India

सुप्रीम कोर्ट में अनुच्छेद 370 को लेकर दायर याचिकाओं पर सोमवार को सुनवाई हुई। याचिका में प्रदेश में लगी पाबंदियों का मसला भी उठाया गया था और कहा गया था राज्य में टेलीफोन, मोबाइल जैसी जरूरी सेवाएं बाधित हैं।

नया मोटर व्हीकल एक्ट लागू हो गया है और इसके तहत नियम तोड़ने वालों पर भारी जुर्माने का प्रावधान किया गया है। भारी जुर्माने का भुगतान करने को लेकर आम जनता परेशान है। इसी बीच हैदराबाद पुलिस ने नई पहल की है।

भारत की जलसीमा में चीनी युद्धपोत और एक पनडुब्बी को देखा गया है। भारतीय नौसेना के सर्विलांस एयरक्राफ्ट ने पेट्रोलिंग के दौरान यह तस्वीरें लीं। माना जा रहा है कि चीन की यह हरकत कोई गहरी साजिश हो सकती है।

इस मामले में पुलिस का कहना है कि लड़की ने कई नियमों का उल्लंघन किया था। स्कूटी चलाते वक्त लड़की फोन पर बात कर रही थी। उसकी स्कूटी का नंबर प्लेट भी टूटा हुआ था। हेलमेट के स्ट्रैप भी खुले हुए थे। इस वजह से पुलिस ने उसे चालान कटवाने के लिए रोका था।

केंद्र की मोदी सरकार ने बताया कि राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री और नेशनल कांफ्रेंस के अध्यक्ष फारूक अब्दुल्ला को हिरासत में रखा गया है। सरकार ने बताया कि अब्दुल्ला को पब्लिक सेफ्टी एक्ट के तहत हिरासत में रखा गया है।

अपने पत्र की शुरुआत में कार्ति ने लिखा है, 'प्रिय अप्पा, आज आप 74 साल के हो रहे हैं और कोई 56 इंच आपको रोक नहीं सकता। आप बेशक कभी भव्य समारोह के पक्षधर नहीं रहे हैं लेकिन आज देश में हर छोटी चीज का उत्सव मनाया जा रहा है।

सीजेएम ग्रामीण कोर्ट जोधपुर से बरी हुए बॉलीवुड कलाकारों सैफ अली खान, तब्बू, सोनाली बेंद्रे, नीलम कोठारी और एक स्थानीय निवासी दुष्यंत के खिलाफ सरकारी अपील को राजस्थान हाईकोर्ट ने सोमवार को स्वीकार कर लिया है। 

जम्मू-कश्मीर के विशेषाधिकार को खत्म किए जाने के बाद से ही पाकिस्तान अपनी नापाक हरकतों से बाज नहीं आ रहा है। पाकिस्तान ने एक बार फिर से सीजफायर का उल्लंघन करते हुए गोलीबारी की है।

जब से जम्मू-कश्मीर से आर्टिकल 370 हटा है, तब से पाकिस्तान काफी बौखलाया हुआ है। ऐसे में पाकिस्तानी प्रधानमंत्री इमरान खान भारत को परमाणु और आतंकी हमले की धमकी दे रहे हैं।

भारत के हवाई ताकत में बढ़ोत्तरी करने के उद्देश्य से उसे बिल्डिंग ब्लास्टर स्पाइस-2000 बम मिलने शुरु हो गए हैं। ये उन बमों का उन्नत संस्करण हैं जिन्हें पाकिस्तान के बालाकोट में जैश-ए-मोहम्मद के आंतकी ठिकानों को नष्ट करने के लिए इस्तेमाल किया गया था।