India

वैश्विक महामारी कोरोना वायरस के चलते पूरे देश में चल रहे लॉकडाउन के बीच एक आईएएस ने अजीबोगरीब सुझाव दिया है। जिसकी चर्चा अब हर जगह हो रही है।

कोरोना वायरस के मद्देनजर लागू लॉकडाउन से भारत की अर्थ व्यवस्था चरमरा गयी है। ऐसे में नौकरीपेशा लोगों को तगड़ा झटका लगा है। एक सर्वे के मुताबिक भारत में करीब 80 हजार लोगों की नौकरी लॉकडाउन के कारण खतरे में हैं।

देश और दुनिया कोरोना महामारी का मार झेल रही है, लेकिन आतंकी और पाकिस्तान अपनी नापाक हरकतों से बाज नहीं आ रहे हैं। जम्मू कश्मीर के अनंतनाग जिले में मंगलवार को आतंकियों ने सुरक्षा बलों के गश्ती दल पर ग्रेनेड से हमला कर दिया।

एसिम्टोमैटिक कोरोना का मरीज कोविड-19 के आम मरीज से ज़्यादा खतरनाक होता है क्योंकि कम से कम उनमें कोरोना के लक्षण नजर आते हैं। दुनियाभर में कोरोना के जो मामले अब तक सामने आए हैं वो सिम्टोमैटिक केसेज थे यानी वो कोरोना से संक्रमित भी थे और उनमें इसके लक्षण भी साफ तौर पर दिखाई दे रहे थे इसलिए उनको पहचानना भी आसान था।

सीएम शिवराज सिंह चौहान ने आधिकारिक सरकारी ट्विटर हैंडल पर मंगलवार को ट्वीट किया कि कोरोना वायरस के योद्धाओं को प्रणाम! भारत सरकार द्वारा कोविड-19 से लड़ने वाले सभी स्वास्थ्य कर्मियों का 50 लाख रुपये का बीमा किया गया।

उपराष्ट्रपति ने अंतरराष्ट्रीय समुदाय से आग्रह किया कि वे भविष्य में ऐसी किसी भी आपदा से पहले इस अनुभव से सही सीख ले और संस्थागत, इंफ्रास्ट्रक्चर संबंधी, सूचनाओं के आदान प्रदान संबंधी,  अंतरराष्ट्रीय सहयोग और निजी स्तर पर प्रयास संबंधी, सभी कमियों को दूर करे।

बॉलीवुड के सुपर स्टार अमिताभ बच्चन की ट्विटर पर एक पोस्ट को रिट्वीट करके फर्जी खबर साझा करने के लिए आलोचना की गई है। दरअसल, बिग बी ने रविवार को एक ट्वीट में दुनिया के नक्शे पर भारत की गलत तस्वीर दिखा दी।

महाराष्ट्र के गृह मंत्री अनिल देशमुख ने बताया कि बंगले पर तैनात पुलिसकर्मियों को वहां से हटा दिया गया है और एहतियातन उन्हें अलग रखा गया है। उन्होंने कहा कि हो सकता है कि इन पुलिसकर्मियों ने भी उस चाय की दुकान से चाय पी हो, इसलिए हम उनकी और वहां तैनात अन्य कर्मचारियों की जांच करेंगे।

देश में चल रहे लॉकडाउन के समय झारखंड के से एक हैरान कर देने वाली तस्वीर सामने आई है। यहां सैंकड़ों की संख्या में लोग सरकार के नियमों का उल्लंघन कर रहे।

सरकारी अधिकारियों का कहना है कि कोरोना वायरस के तेजी से फैलने का खतरा बहुत ज्यादा है। हालांकि, देश के 10 कोरोना हॉटस्पॉट में शामिल राजस्थान के भीलवाड़ा में वायरस को रोकने में कामयाबी पा ली गई है। विश्लेषकों का कहना है कि प्रशासन की तेजी ही कोरोना वायरस को फैलने से रोक सकती है।