Top

शराबी बाप ने 300 रुपये में किया बेटी की का सौदा, पुलिस वाले भी गैंगरेप में शामिल

Rishi

RishiBy Rishi

Published on 22 Jan 2018 9:06 AM GMT

शराबी बाप ने 300 रुपये में किया बेटी की का सौदा, पुलिस वाले भी गैंगरेप में शामिल
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

नई दिल्ली : अभीतक दक्षिण भारत से बच्चों के साथ रेप या सामूहिक दुष्कर्म की खबरे आम नहीं थी। लेकिन 17 जनवरी को केरल के अलाप्पुझा में एक नाबालिग बच्ची के साथ हुए गैंगरेप से राज्य में हडकंप मच गया है। इस मामले में दो पुलिसवालों के साथ छह अन्य आरोपी हैं। पुलिस की स्पेशल टीम ने सभी आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है। पुलिसकर्मियों को सस्पेंड किया जा चुका है। जांच में पता चला कि पीड़िता के शराबी पिता ने ही सिर्फ 3 सौ रुपए के लिए अपनी बच्ची को इन दरिंदों को सौंप दिया था।

ये भी देखें : SHOCKING: बाप ने बेच डाली बड़ी बेटी की इज्जत, कर दिया छोटी का सौदा

रिपोर्ट्स के मुताबिक, अलाप्पुझा के उप अधीक्षक पीवी बेबी ने अपनी जांच में पाया कि नाबालिग के पिता ने मुख्यारोपी अथीरा को 3 सौ रूपए लेकर अपनी बेटी सौंप दी थी। इसके बाद उसने शराब खरीदी। पीड़िता के पिता को अच्छी तरह से पता था कि अथीरा उसकी बच्ची के साथ बुरा काम करने वाला है। लेकिन शराब के लिए वो अपने बाप होने के फर्ज को भी भुला बैठा।

जांच अधिकारी पीवी बेबी ने इस मामले का खुलासा किया। तो जहां बाप का कुकर्म सामने आया वहीं जनता के रखवाले कहे जाने वाले पुलिसकर्मी भी बेनकाब हो गए।

बच्ची के साथ सामूहिक दुष्कर्म में दो पुलिसवाले भी शामिल थे। इस मामले में नारकोटिक्स विभाग के नेल्सन थॉमस, एसआई केजी लाइजू और जिनुमन व प्रिंस आरोपी हैं।

Rishi

Rishi

आशीष शर्मा ऋषि वेब और न्यूज चैनल के मंझे हुए पत्रकार हैं। आशीष को 13 साल का अनुभव है। ऋषि ने टोटल टीवी से अपनी पत्रकारीय पारी की शुरुआत की। इसके बाद वे साधना टीवी, टीवी 100 जैसे टीवी संस्थानों में रहे। इसके बाद वे न्यूज़ पोर्टल पर्दाफाश, द न्यूज़ में स्टेट हेड के पद पर कार्यरत थे। निर्मल बाबा, राधे मां और गोपाल कांडा पर की गई इनकी स्टोरीज ने काफी चर्चा बटोरी। यूपी में बसपा सरकार के दौरान हुए पैकफेड, ओटी घोटाला को ब्रेक कर चुके हैं। अफ़्रीकी खूनी हीरों से जुडी बड़ी खबर भी आम आदमी के सामने लाए हैं। यूपी की जेलों में चलने वाले माफिया गिरोहों पर की गयी उनकी ख़बर को काफी सराहा गया। कापी एडिटिंग और रिपोर्टिंग में दक्ष ऋषि अपनी विशेष शैली के लिए जाने जाते हैं।

Next Story