×

कांग्रेस को इन 11 उम्मीदवारों की जीत पर भरोसा !

कांग्रेस ने जिन 11 नामों की घोषणा की है। मौजूदा समय में इनमें से दो सीटें कांग्रेस के पास है जो उन्होंने पिछली लोक सभा चुनाव में जीते थे। जबकि कुशीनगर और सहारनपुर सीट ऐसी हैं जहां पर पार्टी दूसरे नंबर पर और बाकी बची 7 सीटों पर कांग्रेस तीसरे और चौथे नंबर पर थी। हालांकि 2009 के लोकसभा चुनाव में पार्टी ने बदायूं, जालौन और सहारनपुर सीट छोड़कर बाकी सीटों पर जीत दर्ज की थी। प्रियंका गांधी के सक्रिय राजनीति में उतरने के बाद कांग्रेस इस बार के लोकसभा चुनाव में सूबे की 80 लोकसभा सीटों में से करीब दो दर्जन सीटों पर खास फोकस कर रही है।

Roshni Khan

Roshni KhanBy Roshni Khan

Published on 8 March 2019 1:23 PM GMT

कांग्रेस को इन 11 उम्मीदवारों की जीत पर भरोसा !
X
कांग्रेस को इन 11 उम्मीदवारों की जीत पर भरोसा !
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

मुंबई: लोक सभा की चुनावी जंग को जीतने के लिए देश के सभी राजनैतिक दल अपनी अपनी गोटियां को सेट करने में जुटे हैं। इसी क्रम में कांग्रेस पार्टी ने उत्तर प्रदेश में ऐसे 11 उम्मीदवारों के नामों का ऐलान किया है, जिनके उपर पार्टी को जीत का ज्यादा भरोसा है। इस लिस्ट में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के अमेठी और रायबरेली से सोनिया गांधी के नामों के अलावा जितिन प्रसाद और आरपीएन सिंह जैसे कई दिग्गजों के नाम शामिल हैं।

कांग्रेस उम्मीवारों की जारी लिस्ट में

रायबरेली से सोनिया गांधी,

अमेठी से राहुल गांधी,

फैजाबाद से निर्मल खत्री,

कुशीनगर से आरपीएन सिंह,

फरुर्खाबाद से सलमान खुर्शीद,

सहारनपुर से इमरान मसूद,

उन्नाव से अनु टंडन,

धौरहरा से जितिन प्रसाद,

बदायूं से सलीम शेरवानी,

अकबरपुर से राजाराम पाल

और जालौन से ब्रजलाल खबरी लोकसभा चुनाव लड़ेंगे।

क्या है चुनावी समीकरण

कांग्रेस ने जिन 11 नामों की घोषणा की है। मौजूदा समय में इनमें से दो सीटें कांग्रेस के पास है जो उन्होंने पिछली लोक सभा चुनाव में जीते थे। जबकि कुशीनगर और सहारनपुर सीट ऐसी हैं जहां पर पार्टी दूसरे नंबर पर और बाकी बची 7 सीटों पर कांग्रेस तीसरे और चौथे नंबर पर थी। हालांकि 2009 के लोकसभा चुनाव में पार्टी ने बदायूं, जालौन और सहारनपुर सीट छोड़कर बाकी सीटों पर जीत दर्ज की थी। प्रियंका गांधी के सक्रिय राजनीति में उतरने के बाद कांग्रेस इस बार के लोकसभा चुनाव में सूबे की 80 लोकसभा सीटों में से करीब दो दर्जन सीटों पर खास फोकस कर रही है।

ये भी देखें:तमिलनाडु के CM ने PM से ‘अभिनंदन’ को परमवीर चक्र से सम्मानित करने की मांग की

2019 के लोकसभा चुनाव में कांग्रेस ने सपा-बसपा गठबंधन के सामने रायबरेली और अमेठी के अलावा जिन 13 सीटों की डिमांड रखी थी। माना जाता है कि उनमें से कुशीनगर, धौरहरा, सहारनपुर, उन्नाव, अकबरपुर और फरुर्खाबाद सीट शामिल थीं। इनमें से छह सीटों में से तीन सीटें बसपा के खाते में हैं और तीन सीट सपा के खाते में हैं।

कांग्रेस का फोकस

प्रियंका के आने के बाद जिन दो दर्जन सीटों पर कांग्रेस फोकस कर रही है कांग्रेस द्वारा जारी लिस्ट में ये 9 सीटें शामिल हैं। यहां कांग्रेस पूरी प्लानिंग के साथ चुनावी मैदान में उतर रही है।

बसपा बनी चुनौती

बसपा ने पहले ही सहारनपुर सीट से हाजी फजलुर्रहमान को उतारकर कांग्रेस के इमरान मसूद का सियासी समीकरण को बिगाड़ दिया है। फजलुर्रहमान सहारनपुर के मेयर के चुनाव में महज 9 सौ मतों से बीजेपी उम्मीदवार से हार गए थे। बसपा उम्मीदवार की इस हार के लिए सहारनपुर के लोग इमरान मसूद को जिम्मेदार मानते हैं। यही वजह है कि इमरान मसूद जगह-जगह अपनी जनसभाओं में सफाई दे रहे हैं।

आरपीएन और जितिन से उम्मीदें

पिछले चुनाव में कुशीनगर लोकसभा सीट पर दूसरे नंबर पर रहे आरपीएन सिंह पर पार्टी ने फिर दांव लगाया है। प्रियंका गांधी को पूर्वांचल की कमान सौंपे जाने के बाद, माना जा रहा है कि आरपीएन बीजेपी को कड़ी टक्कर देंगे। जबकि धौरहरा सीट से कांग्रेस ने जितिन प्रसाद पर एक बार फिर भरोसा जताया है।

ये भी देखें:वाराणसी: थाने पहुंची पीएम मोदी की शिकायत, जानिए क्या है ये पूरा मामला

Roshni Khan

Roshni Khan

Next Story