‘जय श्री राम-हो गया काम’! अब जानें महाराष्ट्र में किसकी बनेगी सरकार

महाराष्ट्र में सरकार बनने का रास्ता साफ हो गया है। मिली जानकारी के मुताबिक, काफी लंबी कवायद के बाद शिवसेना, कांग्रेस और एनसीपी के बीच सरकार बनाने को लेकर समझौता हो गया है।

मुंबई: महाराष्ट्र में सरकार बनने का रास्ता साफ हो गया है। मिली जानकारी के मुताबिक, काफी लंबी कवायद के बाद शिवसेना, कांग्रेस और एनसीपी के बीच सरकार बनाने को लेकर समझौता हो गया है। इस समझौते के अंदर शिवसेना को पूरे कार्यकाल के लिए मुख्यमंत्री पद मिलेगा। कांग्रेस और एनसीपी के पार्टियों में एक-एक उपमुख्यमंत्री बनाया जाएगा।

ये भी देखें:ट्रेन का सफर महंगा! अब आपको जेब करनी होगी ढीली, रेलवे ने उठाया ये कदम

मिली जानकारी के मुताबिक, सरकार बनाने को लेकर महाराष्ट्र में शिवसेना, कांग्रेस और एनसीपी के बीच लगातार बातचीत चल रही है। तीनों दलों के बीच कॉमन मिनिमम प्रोग्राम (सीएमपी) को लेकर सहमति बन गई है। इस समझौते के अंदर शिवसेना को पूरे कार्यकाल के लिए मुख्यमंत्री पद मिलेगा, जबकि राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (एनसीपी) को 14 और कांग्रेस को 12 मंत्रीपद मिलेगा। शिवसेना खुद 14 मंत्री पद भी लेगी।

सावरकर को भारत रत्न दिए जाने की मांग

सूत्रों के अनुसार, इस हफ्ते कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी और एनसीपी नेता शरद पवार के बीच मुलाकात हो सकती है।

वैसे तो तीनों दलों के बीच हुए समझौते में हिंदुत्व के मुद्दा को शामिल नहीं किया गया है। सीएमपी पर किसानों और युवाओं से जुड़े मामलों पर फोकस करने पर भी सहमति बनी है। कुछ मामले ऐसे हैं जिन पर आपसी रजामंदी नहीं बन सकी है।

ये भी देखें:नहीं समझे म्यूजिक डायरेक्टर शेखर, अंडे का फंडा हो गए सोशल मीडिया पर वायरल

इस समझौते में शिवसेना ने विनायक दामोदर सावरकर को भारत रत्न दिए जाने की मांग की है तो वहीं कांग्रेस-एनसीपी मुसलमानों को 5 फीसदी आरक्षण देने की मांग कर रही है। ऐसा माना जा रहा है कि इन दोनों मुद्दों पर विवाद बना हआ है।

‘जय श्री राम, हो गया काम’

महाराष्ट्र में फ़िलहाल इस समय राष्ट्रपति शासन लगा है, लेकिन सरकार बनाने के लिए जोर अभी भी लगाया जा रहा है। कांग्रेस-एनसीपी-शिवसेना की बैठक के इतर गुरुवार को बीजेपी की कोर कमेटी की बैठक हुई।

इस बैठक में हिस्सा लेने के बाद भाजपा नेता आशीष शेल्लार जब बाहर आए तो उन्होंने मीडिया से सिर्फ इतना कहा, ‘…जय श्री राम, हो गया काम’।

ये भी देखें:अभी-अभी आई बुरी खबर! नहीं रहे ये महान एक्टिविस्ट, शोक में डूबा भोपाल

भाजपा कोर कमेटी की बैठक में पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस के अलावा प्रदेश अध्यक्ष चंद्रकांत पाटिल, पंकजा मुंडे, गिरीश महाजन और आशीष शेल्लार समेत पार्टी के कई नेता शामिल रहे। बहुत से नेता बैठक खत्म होने के बाद खुश नजर आए, लेकिन आशीष शेल्लार के इस बयान ने सुर्खियां बटोर लीं।

अब ऐसे में आशीष शेल्लार के इस बयान से कई कयास लगाए जा रहे हैं कि क्या भाजपा को जिस जादुई नंबर की जरूरत थी, वह मिल गया है? क्या भाजपा सरकार बनाने की ओर कदम बढ़ा रही है?