बिहार: छेड़छाड़ का विरोध करना छात्राओं को पड़ा भारी, हॉस्टल में घुसकर मनचलों ने की पिटाई

पटना: देश में अक्सर ऐसे मामले सामने आते हैं, जोकि देश में महिलाओं और लड़कियों की सुरक्षा को लेकर बड़े सवाल खड़े करते हैं। एक ऐसा ही मामला इस बार बिहार से सामने आया है, जहां सुपौल जिले में दबंगों ने छात्राओं द्वारा किए जा रहे छेड़छाड़ के विरोध में गर्ल्स होस्टल में घुसकर उनकी डंडों से पिटाई कर दी।

यह भी पढ़ें: कांग्रेस के आने वाले हैं अच्छे दिन, MP, छत्तीसगढ़ और राजस्थान में बन सकती है सरकार

यह मामला सुपौल जिले के त्रिवेणीगंज में स्थित कस्तूरबा गांधी आवासीय हाई स्कूल का है। यहां अक्सर कुछ मनचले छात्राओं के साथ छेड़छाड़ करते थे। जब छात्राओं ने इसका विरोध किया तो मनचलों ने लड़कियों की जमकर पिटाई कर दी। ये घटना शनिवार शाम की है, जब कुछ लड़के आवासीय स्कूल की दीवार पर अश्लील और भद्दी बातें लिख रहे थे कि छात्राओं ने इसका विरोध करना शुरू कर दिया।

यह भी पढ़ें: निराशाजनक रहा भारत का ऑयल मील, सितंबर में 73 फीसदी घटा

ऐसे में दबंगों ने न आव देखा न ताव और लड़कियों पर बरस पड़े। आलम तो ये थे कि एक घंटे तक दो दर्जन लड़के लाठी और डंडों से 3 दर्जन से भी ज्यादा छात्राओं को पीटते रहे लेकिन छात्राओं की मदद को कोई भी गांव का व्यक्ति आगे नहीं आया। ऐसे में इस घटना में 40 से ज्यादा लड़कियां बुरी तरह से घायल हो गई हैं।

फिलहाल छात्राओं इलाज स्थानीय प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में चल रहा है। वहीं, जिला शिक्षा पदाधिकारी का इस मामले में कहना है कि वो दोषियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करेंगे।