को गुजरात में तीन …

लखनऊ। भारतीय जनता पार्टी जिस रास्‍ते पर चल पड़ी है, उससे कुछ भी चमत्‍कार हो जाए पर वह खुद के पार्टी विद डिफरेंस होने का दावा नहीं कर सकती। जोड़-तोड़ की राजनीति में उसने तो कांग्रेस को भी पीछे छोड़ दिया है। वह जातीय नेता भी तोड़ रही है, और पार्टियों में भी सेंधमारी कर …

यूपी में सत्‍तासीन योगी सरकार पंडित दीन दयाल उपाध्‍याय जन्‍मशती वर्ष मना रही है। इसकी छाप सरकार के हर कार्यक्रम में देखने को मिल रही है।

उत्तर प्रदेश के इतिहास में यह पहली बार हुआ है, जब सत्तापक्ष से नाराज विपक्ष ने एकजुटता दिखाते हुए समानान्तर सदन चलाया। इसकी चर्चा बहुत हुई। मामला वैधानिकता का भी उठा लेकिन विधानसभा अध्यक्ष की ओर से इस पर किसी तरह का गंभीर संज्ञान न लिए जाने से विवाद बढ़ नहीं पाया। विधानसभा अध्यक्ष हृदय …

संजय तिवारी लोक की चेतना उसके स्वरों में ही होती है। उसकी परम्पराओं और समस्त मान्यताओं को इन्हीं सुरों में देखा जा सकता है। लोकस्वर को ही संगीत से जोड़ कर मानस को स्पंदित करने वाली एक आवाज है मालिनी अवस्थी की। मालिनी अवस्थी की विशेषता है कि जब वह कजरी गा रही होतीं हैं, …