रूस ने POK में सैन्य अभ्यास से किया मना, पाक मीडिया की खबरों को बताया गलत

Published by Published: September 24, 2016 | 12:02 am
मीडिया

नई दिल्लीः रूस ने पाकिस्तानी मीडिया में आ रही उन खबरों को गलत बताया है, जिसमें कहा गया था कि रूसी सेना की टुकड़ी पाक अधिकृत कश्मीर में सैन्य अभ्यास करने वाली है। रूस ने साफ किया है कि ये युद्धाभ्यास पाकिस्तान के अशांत खैबर पख्तुनख्वा इलाके में किया जा रहा है। इस बीच, व्लादीवोस्तक में रूस की सेना भारतीय सेना की टुकड़ी के साथ भी युद्धाभ्यास कर रही है।

खास बात ये भी है कि पीओके में सैन्य अभ्यास से इनकार करने के साथ ही रूस ने पाकिस्तान के उस दावे को भी गलत बताया है, जिसमें वह अपने कब्जे वाले कश्मीर को आजाद कश्मीर कहता है। रूस ने अपने बयान में इस इलाके को ‘तथाकथित आजाद कश्मीर’ बताया है।

पाक मीडिया का झूठ आया सामने
बता दें कि पाकिस्तानी मीडिया लगातार खबरें दे रहा था कि रूसी और उनके देश की सेना पीओके में युद्धाभ्यास करने वाली हैं। रूस ने साफ कर दिया है कि पीओके में न किया जा रहा है और न कभी किया जाएगा। इसके अलावा गिलगित और बाल्टीस्तान जैसे संवेदनशील इलाकों में भी युद्धाभ्यास से रूस ने साफ मना कर दिया है। भारत में रूसी दूतावास ने कहा कि अभ्यास चेरात में हो रहा है, न की पीओके के रत्तू में।

भारत की कूटनीति आई काम
रूस और पाकिस्तान के बीच 24 सितंबर से 7 अक्टूबर तक युद्धाभ्यास होने वाला है। रूस अब तक पीओके में युद्धाभ्यास की खबरों पर चुप्पी साधे हुए था। भारतीय विदेश मंत्रालय ने इस मामले में कूटनीतिक स्तर को आगे बढ़ाते हुए रूसी नेताओं से बात की थी। भारत ने साफ कर दिया था कि पीओके, जो कि भारत का हिस्सा है, वहां युद्धाभ्यास होने से पाकिस्तान को इसे अपना इलाका बताने में और सुविधा होगी। रूस ने इस पर सकारात्मक रुख अपनाया है।

भारत के साथ भी युद्धाभ्यास
उधर, रूसी सेना व्लादीवोस्तक में इंद्र-2016 नाम से भारत के साथ भी युद्धाभ्यास कर रही है। दोनों देश साल 2003 से ही हर साल युद्धाभ्यास करते हैं। इस बार का युद्धाभ्यास पठारी और जंगली इलाकों में होगा। युद्धाभ्यास में भारतीय सेना की कुमाऊं रेजीमेंट के 250 जवान हिस्सा ले रहे हैं। रूस के साथ ये युद्धाभ्यास गुरुवार से शुरू हो चुका है और दो अक्टूबर तक चलेगा।