डोभाल बोले : ब्रिक्स सुरक्षा बैठक के परिणाम का प्रभाव शिखर बैठक पर होगा

बीजिंग : चीन की राजधानी बीजिंग में शुक्रवार से ब्रिक्स सुरक्षा बैठक शुरू हो गई है। भारत के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल ने कहा कि इस बैठक में जिन ‘महत्वपूर्ण’ मुद्दों पर चर्चा होगी और उसके जो परिणाम निकलेंगे, उसका असर सितंबर में होने वाले मुख्य सम्मेलन पर पड़ेगा।

डोभाल ने सुरक्षा मुद्दों पर उच्च प्रतिनिधियों की 7वीं ब्रिक्स बैठक में कहा, “यह अच्छी बात है कि हम उन महत्वपूर्ण मुद्दों पर चर्चा कर रहे हैं, जिनका असर अगले शिखर सम्मेलन पर पड़ेगा।”

ये भी देखें: चीन आने वाले वक्त में भारत के लिए खतरा होगा : सेना उप प्रमुख 

उन्होंने कहा, “आज की बैठक के परिणाम सितंबर में जियामेन में होने वाली ब्रिक्स शिखर बैठकों में योगदान करेंगे।”

तीन दिवसीय ब्रिक्स शिखर सम्मेलन जियामेन में तीन सितंबर को आयोजित होगी। डोकलाम में भारत तथा चीन के बीच गतिरोध से पांच देशों के शिखर सम्मेलन में द्विपक्षीय तनाव की चिंता बढ़ गई है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग की ब्रिक्स शिखर सम्मेलन में मुलाकात की संभावना है।

डोभाल ने गुरुवार को चीन के शीर्ष राजनयिक यांग जीची से मुलाकात कर दोनों देशों के बीच की ‘प्रमुख समस्याओं’ पर चर्चा की।

ये भी देखें: ‘डोभाल मुख्य षड्यंत्रकारी, सीमा विवाद नहीं सुलझा सकते’ : चीनी मीडिया 

डोभाल ने कहा, “ब्रिक्स को आतंकवाद के साथ ही क्षेत्रीय और वैश्विक महत्व के रणनीतिक मुद्दों का मुकाबला करने में नेतृत्व दिखाने की जरूरत है।”

उन्होंने कहा, “यह स्वाभाविक है कि हम सुरक्षा मुद्दों पर चर्चा करने के लिए एक ब्रिक्स मंच आयोजित करें, जिसका वैश्विक शांति और स्थिरता में प्रभाव पड़ता हो।”

ये भी देखें:चीन के विदेश मंत्री बोले- सीमा पर विवाद के लिए भारत जिम्मेदार, खाली करो डोकलाम 

गौरतलब है कि भारतीय सेना ने जून में चीनी सैनिकों द्वारा इस इलाके में सड़क निर्माण पर रोक लगा दी थी, जिसके कारण दोनों देशों के सैनिकों के बीच ठन गई थी। डोकलाम में दोनों देशों के सैनिकों के बीच गतिरोध का यह दूसरा महीना है।