×

लालू का हमला! ये असल में गोडसे और हिटलर का बड़का वाला पुजारी है...बूझो कौन

Rishi

RishiBy Rishi

Published on 13 Oct 2017 8:59 AM GMT

लालू का हमला! ये असल में गोडसे और हिटलर का बड़का वाला पुजारी है...बूझो कौन
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

पटना : राष्ट्रीय जनता दल (राजद) के अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव ने इशारों ही इशारों में बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को 'फर्जी समाजवादी' बताते हुए निशाना साधा है। उन्होंने कहा कि असली समाजवादी सांप्रदायिक ताकतों से न मिलता है और न डरता है।

पूर्व केंद्रीय मंत्री लालू ने नीतीश कुमार का नाम लिखे बिना समाजवादियों की व्याख्या करते हुए ट्विटर पर लिखा, "वह फर्जी समाजवादी है। असली समाजवादी सांप्रदायिक ताकतों से न मिलता है, न डरता है। ये असल में गोडसे और हिटलर का बड़का वाला पुजारी है।"

ये भी देखें: CBI के सामने पेश हुए लालू, कहा, ‘सच और गुलाब घिरे रहते हैं कांटों से’



ये भी देखें: संकट में लालू परिवार : राबड़ी और हेमा की 3 संपत्तियां जब्त

उल्लेखनीय है कि लालू ने यह ट्वीट पूर्व उपमुख्यमंत्री तेजस्वी प्रसाद यादव के एक ट्वीट को री-ट्वीट करते हुए किया है। तेजस्वी ने अपने ट्वीट में कहा था कि समाजवादी नेता डॉ. राम मनोहर लोहिया की पुण्यतिथि पर नीतीश ने राजद के समाजवादी कार्यकर्ताओं को अपनी पुलिस से पिटवाकर लहुलूहान करवाया। नीतीश समाजवादी के नाम पर बहुत बड़ा कलंक है।

गौरतलब है कि गुरुवार को सृजन घोटाले के विरोध में राजद कार्यकर्ताओं द्वारा निकाले गए राजभवन मार्च के दौरान पुलिस ने लाठीचार्ज किया था। तेजस्वी ने आरोप लगाया था कि मुख्यमंत्री के इशारे पर राजद कार्यकर्ताओं पर लाठियां बरसाई गई हैं।

उन्होंने एक बयान जारी कर कहा था कि नीतीश और सुशील मोदी के पद पर बने रहते सृजन घोटाले की निष्पक्ष जांच नहीं हो सकती है।

Rishi

Rishi

आशीष शर्मा ऋषि वेब और न्यूज चैनल के मंझे हुए पत्रकार हैं। आशीष को 13 साल का अनुभव है। ऋषि ने टोटल टीवी से अपनी पत्रकारीय पारी की शुरुआत की। इसके बाद वे साधना टीवी, टीवी 100 जैसे टीवी संस्थानों में रहे। इसके बाद वे न्यूज़ पोर्टल पर्दाफाश, द न्यूज़ में स्टेट हेड के पद पर कार्यरत थे। निर्मल बाबा, राधे मां और गोपाल कांडा पर की गई इनकी स्टोरीज ने काफी चर्चा बटोरी। यूपी में बसपा सरकार के दौरान हुए पैकफेड, ओटी घोटाला को ब्रेक कर चुके हैं। अफ़्रीकी खूनी हीरों से जुडी बड़ी खबर भी आम आदमी के सामने लाए हैं। यूपी की जेलों में चलने वाले माफिया गिरोहों पर की गयी उनकी ख़बर को काफी सराहा गया। कापी एडिटिंग और रिपोर्टिंग में दक्ष ऋषि अपनी विशेष शैली के लिए जाने जाते हैं।

Next Story